UP PET परीक्षा में नहीं चली सॉलवर गैंग की चालाकी, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से पकड़े गए High-tech Gadgets, ये वीडियो देखकर हैरान रह जाएंगे!

ADVERTISEMENT

UP Shocking Video: PET परीक्षा के पहले दिन नक़ल कराने वाले सॉल्वर गैंग के सरगना, नकल कराने वाले कक्ष निरीक्षक समेत 50 गिरफ़्तार

social share
google news

UP Shocking Video PET 2023: उत्तर प्रदेश के 35 जिलों में 1058 परिक्षा केंद्रों पर 2 शिफ्ट में परीक्षा का आयोजन किया गया है. जानकारी के मुताबिक 20 लाख 7 हजार 553 परीक्षार्थी 2 दिनों में परीक्षा में शामिल होंगे. परीक्षा केंद्रों के निगरानी के लिए 24033 सीसीटीवी लगाए गए है. साथ ही हर जिले में एडीएम स्तर के अधिकारी को नोडल अफसर बनाया गया है. सलवार गैंग को पकड़ने के लिए इरिस स्कैनिंग के साथ ऑनलाइन आधार वेरीफिकेशन की भी व्यवस्था की गई है. जानकारी के मुताबिक हर परीक्षार्थी की इलेक्ट्रॉनिक अटेंडेंस लगेगी. परिंदा भी पर ना मार सके ये इंतजाम किया गया है. 

आरोपी गिरफ्तार

परीक्षा केंद्र में AI तकनीक का इस्तेमाल

35 एडीएम, 364 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 1249 स्टेटिक मजिस्ट्रेट समेत कुल 80,274 कर्मचारी परीक्षा को कराने के लिए लगाए गए हैं. यूपीएसटीएफ की भी सॉल्वर गैंग और पेपर लीक करने वाली गैंग्स पर नजर बनाये हुए है. पुलिस अफसरों के मुताबिक यूपीएसटीएफ की सभी 8 यूनिट परीक्षा केंद्रों पर नजर रख रही हैं. उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग और यूपी एसटीएफ की जॉइंट टीम हर परीक्षा केंद्र पर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के सहारे परीक्षा देने वाले जालसाजों को दबोचने के लिए लगाई गई है.

मोटी रकम लेकर ब्लूटूथ डिवाइस के माध्यम से नकल

जनपद वाराणसी, प्रयागराज, उन्नाव, बॉदा, कानपुर नगर से गिरफ्तार अभियुक्त दीपक व अजय ने बताया कि 

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

हम लोगो का एक गिरोह है जो विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में अभ्यर्थियों से मोटी रकम लेकर ब्लूटूथ डिवाइस के माध्यम से परीक्षा प्रष्नपत्र को हल कराकर नकल कराता है। यूपी प्राथमिक अहर्ता परीक्षा-2023 परीक्षा में हम लोगों द्वारा कई परीक्षार्थियो से नकल कराने के नाम पर पैसे लिए थे। परीक्षा से एक दिन पूर्व परीक्षार्थियों को अपने पास बुलाते है और उनको ब्लूटूथ डिवाइस देकर उसे किस प्रकार प्रयोग करना यह बताया जाता है जिसके बाद परीक्षार्थी परीक्षा केन्द्र पर चला जाता है। 

कक्ष निरीक्षक विनय पटेल भी गिरफ्तार 

गिरफ्तार अभियुक्तों से प्राप्त मोबाइल के विष्लेषण से प्राप्त परीक्षा प्रष्न पत्र को देखने पर उस पर एक बार कोड छपा हुआ पाया गया, जिसे आयोग से समन्वय स्थापित कर जानकारी की गयी तो ज्ञात हुआ कि यह प्रष्न पत्र आरपीडी इण्टर कालेज, सन्दहा उमरहॉ, चौबेपुर वाराणसी के परीक्षा केन्द्र को आवंटित है। परीक्षा केन्द्र पर जाकर जॉच की गयी तो ज्ञात हुआ कि यह एक अनुपस्थित परीक्षार्थी का प्रष्न पत्र है, जिसे कक्ष निरीक्षक के रूप में ड्यूटी कर रहे विनय पटेल द्वारा परीक्षा शुरू होने के पष्चात साल्वर गैंग को मोबाइल के जरिये उपलब्ध कराया गया था। साल्वरों द्वारा प्रष्न पत्र हल करके परीक्षा दे रहे अभ्यर्थियों को ब्लूटूथ के माध्यम से नोट कराया जाता था। इस पर कक्ष निरीक्षक विनय पटेल को भी गिरफ्तार कर लिया गया। इस प्रकार इस गैग से सम्बन्धित सभी अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया।     

फेस रिकॉग्निशन एप के जरिए पकड़े 16 लोग

फेस रिकॉग्निशन एप के जरिये 16 परीक्षार्थी पकड़े गए हैं. पहले दिन पीईटी परीक्षा की दोनों पालियों में यूपी STF ने सॉल्वर गैंग के मेंबर्स को चिन्हित कर  कार्रवाई की है. वहीं दूसरी पाली में चल रही परीक्षा में भी कई परीक्षार्थी संदिग्ध बताए जा रहे हैं जिनकी पहचान एसटीएफ ने की है. परीक्षा के बाद एसटीएफ की टीम पूछताछ करेगी. वाराणसी, बांदा, उन्नाव, प्रयागराज कानपुर में ब्लूटूथ लगाकर परीक्षा कर रहे 10 परीक्षार्थी गिरफ्तार किए गए हैं.

ADVERTISEMENT

Note : ये खबर क्राइम तक में internship कर रही निधी शर्मा ने लिखी हैं.

    यह भी देखे...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT