डायन बताकर महिला को ज़िंदा जलाया,सिमडेगा की ख़ौफ़नाक वारदात से राज्यपाल नाराज़

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

डायन बताकर जला दिया

CRIME STORY IN HINDI : एक महिला को गांव के लोगों ने डायन बताकर ज़िंदा आग के हवाले करने का एक अजीबो ग़रीब मामला सामने आया है। ये घटना झारखंड के सिमडेगा ज़िले से सामने आई है। आग में बुरी तरह झुलसने के बाद महिला को अस्पताल में दाखिल करवाया गया जहां उसका इलाज चल रहा है।

पता चला है कि सिमडेगा के ठेठइटांगर थाना इलाक़े में कुड़पानी गांव में एक महिला के साथ ये घिनौनी वारदात हुई। यहां गांव के लोगों ने बर्बराता की इंतेहा ही कर डाली जब एक महिला को पहले गांव के लोगों ने जमकर पीटा, उसके बाल काट दिए और फिर उसे जलती आग में झोंक दिया।

ADVERTISEMENT

गांव के पांच दबंगों की करतूत

JHARKHAND CRIME NEWS IN HINDI : झुलसी हुई महिला ने अस्पताल में इलाज के दौरान जब अपनी आप बीती सुनाई तो पुलिस दंग रह गई। अपने साथ हुई ज़्यादती बताने के बाद महिला ने उन पांच लोगों के नाम भी बताए जिन्होंने गांव वालों को डरा धमकाकर इस घटना को अंजाम दिया था।

ADVERTISEMENT

महिला ने पुलिस को बताया कि गांव में होने वाली तमाम अनहोनियों के लिए गांव के दबंग लोगों ने उसे ही कसूरवार ठहराना और भला बुरा कहना शुरू कर दिया था। पिछले काफी समय से ये सिलसिला चल रहा था कि अचानक एक रोज गांव में एक शख्स की बीमारी से मौत हो गई। तब गांव के उन दबंगों ने महिला को घर से घसीटकर पहले उसकी जमकर पिटाई कर दी और फिर उसके बाल काटकर उसे आग के हवाले कर दिया।

ADVERTISEMENT

राज्यपाल को आया ग़ुस्सा

CRIME AGAINST WOMEN: पुलिस ने इस सिलसिले में गांव के उन पांच लोगों को गिरफ़्तार कर लिया है। मिली जानकारी के मुताबिक बीती चार जनवरी को भी इसी सिमडेगा ज़िले के कोलेबिरा थाना इलाक़े में एक 34 साल के युवक संजू प्रधान को भी भीड़ ने ज़िंदा जला दिया था।

लेकिन इस घटना की तपिश इतनी तेज़ थी कि झारखंड के राज्यपाल रमेश बैंस ने खुद संज्ञान लेतेत हुए झारखंड के पुलिस महानिदेशक नीरज सिन्हा को तलब किया और मौके पर मौजूद पुलिस अफसरों और कर्मियों को फौरन निलंबित करने के आदेश दिए। पुलिस अब तक इस मामले में आठ लोगों को गिरफ़्तार कर चुकी है।

हर साल होती हैं 400 वारदात

POLICE IN ACTION NEWS: झारखंड का चौंकाने वाला अनोखा सच ये है कि वहां हर साल इस तरह की घटनाएं बहुत होती हैं। हर साल क़रीब 400 वारदात दर्ज होती हैं जिममें किसी महिला को डायन बताकर उसे आग के हवाले करने जैसी घिनौनी वारदात शामिल होती है।

पुलिस के ही आंकड़े गवाह है कि झारखंड में साल 2015 से 2020 के बीच पांच सालों में 207 लोगों की हत्या डायन बताकर कर दी गई जबकि इस दौरान क़रीब 4560 ऐसे मामले दर्ज किए गए जिनमें डायन बताकर महिला को आग के हवाले किया गया। अब पुलिस के आला अधिकारियों ने एक टीम का गठन किया है जो राज्य में ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए लोगों को शिक्षित करने और उन्हें ऐसी घटनाओं से दूर रखने के उपाय करेगी।

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT