रितिक निकला विदेश में सिम कार्ड सप्लाई रैकेट का सरगना, दुबई, कंबोडिया और चीन से जुड़े तार, UP STF ने किया गिरफ्तार

ADVERTISEMENT

जांच में जुटी पुलिस
जांच में जुटी पुलिस
social share
google news

UP Crime News: फर्जी नाम पते पर सिम कार्ड खरीद विदेश सप्लाई करने वाले नटवरलाल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। यूपी की स्पेशल टास्क फोर्स ने ऋतिक राज नाम के शख्स को गिरफ्तार किया है। ऋतिक राज भारत के एक्टिव सिम कार्ड दुबई कंबोडिया और चीन में सप्लाई करता था। दुबई, कंबोडिया, चीन के साथ अन्य देशों में ऋतिक राज 2000 से 2500 में सिम बेचा करता था। सोशल मीडिया वेबसाइट के जरिए फर्जी सिम कार्ड की खरीद फरोख्त का कारोबार चलाता था।

भारत के एक्टिव सिम कार्ड दुबई कंबोडिया और चीन में सप्लाई 

यूपी एसटीएफ ने गिरोह के एक सदस्य ऋतिक राज को मेरठ से गिरफ्तार किया है। आरोपी ऋतिक पटना का रहने वाला है। पुलिस के मुताबिक ऋतिक 500 से ज्यादा सिम कार्ड अब तक बाहरी देशों में सप्लाई कर चुका है। एसटीएफ इस गिरोह के अन्य सदस्यों की तलाश कर रही है। पुलिस ने ऋतिक के कब्जे से 179 सिम कार्ड और तीन मोबाइल फोन बरामद किए हैं। गिरफ्तार आरोपी ऋतिक राज ने पूछताछ में बताया कि वो टेलीग्राम पर फेक सिम कार्ड बैंक एकाउण्ट @prem_singh_seller के नाम से है। 

सिमकार्ड वाले इंटरनेशल गैंग का खुलासा

इस चैनल के माध्यम से ही फर्जी सिम की खरीद फरोक्त करने वाले व्यक्ति उससे सम्पर्क में रहते हैं। इसी माध्यम से वह बडी संख्या में 400-500 रूपये प्रति सिम कार्ड खरीदकर दुबई, कम्बोडिया और चीन आदि देशो में लगभग 2000 से 2500 रूपये प्रति सिम सप्लाई करता है। इसी चैनल के जरिए ऋतिक राज की मुलाकात रोनित कुशवाहा से हुई जो कि महोबा का रहने वाला है। ऋतिक से वह लगभग 2000 सिम ले चुका हैं तथा अब तक लगभग 3 से 4 हजार सिम विदेशों में सप्लाई कर चुका है।

ADVERTISEMENT

3 से 4 हजार सिम की विदेशों में सप्लाई 

रितिक का वासिफ व शकील नाम के व्यक्तियों ने 2800 रुपये के रेट से सिम का सौदा हो रहा था। वासिफ ने रितिक राज को यह भी बताया था कि शकील दिल्ली के न्यू अशोक नगर का रहने वाला है जिसकी दिल्ली में ही फास्ट टेंग ट्रेवलर के नाम से एजेन्सी है। यह सिम कार्ड व बैंको के एटीएम कार्ड अपने जानने वाले साहिल को दुबई पहुचाता है। साहिल दुबई मे रहता है। वासिफ व शकील से सिम व एटीएम लेकर फर्जी यूपीआई व फर्जी एकाउण्ट तैयार कराता है फिर इन्हीं सिम कार्ड के मदद से आनॅलाईन गेमिंग एप्लीकेशन तीन पत्ती, फ्री फायर आदि से जोडकर लोगों से ठगी करता है।  

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT