Video: प्यार का नाटक किया, कसमें खाईं, धोखा दिया, बेवफा पति को सबक सिखाने ओडिशा से बिहार पहुंची पत्नी

ADVERTISEMENT

Bihar Odisha Crime News: रोशन बासुमति को छोड़ कर अपने गांव आ गया. गांव आने के बाद जब उससे फोन पर बात हुई तो उसने कहा कि वो अब वापस नहीं आएगा.

social share
google news

Bihar Odisha Crime News: जहां आज के समय में प्यार, धोखा और शादी आम बात हो गई है. वहीं अपने बेवफा पति को सबक सिखाने के लिए पत्नी ओडिशा से 1000 किलोमीटर का सफर तय करके बिहार के जुमई पहुंच गई. अपने पति को सुधारने के लिए हजारों किलोमीटर दूर ओडिशा से चलकर बिहार पहुंची बासुमती नाम की महिला ने बताया कि जुमई के रहने वाले रोशन कुमार सिन्हा ने उसे धोखा दिया है. कहा पहले प्यार का नाटक किया, फिर शादी और फिर धोखा देकर बाग गया. महिला ने बताया कि उसके पति ने उसके नाम पर लोन लिया और पैसे लेकर भाग गया। 

कपंनी के दौरान हुई मुलाकात

महिला ने बताया है कि जुमई के बटपार गांव के रहने वाला रोशन कुमार सिन्हा से उसकी मुलाकात बेंगलुरु में एक कंपनी में हुई थी. दरअसल, बासुमति अपनी दोस्त के साथ एक कंपनी में काम करती थी और साथ ही रोशन अपने एक रिश्तेदार के साथ रहता था. उसने बताया कि दोनो की काम की वजह से मुलाकात हुई और बातें हुईं. जिसके बाद दोनों में प्यार हुआ. रोशन ने एक दिन बासुमती को बताया कि उसका उसके रिश्तेदार के साथ झगड़ा हो गया और उसे घर से निकाल दिया. जिसके बाद उसने बासुमती को 15 दिन अपने साथ रखने का आग्रह किया. जिसके थोडे़ दिन बाद उसने अपने साथ रहने के लिए हां कर दिया. 

बदनामी से बचने के लिए की शादी

एक साथ रहने के कारण आसपास चर्चा और बदनामी के कारण बासुमति के ना चाहते हुए भी दोनों ने शादी कर ली. बासुमति ने रोशन से 2016  में शादी की थी. जिसके बाद 23 सितंबर 2023 को रोशन बासुमति को छोड़ कर अपने गांव आ गया. गांव आने के बाद जब उससे फोन पर बात हुई तो उसने कहा कि वो अब वापस नहीं आएगा. महिला के मुताबिक उसका पति अब उसे जान से मारने की धमकी भी देता है.

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

घर बनाने के नाम पर लिया था लोन

महिला ने बताया कि घर बनाने के नाम पर रोशन ने उससे काफी पैसे भी लिए और साथ ही दोनों के नाम पर लोन भी लिया था. कुछ दिनों तक ईएमआई देने के बाद रोशन ने पैसे देने बंद कर दिए और अपने गांव निकल गया. 

पति को ढुंढते हुए पहुंची महिला

पति को ढुंढते हुए महिला जमुई के चकाई पुलिस थाने पहुंच गई.  बासुमति देवी ने चकाई थाना में आवेदन देने के लिए गई चकाई थाना गई लेकिन आवेदन नहीं लिया गया. जिसके बाद महिला जमुई एसपी डॉ शौर्य सुमन के पास पहुंची. एसपी डॉ शौर्य सुमन को उसने सारी कहानी फोन पर सुनाई. जिसके बाद से एसपी की ओर से उसे न्याय दिलाने का आश्वासन दिया गया है.

ADVERTISEMENT

Note : ये खबर क्राइम तक में internship कर रही निधी शर्मा ने लिखी हैं.

    यह भी देखे...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT