E-शेप वाले इस डिवाइस में अनोखे तरीके से छुपाए थे 85 किलो सोना, कीमत 42 करोड़, 4 विदेशियों से ऐसे खुला राज

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Gold Smuggling News : इस E-शेप में दिख रहे इलेक्ट्रॉनिक सामान आखिर है क्या? इसे देखकर क्या लग रहा है। जिसे डीआरआई ने बरामद किया है. इसकी कीमत 42 करोड़ बताई जा रही है. दरअसल, ई-शेप में दिखने वाले ये गोल्ड है. जिसकी स्मलिंग की जा रही थी.

स्मलिंग भी इंटरनेशनल स्तर पर हो रही थी. बताया जा रहा है कि ताइवान और साउथ कोरिया के जरिए हांगकांग के रास्ते एयर कार्गो के जरिए इसे ले जाने की तैयारी थी. इसी दौरान डीआरआई को एक खुफिया जानकारी मिली.

जिसके बाद मशीनरी पार्ट्स की शक्ल में बनाकर तस्करी किए जा रहे इस गोल्ड को बरामद कर लिया गया. स्मगलिंग के इस मामले का खुलासा दिल्ली एयरपोर्ट (Delhi Airport) के एयर कार्गो कांप्लेक्स (Air Cargo Complex) में हुआ है. शुरुआती जांच में पता चला है कि ट्रांसफार्मर के साथ लगी इलेक्ट्रो प्लेटिंग मशीन में E-शेप में छुपाकर गोल्ड को रखा गया था.

ADVERTISEMENT

एक मशीन में एक किलो सोना था

डीआरआई के दावे के अनुसार, जिसमें ई-शेप वाले उपकरण में सोने की स्मगलिंग हो रही थी उसके एक मशीन में करीब 1 किलो या उससे ज्यादा ही सोना मिला है. इस तरह कुल 80 मशीनें मिलीं हैं. जिनमें से कुल करीब 85 किलो सोना बरामद किया गया है. जिसकी कुल कीमत करीब 42 करोड़ रुपये बताई जा रही है.

ADVERTISEMENT

तस्करी में 4 देशों के नागरिक शामिल

ADVERTISEMENT

सोने की तस्करी करने वाला गैंग दिल्ली और गुरुग्राम में ठिकाना बनाए हुए थे. ये बकायदा फार्म हाउस में रहते थे. यहां पर ही सोना ट्रांसफार्मर से अलग कर आगे सप्लाई किया जाता था. स्मगलिंग के इस काले धंधे में शामिल आरोपियों में से 2 साउथ कोरिया, 1 चीन और एक ताइवान का नागरिक है. इन चारों को गिरफ्तार कर अब जांच एजेंसी गोल्ड स्मगलिंग के पूरे इंटरनेशनल रैकेट का पता लगा रही है.

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT