दौसा में 10वीं के छात्र का स्कूल में हार्ट फेल, कंधे पर बैग टांगे फर्श पर गिरा बच्चा, मौके पर मौत, CCTV आया सामने  

ADVERTISEMENT

वीडियो में देखा जा सकता है कि 16 साल  छात्र यतेंद्र उपाध्याय स्कूल की लॉबी में अचानक बेहोश हो जाता है। बच्चा गश खाकर जमीन पर गिरता है। आनन फानन में यतेंद्र को बांदीकुई अस्पताल ले जाया गया।

social share
google news

दौसा से संदीप मीणा की रिपोर्ट

Rajasthan: राजस्थान के दौसा जिले से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां 10वीं क्लास के एक छात्र की स्कूल में हार्ट फेल होने से मौत हो गई। मृतक छात्र का नाम यतेन्द्र उपाध्याय था और उसकी उम्र 16 साल थी। यह घटना बांदीकुई के एक निजी स्कूल में हुई जिसका CCTV फुटेज भी सामने आया है। वीडियो में देखा जा सकता है कि 16 साल  छात्र यतेंद्र उपाध्याय स्कूल की लॉबी में अचानक बेहोश हो जाता है। बच्चा गश खाकर जमीन पर गिरता है। आनन फानन में यतेंद्र को बांदीकुई अस्पताल ले जाया गया।

10वीं क्लास के छात्र का स्कूल में हार्ट फेल

डॉक्टरों ने जांच के बाद छात्र यतेंद्र उपाध्याय को मृत घोषित कर दिया। ये मामला दौसा में बांदीकुई के ज्योतिबा फुले उच्च माध्यमिक विद्यालय का है। छात्र यतेंद्र उपाध्याय पंडितपुरा गांव से स्कूल में पढ़ने आया था। यतेंद्र उपाध्याय के बेहोश होने से स्कूल में हड़कंप मच गया और तत्काल स्कूल की स्टाफ ने उसे बांदीकुई अस्पताल में भिजवाया लेकिन अस्पताल में पहुंचने से पहले ही यतेंद्र की मौत हो चुकी थी हालांकि चिकित्सकों ने सीपीआर देकर सांस वापस लाने की कोशिश की लेकिन चिकित्सक कामयाब नहीं हो सके।  

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

दो दिन पहले यतींद्र ने मनाया था बर्थडे

घटना के बाद परिजनों ने शव का पोस्टमार्टम कराने से भी मना कर दिया जिसके चलते मौत के वास्तविक कारणों का पता नहीं लग सका है लेकिन संभावना जताई जा रही है कि छात्र की मौत हार्ट अटैक की वजह से हुई है। जब चिकित्सकों ने छात्र यतेंद्र की मेडिकल हिस्ट्री हासिल की तो पता चला कि कुछ साल पहले हार्ट की समस्या हुई थी। जिसके बाद यतेंद्र को करीब 4 साल पहले जयपुर में एडमिट रखा गया था। ऐसे में साफ है कि छात्र पूर्व से हार्ट की बीमारी का शिकार रहा था। 

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी देखे...