अयोध्या श्रीराम मंदिर जमीन से आसमान तक होगा कड़ा पहरा, प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के लिए सुरक्षा एजेंसियों ने कसी कमर, 11 हजार सुरक्षाकर्मियों के हवाले सुरक्षा

ADVERTISEMENT

फाइल फोटो
फाइल फोटो
social share
google news

UP Ayodhya: अयोध्या में 22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं। 22 जनवरी की सुरक्षा के लिए 11000 सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया जाएगा। अयोध्या मंदिर की सुरक्षा को देखते हुए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आधारित सर्विलेंस किया जाएगा। कार्यक्रम के दिन 26 कंपनी पीएसी और सीआरपीएफ की तहत होंगे।

22 जनवरी की सुरक्षा के लिए 11000 जवान

जानकारी के मुताबिक 15 जनवरी से ही अयोध्या में सुरक्षा कंपनी तैनात होगी। 8000 सिविल पुलिस कर्मियों की तैनाती की जाएगी इसके साथी यूपीएसटीएफ, यूपी एटीएस, यूपीएसएसएफ और एनएसजी के कमांडो टीम अयोध्या पर नजर रखेंगे। पूरी अयोध्या को रेड और यलो जोन में बांटा गया है। मंदिर परिसर के अंदर सीआरपीएफ की 6 कंपनी पीएसी और यूपीएसएसएफ की 9 कंपनियों के साथ-साथ 300 से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से सुरक्षा

22 जनवरी को होने वाले कार्यक्रम के मद्दे नजर एक सप्ताह पहले से ट्रैफिक डायवर्जन का प्लान लागू होगा। अंबेडकर नगर प्रयागराज गोंडा वाराणसी गोरखपुर लखनऊ के रास्ते से आने वाले वाहनों को 15 जनवरी से ही डायवर्ट किया जाएगा। अयोध्या में पहली बार यूपी पुलिस आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बेस्ड सर्विलांस लागू करेगी। जिसमें भीड़ में संदिग्ध का चिन्हीकरण होगा, संदिग्ध गतिविधि पर निगरानी होगी।

ADVERTISEMENT

संदिग्ध गतिविधि पर निगरानी 

अयोध्या में धरती से लेकर आसमान तक और आसमान से लेकर जीवन दाईनी सरयू पर तक निगरानी होगी। सीसीटीवी कैमरा के साथ-साथ ड्रोन कैमरा से भी अयोध्या पर नजर रखी जा रही है। अयोध्या के प्रमुख चौराहे से लेकर बाजार गली में अयोध्या नगर निगम, अयोध्या विकास प्राधिकरण ने सीसीटीवी से निगरानी शुरू कर दी है।

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT