यूपी का डॉक्टर डेथ गिरफ्तार, 250 मरीजों के दिल से खिलवाड़, दिल में लगा दिए नकली पेसमेकर

ADVERTISEMENT

जांच में जुटी पुलिस
जांच में जुटी पुलिस
social share
google news

इटावा से अमित तिवारी की रिपोर्ट

UP Crime News: सैफई के उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय, सैफई में तैनात कार्डियोलॉजिस्ट प्रोफेसर डॉ समीर सर्राफ को सैफई पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। डॉ समीर सर्राफ पर संगीन इल्जाम लगें हैं। डॉ सर्राफ पर वित्तीय अनियमितता, मेडिकल यूनिवर्सिटी में मेडिकल उपकरण खरीदने में धांधली और मरीजों को ब्रांडेड कंपनी के नाम पर पैसे वसूल करके सस्ती कंपनियों के पेसमेकर लगाने के आरोप लगे हैं।

250 मरीजों को लगा दिए नकली पेसमेकर

आपको बता दें कि प्रोफेसर डॉ समीर सर्राफ हार्ट के स्पेशलिस्ट डॉक्टर हैं। सैफई में हृदय रोगी मरीजों को ऑपरेशन करके पेस मेकर लगाते हैं। सैफई पुलिस ने दोषी पाए जाने पर गंभीर धाराओं में मामला पंजीकृत करके जेल भेज दिया है। दरअसल ये मामला फरवरी 2022 का है। यहां कुछ मरीजों ने पुलिस में जाकर डॉक्टर समीर के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी, जिसमें कहा गया था की उनके हृदय का ऑपरेशन करके नकली पेसमेकर लगा दिया गया है।

ADVERTISEMENT

करोड़ों के घोटाले का आरोप

शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने सैफई थाने की पुलिस ने 17/22 में धारा 7, 8, 9, 13 में मुकदमा पंजीकृत किया था। पुलिस जांच में पाया गया कि डॉक्टर समीर सर्राफ ने कंपनियों के साथ समझौता करके उनके दिल में सस्ते पेसमेकर लगा दिए। ये पेस मेकर करीब ढाई सौ मरीजों को लगाए गए। इतना ही नहीं साथ-साथ उस समय के सीएमएस डॉक्टर आदेश ने भी सर्राफ के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी। शिकायत में कहा गया था कि डॉक्टर समीर ने लगभग ढाई करोड रुपए का घोटाला किया। 

मरीज की हो गई मौत

सर्राफ ने कंपनियों के दिए पैसे से डॉक्टर ने 8 देश की विदेश यात्राएं भी की थीं। इन सभी मामलों पर अधिकारियों के द्वारा जांच में डॉक्टर समीर दोषी पाए जाने पर सैफई पुलिस ने विभिन्न धाराओं में इजाफा करते हुए 467, 468, 471 की वृद्धि करते हुए गिरफ्तार कर लिया। दरअसल इटावा की 46 वर्षीय रेशमा जो हृदय रोग से पीड़ित थीं उन्होंने भी दिल में पेसमेकर डलवाया था। 2 महीने बाद ही उनको दिक्कत हुई थी जब उन्होंने दूसरे डॉक्टर को दिखाया तो पता चला की डुप्लीकेट पेसमेकर की वजह से उन्हें कठिनाई हुई और उसके बाद उनकी मृत्यु हो गई। 

ADVERTISEMENT

डुप्लीकेट पेसमेकर की वजह से मौत

रेशमा के पति एडवोकेट ताहिर अंसारी ने बताया कि मेरी पत्नी मौत के मुंह में जाने वाली थी सैफई के ट्रामा सेंटर में भर्ती करवाया गया था उस समय चार दिन भर्ती रहने के बाद कहा कि इनका ब्रेन काम करना बंद कर दिया है। उसके बाद हम लोग दिल्ली ले गए वहां 15 दिन उपचार करवाया, उसे पेसमेकर की गड़बड़ी की वजह से मेरी पत्नी का ब्रेन भी खराब हो गया, वह व्हीलचेयर पर आ गई और फिर उसके बाद उनकी मृत्यु हो गई।

ADVERTISEMENT

 

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...