स्विट्ज़रलैंड की गर्लफ्रेंड को बोला आओ काला जादू दिखाएं! फिर बांधे हाथ पैर! बॉयफ्रेंड ने विदेशी गर्लफ्रेंड को दी डरावनी मौत!

ADVERTISEMENT

जांच में जुटी पुलिस
जांच में जुटी पुलिस
social share
google news

Delhi Switzerland Murder News: दरअसल, यह पूरा मामला दिल्ली के तिलक नगर का है. यहां एक विदेशी महिला की सड़ी हुई लाश मिली है. यह वाक्या ऑनलाइन डेटिंग का है. जहां दिल्ली के रहने वाले गुरप्रीत सिंह ने स्विट्जरलैंड की रहने वाली महिला से डेटिंग एप के जरिए मिला था. जिसके बाद वह उससे मुलाकात करने के लिए स्विट्जरलैंड गया था. जहां उन दोनों की कई बार मुलाकात हुई. जिसके बाद उनकी दोस्ती बढ़ती गई. जिसके बाद गुरप्रीत ने महिला को इंडिया घुमाने के लिए बुलाया. जिसके बाद उसने महिला को मारने के लिए एक पूरी कहानी लिखी. जो कि पूरी फिल्मी स्टाइल थी.

कत्ल में प्यार, काला जादू और साजिश

बता दे कि महिला 10 अक्टूबर को दिल्ली पहुंची और टैगोर गार्डन के एक होटल में रुकी थी. गुरप्रीत ने बताया कि उसने महिला को शादी के लिए प्रपोस किया था. जिसके बाद महिला ने उसे रिजेक्ट कर दिया जिसके बाद उसको गुस्सा आ गया और उसने महिला की हत्या कर दी. साथ ही उसने बताया कि उसको शक था कि महिला का किसी के साथ अफैयर भी चल रहा था. 

बॉयफ्रेंड ने विदेशी गर्लफ्रेंड को दी डरावनी मौत

दरअसल, 17 अक्टूबर को गुरप्रीत सिंह महिला को होटल से चेक आउट करवा के ले गया और महिला को काला जादू दिखाने का जांसा देकर और उसको एक अंजान जगह ले गया और उसके हाथ पैर जंजीर से बांध दिए. जिसके बाद उसका गला दबाकर उसकी हत्या कर दी गई. गुरप्रीत ने हत्या का प्लान बना रखा था. क्योंकि जिस सेकंड हैंड सैंट्रो में वह महिला को लेकर गया, वह उसने उसी विदेशी महिला के नाम पर खरीदी थी. जिसके बाद आरोपी ने महिला का शव गाड़ी में ही छिपा दिया और वहां से फरार हो गया. जिसके बाद वह वहां तीन दिन बाद चैक जब चैक करने के लिए गया तो गाड़ी में से बदबू आने लगी. जिसके बाद उसने लाश को तिलक नगर में फेंककर फरार हो गया. 

ADVERTISEMENT

पुलिस ने खंगाले 125 सीसीटीवी

डीसीपी विचित्र वीर के अनुसार शुक्रवार सुबह 8.45 बजे तिलक नगर के एमसीडी स्कूल की दीवार के पास एक महिला का शव पड़ा होने की सूचना मिली थी. हाथ-पैर चेन से बंधे थे और उस पर लॉक लगा था. शव सड़ी-गली हालत में था. जांच में स्पेशल स्टाफ के साथ ही 50 पुलिसकर्मियों को लगाया गया. पुलिस ने करीब सवा सौ सीसीटीवी को खंगाला. एक संदिग्ध कार दिखाई दी. कार के रजिस्ट्रेशन नंबर से उसके मालिक की पहचान की गई. कार मालिक ने बताया कि उसने कार बेच दी है. उधर पुलिस टीम कार के जाने वाले रास्तों में लगे सीसीटीवी की जांच करते हुए जनकपुरी पहुंची. जहां एक जगह पर पुलिस को कार पार्क मिली. आसपास के लोगों से पूछताछ में पता चला कि कार गुरप्रीत की है. पुलिस ने देर रात डेढ़ बजे आरोपी को उसके घर से गिरफ्तार कर लिया.

Note : ये खबर क्राइम तक में internship कर रही निधी शर्मा ने लिखी हैं.

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...