गुरुग्राम में विदेशियों से ठगी करने वाले फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोंड़, सात गिरफ्तार

ADVERTISEMENT

जांच में जुटी पुलिस
जांच में जुटी पुलिस
social share
google news

Gurugram Fake Call Centre: गुरुग्राम साइबर अपराध पुलिस ने यहां एक और फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़ किया और इस सिलसिले में सात लोगों को गिरफ्तार किया। पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि आरोपियों को बृहस्पतिवार देर शाम गुरुग्राम के सेक्टर-67 में किराए के एक मकान से उस वक्त पकड़ा गया जब वे लोगों को कॉल कर रहे थे और अपने कंप्यूटर पर काम कर रहे थे।

उन्होंने बताया कि जालसाजों ने खुद को क्रिप्टो मुद्रा कंपनियों के ग्राहक सेवा प्रतिनिधि बताकर विदेशियों, ‘खासकर अमेरिकी नागरिकों को’ धोखा दिया था और पीड़ितों को पंजीकृत किया था। उन्होंने लोगों की समस्याओं को सुलझाने के लिए उपहार कार्ड के रूप में 250-300 अमरीकी डॉलर का शुल्क लिया। पुलिस ने मुख्य संचालक मोहम्मद जफर इकबाल और उसके कर्मचारियों (नूर हुसैन, सुमित, अभिषेक मिश्रा, शेख इब्राहिम, अभिषेक गुप्ता और मोहम्मद आदिल) समेत आरोपियों के कब्जे से पांच लैपटॉप, सात फोन और एक क्रिप्टो करेंसी वॉलेट बरामद किया है।

गुरुग्राम के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (एसीपी) विपिन अहलावत ने बताया, “आरोपी दूरसंचार विभाग से प्राप्त किसी भी वैध ओएसपी लाइसेंस या अपने काम से संबंधित किसी अन्य समझौते यानि एमओयू को नहीं दिखा सके। किराए के फ्लैट में पिछले एक माह से कॉल सेंटर संचालित किया जा रहा था।” एसीपी ने बताया कि आरोपियों पर भारतीय दंड संहिता की धारा 420 (धोखाधड़ी) और 120-बी (आपराधिक साजिश) और सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया।

ADVERTISEMENT

 

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT