दारोगा साहब गमछा पहने बैठे थे, शिकायत करने पहुँची महिलाएं शरमाईं, वीडियो वायरल

ADVERTISEMENT

यूपी के कौशांबी में चौकी में दारोगा साहब गमछा पहने बैठे थे महिलाओं की शिकायत सुनने को
यूपी के कौशांबी में चौकी में दारोगा साहब गमछा पहने बैठे थे महिलाओं की शिकायत सुनने को
social share
google news

UP Crime: सोशल मीडिया पर इन दिनों एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसे देखकर आपको हंसी भी  आ सकती है और गुस्सा भी। हंसी इसलिए क्योंकि उसमें जो कुछ नजर आ रहा है वो न तो किसी भी सूरत में साधारण है और न ही सभ्य समाज का तौर तरीका। 

वायरल वीडियो का सच

अब जरा वायरल वीडियो का सच भी सुन लीजिए। हुआ ये है कि यूपी के कौशांबी चौकी के अंदर दारोगा साहब बनियान और गमछा लपेटकर बैठे हुए थे और वहीं कुछ फरियादी महिलाएं भी थीं। 

फरियाद करने वाली महिलाएं 

हैरानी की बात ये है कि चौकी में अपनी अपनी फरियाद लेकर पहुँची महिलाओं ने जब दारोगा जी को इस हाल में देखा तो खुद उनकी हंसी छूट गई और तो और कुछ महिलाएं बेहद गुस्से में वहां से चली भी गईं। लेकिन जो महिलाएं अपनी शिकायत लेकर आईं थीं उन्होंने दारोगासाहब को उसी हाल में अपनी तकलीफ सुनाई और जल्दी से जल्दी वहां से रुखसत हो गईं। लेकिन सिंधिया चौकी का ये किस्सा जब सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो पुलिस के आला अफसर एसपी ने दारोगा को फौरन ही लाइन हाजिर कर दिया है। इसके अलावा महकमें की जांच के आदेश भी दे दिए। 

ADVERTISEMENT

सन्न रह गईं महिलाएं

वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि दारोगा राम नरायण सोनकर साहब बनियान और गमछा लपेटकर कुर्सी पर बैठे हैं और उनके सामने तीन महिलाएं बैठी हैं। बताया यही जा रहा है कि दारोगा साहब को अपने सामने ऐसी हालत में बैठा देखकर महिलाएं सन्न रह गई थीं। लेकिन चौकी के भीतर से इस हाल का किसी ने मोबाइल पर वीडियो बना दिया और उसे सोशल मीडिया पर डाल दिया, देखते ही देखते ये वीडियो वायरल भी हो गया। 

घरेलू झगड़े की बात थाने पहुँची

वायरल वीडियो की बात रात तक एसपी ब्रजेश श्रीवास्तव तक जा पहुँची। खुलासा हुआ कि बालकमऊ गांव में दो लोगों के बीच घरेलू झगड़े की बात थाने तक पहुँची थी। इसी बात को लेकर महिलाएं चौकी इंचार्ज से शिकायत करने की गरज से सिंधिया चौकी गई थीं। कहा यही जा रहा ह  कि राम नारायण सोनकर महिलाओं के सामने गमछा लपेटकर बैठ गए। मरता क्या न करता महिलाओं ने जैसे तैसे हिचकिचाहट में चौकी इंचार्ज के सामने अपनी फरियाद रखी और वहां से रवाना हो गईं। 

ADVERTISEMENT

दारोगा साहब लाइन हाजिर

लेकिन जब ये बात एसपी तक पहुँची तो वो गुस्से से बिफर गए और फौरन चौकी इंचार्ज राम नारायण सोनकर को लाइन हाजिर करके पूरी जांच की जिम्मेदारी सिराथू के एसएचओ अवधेश विश्वकर्मा को सौंप दी। 

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...