अतीक अहमद के दोनों बेटों ने जेल से ऐसे रची थी उमेशपाल हत्याकांड की साजिश, मिले ये बड़े सबूत

ADVERTISEMENT

Umesh Pal murder case : Atiq Ahmed का परिवार
Umesh Pal murder case : Atiq Ahmed का परिवार
social share
google news

Umesh Pal Murder Case : माफिया अतीक अहमद के जेल में बंद दो बेटों की मुश्किलें और बढ़ने वाली हैं. उमेश पाल हत्याकांड में दोनों बेटों अली और उमर अहमद को आरोपी बनाया है. पुलिस को इन दोनों के खिलाफ पुख्ता सबूत मिले हैं. हालांकि, शुरुआत में इन दोनों के खिलाफ जरूरी सबूत नहीं मिले थे. इसलिए पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया था. लेकिन अब जांच के दौरान दावा ये हुआ कि दोनों बेटों ने जेल में रहते हुए इस वारदात की गहरी साजिश रची थी. इन दोनों में जेल में रहते हुए ही शूटर्स से मुलाकात की थी. 

File Photo

25 फरवरी 2023 को हुई थी उमेश पाल की हत्या

Atiq Ahmed Case : 25 फरवरी 2023 को बहुजन समाज पार्टी के पूर्व विधायक राजू पाल हत्याकांड के मुख्य गवाह उमेश पाल की हत्या कर दी गई. अतीक अहमद के गुर्गों ने उनकी कार पर गोलियों और बम से हमला किया. इस हमले में गंभीर रूप से घायल हुए उमेश पाल और उनके दो गनर को इलाज के लिए रानी नेहरू अस्पताल ले जाया गया, जहां तीनों की मौत हो गई. इस हत्याकांड में अतीक अहमद और अशरफ अहमद पर साजिश रचने का आरोप लगाया गया था.

इसके बाद उमेश पाल की पत्नी की शिकायत पर पुलिस ने अतीक अहमद समेत 14 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था. पुलिस द्वारा दाखिल की गई चार्जशीट में अतीक अहमद के बेटे असद, उमर, अली के साथ दोनों नाबालिग बेटे भी हत्या की साजिश में शामिल थे. अतीक के वकील खान सौलत हनीफ ने असद को अपने आईफोन से उमेश पाल के साथ उसकी पत्नी जया पाल की तस्वीर भी भेजी थी. हत्या से तीन दिन पहले उमेश पाल की रेकी की गई थी.

ADVERTISEMENT

Atiq Ahmed News

कैसे रची गई थी जेल से साजिश


इस रेकी में सदाकत के साथ असद, अहजाम और अबान भी शामिल थे. असद ने अतीक अहमद से साबरमती जेल में व्हाट्सएप कॉल पर बात की थी. साल 2023 में 11 फरवरी को बरेली जेल में अशरफ से मिलने के बाद सदाकत और मोहम्मद गुलाम 13 फरवरी और 15 फरवरी को नैनी जेल में बंद अली से मिलने नैनी जेल गए. हत्या की हर साजिश में शामिल सदाकत घटना से दो दिन पहले 22 फरवरी को प्रयागराज छोड़कर अपने गांव भाग गया था. पुलिस ने अपनी चार्जशीट में 11 फरवरी को बरेली जेल में अशरफ से मुलाकात की सीसीटीवी और 7 तस्वीरें भी शामिल की थीं. 

इसके साथ ही 13 और 15 फरवरी को नैनी जेल में सदाकत, मोहम्मद गुलाम और गुड्डु मुस्लिम की अली से मुलाकात की चार तस्वीरें भी सबूत के तौर पर लगाई गईं. फेस टाइम पर बात करने के लिए असद ने अतीक के वकील को आईफोन दिया था. इसी के चलते उसने असद को उमेश पाल और उसकी पत्नी जया की तस्वीर भेजी थी. इस मामले की जांच के दौरान 15 अप्रैल 2023 को अतीक अहमद और उनके भाई अशरफ अहमद की प्रयागराज में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. घटना को तब अंजाम दिया गया था जब दोनों को प्रयागराज के कॉल्विन अस्पताल ले जाया गया था. इसके बाद पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए तीनों हमलावरों को पकड़ लिया. अतीक और अशरफ की हत्या के तीनों आरोपी प्रयागराज से बाहर के रहने वाले थे. इनके नाम लवलेश, अरुण और मोहित उर्फ सनी हैं। तीनों जेल में हैं

ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT