ये है गैंगस्टर संदीप और दिव्या पाहुजा की असली कहानी!

ADVERTISEMENT

Divya Pahuja
Divya Pahuja
social share
google news

नीरज वशिष्ठ, अरविंद ओझा के साथ चिराग गोठी की रिपोर्ट

who is Gangster sandeep and Divya Pahuja ? : आतंक का दूसरा नाम था गैंगस्टर संदीप गाड़ौली,  जिसका सट्टेबाजी,अवैध शराब ,अवैध वसूली और जमीनों पर अवैध कब्ज़ों का काम था। कहा जाता है कि जिले भर में उसके गुर्गों का नेक्सेस था। ऐसा ही एक गुर्गा था, अर्जुन नगर का रहने वाला मनीष खुराना। मनीष संदीप गाड़ौली के लिए सट्टेबाजी,वसूली और भी कई काले धंधों में लिप्त था, लेकिन कानून की किताबो में उसका कोई जिक्र नहीं है। दिव्या किसी दोस्त की मार्फत पहले मनीष खुराना से मिली। वो उसकी चकाचौंध से इम्प्रेस थी। दोनों में दोस्ती का रिश्ता अभी गहरा भी नहीं हुआ था कि मनीष के जन्मदिन के मौके पर गैंगस्टर की नज़र खूबसूरत दिव्या पाहुजा पर पड़ी। बस, गैंगस्टर मॉडल पर लट्टू हो गया। यही से शुरू हुआ गैंगस्टर और उसकी प्रेमिका दिव्या पाहुजा का रिश्ता।

गाड़ौली 2015-16 में मोस्ट वांटेड अपराधियों की लिस्ट में शुमार था और अक्सर गुरुग्राम से बाहर यानी राजस्थान और मुम्बई में अपना ठिकाना बनाता था। 4 फरवरी 2016 को गैंगस्टर संदीप अपनी मॉडल गर्लफ्रेंड दिव्या के साथ राजस्थान पहुंचा। फिर मुंबई पहुंचा। वो मुंबई के एक होटल रुका। उसके पीछे गुरुग्राम क्राइम ब्रांच की टीम लगी हुई थी, जिसमें इंस्पेक्टर आनंद कुमार, एडिशनल एसएचओ और तीन से चार अन्य पुलिसकर्मी शामिल थे। संदीप का पीछा करते हुए टीम मुंबई के होटल तक पहुंच गई। 7 फरवरी की सुबह जब संदीप दिव्या पाहुजा के साथ होटल एयरपोर्ट के रूम नंबर 111 में था तभी क्राइम ब्रांच के सब इंस्पेक्टर और अन्य पुलिसकर्मी कमरे तक पहुंच गए। ये देखकर संदीप सन्न रह गया। हरियाणा पुलिस के मुताबिक, संदीप को सरेंडर करने के लिए कहा। इसके बाद संदीप ने अपने अवैध हथियार से पुलिस पर फायरिंग कर दी। दोनों तरफ की फायरिंग में संदीप को कई गोलियां लगी और बाद में उसकी मौत हो गई।

ADVERTISEMENT

 

संदीप और खुद की लोकेशन क्यों शेयर कर रही थी दिव्या?

ADVERTISEMENT

तो क्या संदीप के एनकाउंटर में दिव्या, उसकी मां और पुलिसवाले शामिल थे?

ADVERTISEMENT

कुख्यात गैंगस्टर संदीप के एनकाउंटर के बाद जहां तत्कालीन पुलिस कमिश्नर नवदीप सिंह विर्क ने इसे गुरुग्राम क्राइम ब्रांच की बड़ी उपलब्धि बताया था तो वही गैंगस्टर संदीप गाड़ौली की बहन सुदेश कटारिया और उसके भाई मास्टर और ब्रह्म प्रकाश ने इसे फेक एनकाउंटर कर दिया था। मामला कोर्ट में गया। मुंबई पुलिस ने जांच शुरू की। क्राइम ब्रांच के सब इंस्पेक्टर यादव और अन्य तीन से चार पुलिसकर्मियों को फेक एनकाउंटर मामले में गिरफ्तार कर मामले की तफ़्तीश शुरू की। तफ़्तीश में सामने आया कि दिव्या पाहुजा संदीप गाड़ौली और खुद की लोकेशन सोशल मीडिया पर साझा करती चली आ रही थी। इसी लोकेशन को ट्रेस करते क्राइम ब्रांच की टीम मुम्बई पहुंची और बिना मुम्बई पुलिस को सूचना दिए एनकाउंटर को अंजाम दे डाला। संदीप की बहन सुदेश कटारिया ने दिव्या पाहुजा और उसकी मां सोनिया पाहुजा पर गैंगस्टर बिंदर गुर्जर के साथ मिल इस फेक एनकाउंटर को अंजाम देने का आरोप लगाया। पुलिस ने दिव्या पाहुजा, उसकी माँ सोनिया पाहुजा और पुलिसवालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। अदालत ने उन्हें जेल भेज दिया। इस मामले में सोनिया पाहुजा की जमानत 2019 में मंजूर कर ली गई थी। तर्क था कि दिव्या पाहुजा के पिता को लास्ट स्टेज कैंसर था। दिव्या पाहुजा की कोर्ट ने जुलाई 2023 में जमानत को मंजूर कर लिया गया।

https://www.crimetak.in/articles/model-divya-pahuja-murdered-latest-news-updates-story-of-divya

इसके बाद उसकी मुलाकात अभिजीत से हुई। कहा जा रहा है कि अभिजीत के साथ उसके फिजिकल रिलेशन बने। फिर शुरू हुआ ब्लैकमेलिंग का धंधा। इसी से त्रस्त होकर अभिजीत ने उसकी हत्या कर दी। फर्राटेदार इंग्लिश बोलने वाली दिव्या ने बहुजन गुरुग्राम नाम के स्कूल से इंग्लिश मीडियम में 12वीं पास की थी। दिव्या पाहुजा की एक छोटी बहन है, जो कि एमएनसी कंपनी में काम करती है। इसके अलावा उसकी मां सोनिया पाहुजा और पिता हैं। परिवार बलदेव नगर के एक छोटे से मकान में रहते हैं।

गैंगस्टर बिन्दर गुर्जर पर लगे थे गैंगस्टर संदीप गाड़ौली का फेक एनकाउंटर करवाने के आरोप

हालांकि इस मामले में गुरुग्राम पुलिस इंवेस्टगेशन करने में जुटी है। गैंगस्टर संदीप गाड़ौली की बहन सुदेश कटारिया ने संदीप के फेक एनकाउंटर के आरोप गैंगस्टर बिन्दर गुर्जर पर लगाये थे। कहा जा रहा है कि गैंगस्टर बिन्दर गुर्जर ने दिव्या पाहुजा की माँ सोनिया पाहुजा और दिव्या पाहुजा को एनकाउंटर टीम के साथ सेट किया। गैंगस्टर बिन्दर गुर्जर ने लाखों रुपये पुलिस, दिव्या और उसकी माँ को दिए। इस मामले की तफ़्तीश के बाद मुंबई पुलिस ने अक्टूबर 2019 में बिंदर गुर्जर को गिरफ्तार कर लिया था और तब से बिन्दर गुर्जर मुंबई की जेल में है।

कैसे हुई दिव्या पाहुजा और साउथ एक्स के रहने वाले अभिजीत सिंह की मुलाकात?

दरअसल बिन्दर गुर्जर और अभिजीत की दोस्ती थी और जेल में बंद होने के बाद से बिन्दर गुर्जर और अभिजीत के बीच कोई बातचीत नहीं हुई, लेकिन जुलाई 2023 में दिव्या पाहुजा की ज़मानत हुई और फिर शुरू हुआ दिव्या पाहुजा और अभिजीत के बीच मिलने-जुलने से लेकर हत्या तक का सिलसिला।
 

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT