300 करोड़ की साजिश, बहू ने दी ससुर की हत्या की सुपारी, कत्ल जो हादसा नजर आया, देखिए चौंकाने वाला Video

ADVERTISEMENT

Nagpur में 22 मई को 82 साल के पुरुषोत्तम हाथ में बैग लिए किसी काम से जा रहे थे। तभी सफेद रंग की एक कार ने बुजुर्ग को पीछे से तेज टक्कर मार दी। टक्कर लगते ही पुरुषोत्तन उछलकर जमीन पर जा गिरे।

social share
google news

Maharashtra: 300 करोड रुपये की संपत्ति हडपने के लिए बहू ने सुपारी देकर अपने ही ससुर की हत्या करवा दी। ये चौंकाने वाला मामला नागपुर के अजनी पुलिस थाना इलाके का है। हैरानी की बात ये है कि इस मामले को शुरु मे एक हादसे की शक्ल दी गई। पुलिस की तत्परता से हादसे वाली साजिश का खुलासा हो गया। जांच में पता चला कि ये एक कोल्ड ब्लडेड मर्डर है। 

सीसीटीवी में कैद कार की तेज टक्कर

22 मई को 82 साल के पुरुषोत्तम हाथ में बैग लिए किसी काम से जा रहे थे। तभी सफेग रंग की एक कार ने बुजुर्ग को पीछे से तेज टक्कर मार दी। टक्कर लगते ही पुरुषोत्तन उछलकर जमीन पर जा गिरे। ये हादसा नागपुर के मानेवाडा परिसर में हुआ। कार से टक्कर लगने के बाद घायल पुरुषोत्तम को अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी मौत हो गई।

पुलिस ने कत्ल के एंगल पर जांच शुरु की

ये घटना सीसीटीवी मे कैद हो गई। शुरुआत में पुलिस भी इस मामले को एक हादसा समझ रही थी। घटना के बाद मृतक के भाई ने पुलिस अधिकारी को हत्या का शक होने की बात कही। जिसके बाद पुलिस ने कत्ल के एंगल पर जांच शुरु की। पुलिस की जांच में एक के बाद एक चौकाने वाले खुलासे होने लगे। पुलिस ने इस मामले में सीसीटीवी की मदद कार की पहचान की और कार ड्राइवर नीरज निमजे और सचिन धार्मिक को हिरासत मे लिया।

ADVERTISEMENT

ADVERTISEMENT

प्रापर्टी विवाद में ससुर की हत्या

पुलिस हिरासत में पूछताछ शुरु की गई तो दोनों ने पुलिस को बताया कि पुरुषोत्तम की मौत हादसे में नही हुई बल्कि जान बूझकर उनके कार से उड़ा दिया गया था। दोनों ने खुलासा किया कि इस कत्ल के लिए उन्हे अर्चना पुट्टेवार ने सुपारी दी थी। जी हैं अर्चना पुट्टेवार मृतक पुरुषोत्तम की बहू है। अब पुलिस के सामने सवाल ये था कि आखिर बहू ने ससुर का कत्ल क्यों कराया। दरअसल 82 साल के पुरुषोत्तम की 300 करोड रुपये के पैतृक संपत्ति थी जिसपर बहू अर्चना की नजर थी।

फिलहाल तीन आरोपी गिरफ्तार

यही वजह थी कि अर्चना ने कत्ल की सुपारी दे दी। पुलिस ने इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है।  इस पूरे मामले को लेकर नागपुर के पुलिस कमिश्नर रविंद्र सिंघल ने बताया कि यह मामला हाईप्रोफाईल है। नागपुर क्राईम ब्रँच की टीम इस मामले की जांच कर रही है। अब तक इस मामले मे तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। जल्द ही पुलिस इस मामले से जुडे सभी आरोपियों को गिरफ्तार करेगी। 

ADVERTISEMENT

    यह भी देखे...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT