Video: संसद भवन की सुरक्षा को लेकर NSG ने की मॉक ड्रिल, हेलीकाप्टर से उतरे कमांडो, हुआ एयर सर्वे

ADVERTISEMENT

संसद भवन पर हेलिकाप्टर से एयर सर्वे भी करवाया गया, दिल्ली पुलिस भी ड्रिल के दौरान Outer Security में तैनात रही। ये मॉक ड्रिल 4 बजे शुरू हुई और 15 मिनट तक चली।

social share
google news

Delhi Video: शुक्रवार को संसद भवन की सुरक्षा को लेकर NSG ने मॉक ड्रिल की। मॉक ड्रिल के दौरान NSG कमांडो और हेलिकाप्टर भी शामिल रहा।हेलिकाप्टर से एयर सर्वे भी करवाया गया। दिल्ली पुलिस भी ड्रिल के दौरान Outer Security में तैनात रही। ये मॉक ड्रिल 4 बजे शुरू हुई और 15 मिनट तक चली। गौरतलब है कि संसद भवन में सुरक्षा चूक के बाद ये ड्रिल की गई है।

संसद भवन की सुरक्षा को लेकर NSG ने मॉकड्रिल

उधर राष्ट्रीय राजधानी की एक अदालत ने दिल्ली पुलिस को संसद की सुरक्षा में चूक के मामले की जांच पूरी करने के लिए बृहस्पतिवार को अतिरिक्त वक्त दे दिया। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश हरदीप कौर ने पुलिस को अपनी जांच पूरी करने के लिए एक और महीने का समय दिया और 25 मई तक आरोप पत्र दाखिल करने का निर्देश दिया।

संसद की सुरक्षा में चूक का मामला

न्यायाधीश ने दिल्ली पुलिस द्वारा दायर एक आवेदन पर आदेश पारित किया। आवेदन में दावा किया गया था कि कुछ गवाहों से पूछताछ की जानी बाकी है और कुछ रिपोर्ट आने का इंतजार है। यह भी दावा किया गया कि मामले में डिजिटल डेटा बड़ी मात्रा में है। पुलिस ने न्यायाधीश से जांच पूरी करने के लिए 45 दिन का वक्त मांगा था।

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

‘तानाशाही नहीं चलेगी’ के नारे लगाए

संसद की सुरक्षा में 13 दिसंबर 2023 को बड़ी चूक हुई थी जब सागर शर्मा और मनोरंजन डी नामक व्यक्ति शून्यकाल के दौरान दर्शक दीर्घा से लोकसभा में कूद गए थे और पीले रंग का धुआं फैला दिया था । उन्होंने नारेबाज़ी भी की थी लेकिन सांसदों ने उन्हें काबू कर लिया था। उसी वक्त, संसद भवन परिसर के बाहर अमोल शिंदे और नीलम आज़ाद ने रंगीन गैस फैलाई और ‘तानाशाही नहीं चलेगी’ के नारे लगाए। यह घटना संसद पर 2001 को हुए आतंकी हमले की बरसी के दिन हुई थी।

    यह भी देखे...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT