वैगनर की सेना होगी आतंकी संगठन का हिस्सा, ब्रिटेन ने कहा इसके लड़ाके दुनिया के लिए खतरा

ADVERTISEMENT

Social Media
Social Media
social share
google news

World Crime News:  वैगनर चीफ प्रिगोजिन की मौत के बाद..अब ब्रिटेन उनकी प्राइवेट आर्मी को आतंकवादी संगठन घोषित करने वाला है. इस फैसले के बाद ब्रिटेन में इस वैगनर ग्रुप से जुड़ना या उनका समर्थन करना गैर-कानूनी माना जाएगा. इसके लिए संसद में बिल भी लाया जा रहा है। इस ऑर्डर के तहत, वैगनर की प्रॉपर्टी को आतंकी संपत्ति घोषित किया जाएगा और फिर जब्त कर लिया जाएगा। ब्रिटेन की होम सेक्रेटरी ने कहा कि वैगनर ग्रुप.. रूस के राष्ट्रपति पुतिन का एक मिलिट्री टूल था, ये काफी हिंसक और विनाशकारी है। यूक्रेन और अफ्रीका में उन्होंने जो किया वो दुनिया के लिए खतरा है। होम सेक्रेटरी  ने कहा कि वैगनर के लड़ाके आतंकवादी हैं और ये बात साफ है और अब ब्रिटेन के कानून में भी यही माना जाएगा..वैगनर आर्मी का नाम UK में बाकी आतंकी संगठनों के साथ जोड़ा जाएगा। कानून का उल्लंघन करने पर दोषी को 14 साल की जेल और करीब 5 लाख रुपए तक का जुर्माना देना होगा.

World Crime News | social media

2- एलन मस्क के पिता ने अपने बेटे की हत्या की आशंका जताई है। एक रिपोर्ट में कहा गया कि सरकारी फैसलों पर मस्क का प्रभाव पड़ता है। उन्हें डर है कि अमेरिकी सरकार के खिलाफ जाने पर ऐसा हो सकता है। इसके अलावा उन्होंने पुतिन के रवैए पर भी चिंता जताई है। एलन मस्क के पिता एरल एक रिटायर्ड इंजीनियर हैं। उन्होंने कहा कि वो अपने बेटे के लिए परेशान हैं। एलन वर्तमान में लगातार जस्टिस डिपार्टमेंट और प्रेस के हमलों का सामना कर रहे हैं। इससे पहले जुलाई में राष्ट्रपति बाइडेन ने कहा था कि मस्क की जांच के कई तरीके हैं। एलन मस्क ने भी मजाक में कहा था कि उनकी मौत एक रहस्यमय तरीके से हो सकती है। हालांकि इसके पीछे उन्होंने रूस को टार्गेट करने की कोशिश की थी।

World Crime News | social media

3- जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा पर हमला किया गया था, जिसके बाद अब एक शख्स को दोषी ठहराया गया है। जापान में इस साल अप्रैल में प्रधानमंत्री फुमियो पर विस्फोटक हमला किया गया था, जिसमें उनकी हत्या करने का प्रयास किया गया था. आरोपों में बुधवार को 24 साल के एक व्यक्ति को दोषी ठहराया गया है। पीएम किशिदा जापान में चुनाव प्रचार कर रहे थे, तभी एक व्यक्ति ने उन पर.. घर में बने एक पाइप से बना बम फेंका। किशिदा को कोई चोट नहीं आई, लेकिन दो लोगों को मामूली चोटें आईं थी। रिपोर्ट के अनुसार, हमले में इस्तेमाल किया गया बम काफी घातक था। इस तरीके का ये हमला पूर्व प्रधानमंत्री शिंज़ो आबे की चुनाव प्रचार के दौरान भी हुआ था, जब उनकी गोली मारकर हत्या करदी गई थी और अब उनके जाने के लगभग एक साल बाद फिर ऐसा हुआ है।

ADVERTISEMENT

World Crime News | social media

4- पाकिस्तानी टिकटॉकर हरीम शाह ने सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म पर एक वीडियो शेयर किया है. जिसमें वो दावा कर रही है कि उसके पति बिलाल को किडनैप कर लिया गया है. और ये वीडियो बाद में वायरल हो गया. पाकिस्तान में इस वक्त hashtag HareenShah भी काफी ट्रेंड कर रहा है. उसका कहना है कि पति को गायब हुए एक हफ्ता हो गया है. वो वीडियो में पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI से मदद करने को बोलती है. हरीम का कहना है कि वो अपने पति के साथ लंडन में थी. लेकिन पति बिलाल को किसी काम से अचानक पाकिस्तान जाना पड़ा..उसने बताया कि शाम को जब वो घर से निकल रहे थे, तब कुछ लोग गाड़ियों में आए और बिलाल को किडनैप करके ले गए. हरीम के सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स पर काफी फॉलोअर्स हैं. उसने कहा कि वो कोर्ट में याचिका दाखिल कर चुकी है और पुलिस से भी बात की है.

5- ये मामला चाइना से आया है जहां एक 10 साल का लड़का एक ऐसी बात से नाराज़ हुआ कि, सुनकर आप हैरान हो जाएंगे, और इसके बाद इस बच्चे ने सीधा अपनी मां की शिकायत लगाने के लिए पुलिस से बात की..ये बच्चा अपने घर से ही भाग आया और सीधा पुलिस स्टेशन जाकर रुका.. फिर इसने बताया कि उसकी मां उसे होमवर्क करने के लिए डांटती है, इसलिए वो अपनी मां के खिलाफ FIR लिखवाना चाहता है...और फिर इस बच्चे ने पुलिस से खास मदद मांगी और कहा कि अब वो घर नहीं जाना चाहता. वो चाहता है कि उसे अनाथालय भेज दिया जाए. मामला गंभीर होने लगा तो जैसे तैसे घरवालों को बुलाया गया और बच्चे को समझाया गया.

ADVERTISEMENT

6- पाकिस्तान के कराची शहर में मौजूद एक स्कूल के प्रिंसिपल ने पैतालिस से ज्यादा महिलाओं के साथ रेप किया। आरोपी प्रिंसिपल के मोबाइल से कई महिलाओं के वीडियो भी रिकवर किए गए हैं। इन्हें स्कूल के CCTV में रिकॉर्ड किया गया था। कुछ कैमरे छिपाकर लगाए गए थे। मामले की जांच कर रहे पुलिस अफसर ने बताया कि सभी विक्टिम को रेप के बाद ब्लैकमेल भी किया गया है। टीम को आरोपी प्रिंसिपल के मोबाइल से इसके सबूत भी मिल चुके हैं। पुलिस को कुछ दिन पहले इंटरनेट पर कुछ महिलाओं की आपत्तिजनक तस्वीरों की जानकारी मिली थी। इनकी जांच की गई तो बाद में इंटेलिजेंस ने पता लगाया कि सभी महिलाएं कराची के एक स्कूल में नौकरी करती हैं. जानकारी जुटाई गई तो पता लगा कि यहां के प्रिंसिपल का नाम इरफान गफूर मेमन है। स्कूल में ज्यादातर महिला टीचर हैं, जबकि सिर्फ पांच पुरुष टीचर हैं। स्कूल पर छापा मारा गया और इस दौरान CCTV फुटेज खंगाले गए. इनमें कई आपत्तिजनक वीडियो मिले हैं..फिलहाल इस आरोपी टीचर को गिरफ्तार कर लिया गया है.
 

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...