माफिया अतीक अहमद की मौत के एक साल बाद क्यों जारी हुआ उसके नाम ये नोटिस?

ADVERTISEMENT

जांच जारी
जांच जारी
social share
google news

UP Don Atiq Ahmad: एक साल पहले मारे जा चुके माफिया अतीक अहमद को प्रयागराज विकास प्राधिकरण ने एक नोटिस जारी किया है। अवैध निर्माण को लेकर अतीक अहमद के नाम पर नोटिस जारी कर दिया गया। नोटिस के मुताबिक टीन शेड लगाकर माफिया के नजूल भूखंड पर निर्माण हो रहा है। साल 2020 में पीडीए ने बुल्डोजर चलाकर इस प्लाट पर ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की थी। माफिया ब्रॉदर्स की मौत के बाद ही टीन शेड लगाकर निर्माण कार्य शुरू हो गया है। प्रयागराज विकास प्राधिकरण ने अवैध निर्माण के खिलाफ ये नोटिस जारी किया है। हैरानी की बात ये है कि नोटिस उसे जारी किया गया है जो अब इस दुनिया में है ही नहीं। जिसकी एक साल पहले मौत हो चुकी है।

मरे चुके डॉन अतीक अहमद के नाम जारी हुआ ये नोटिस

प्रयागराज डेवलपमेंट अथॉरिटी ने मृतक अतीक अहमद के नाम नोटिस जारी किया है। अवैध निर्माण रोकने के लिए पीडीए की तरफ से ये नोटिस बीते 6 अप्रेल को जारी किया गया है। आपको बता दें कि यूपी के प्रयागराज में 24 फरवरी को उमेश पाल की हत्या हुई थी और इस वारदात के दौरान उमेश पाल की हिफाजत में लगे दो सिपाही भी मारे गए थे। इस हत्याकांड के सिलसिले में अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ समेत विजय चौधरी उर्फ उस्मान, अरबाज, अतीक के बेटे असद, शूटर गुलाम, बमबाज गुड्डू मुस्लिम को नामजद किया गया था। इसमें से गुड्डू बमबाज को छोड़कर सभी लोग मारे जा चुके हैं। उमेश पाल की हत्या के बाद 15 अप्रैल को अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की पुलिस कस्टडी भी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

पुलिस को शाइस्ता और गुड्डू की तलाश

उमेश पाल हत्याकांड के सिलसिले में यूपी पुलिस ने कई लोगों को शिकंजे में लिया है। लेकिन कई आरोपी अब भी पुलिस की पकड़ से बाहर बने हुए हैं खासतौर पर शाइस्ता परवीन, गुड्डू मुस्लिम और शूटर साबिर। इन तीन आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस लगातार दबिश डाल रही है लेकिन उसे अभी तक कोई कामयाबी नहीं मिली। गुड्डू मुस्लिम के बारे में पुलिस को अंदाजा है कि वो हिन्दुस्तान के अलग अलग हिस्सों में छुपता फिर रहा है। बावजूद इसके पुलिस को उसकी लोकेशन का अंदाजा नहीं मिल पाया। 

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT