अपनी रातों को रंगीन बनाने के लिए Boyfriend के साथ करती थी खून का काला धंधा, एक सनसनीखेज खुलासा

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Muzaffarpur: कहते हैं इश्क में सब जायज है लेकिन मुजफ्फरपुर की पुलिस उस वक्त बुरी तरह हैरत में पड़ गई जब उसने इश्क में पड़े बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड को उनके काले कारोबार के सबूत संग रंगे हाथ पकड़ा। खुलासा हुआ कि बॉयफ्रेंड और गर्ल फ्रेंड मिलकर खून का काला कारोबार करते थे। ब्लड बैंक के कर्मचारियों के साथ मिली भगत से ये दोनों गरीब और जरूरतमंद लोगों से दो-ढाई हजार रुपये में ब्लड (Blood) लेते और फिर उसे मुसीबत में घिरे लोगों को आठ से दस हजार रुपये में बेच देते थे। 

पुलिस के Radar पर 

पुलिस ने ब्लड (Blood) के इस काले धंधे में शामिल दोनों की पहचान मोहम्मद इमरान और मुस्कान परवीन के तौर पर की है। इन दोनों को पुलिस ने शहर के एक ब्लड बैंक के पास से गिरफ्तार किया। दोनों के पास मिले मोबाइल डिटेल और पूछताछ के बाद अब पुलिस के रडार पर ब्लड बैंक कर्मचारियों समेत कई लोग आ गए हैं। दोनों की गिरफ्तारी के बाद लाल खून के काले कारोबार पर बड़ा खुलासा हो गया।

Girlfriend समेत पकड़ा गया Mastermind

सिटी एसपी अवधेश दीक्षित ने जानकारी देते हुए खुलासा किया कि मुजफ्फरपुर पुलिस ने खून का काला धंधा करने वाले एक बड़े गिरोह के मास्टर माइंड को पकड़ा है। बकौल पुलिस ये दोनों शहर के कई निजी अस्पताल से लेकर SKMCH मेडिकल कॉलेज तक अपना धंधा चला रहे थे। इस धंधे में शामिल मो. इमरान अपनी प्रेमिका मुस्कान परवीन की मदद से ये कारोबार कर रहा था। ज्यादातर इन दोनों के निशाने पर होती थीं भोली-भाली महिलाएं जिन्हें परवीन अपने जाल में फंसाकर उनकी जरूरत के मुताबिक मोटी रकम वसूल करती थी। अब पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद आगे की पूछताछ में दोनों से धंधे को लेकर नये खुलासे होने की उम्मीद है।

ADVERTISEMENT

मौज मस्ती के लिए शुरू किया काला धंधा

पुलिस के मुताबिक शुरु-शुरू में ये दोनों अपनी मौज मस्ती के चक्कर में पैसा कमाने के लिये इस धंधे में आए थे। लेकिन जब इसमें इन्हें बेहिसाब कमाई होती दिखी तो ये लोग इस धंधे को जमकर करने लगे। SKMCH से पकड़े गए आरोपी मो. इमरान के मोबाइल से मिले सबूतों से पता चलता है कि ये दोनों कई निजी अस्पताल के साथ ही SKMCH मेडिकल कॉलेज और कई निजी ब्लड बैंक के लोगों का एक ग्रुप बनाकर ब्लड की सप्लाई और लेन-देन करते थे। ये लोग जरूरतमंदों से खून इकट्ठा कर इसके एवज में मोटी रकम वसूलते थे। इस गोरखधंधे में ब्लड बैंक के कई कर्मी भी मिले हुए थे जिन्हें इस काम के लिये कमीशन मिलता था।

जरूरतमंद होते थे Target पर

पुलिस की जांच में पता चला है कि खून का ये काला कारोबार खुद मुख्य सरगना मो. इमरान ऑपरेट करता था, जबकि उसकी गर्लफ्रेंड मुस्कान परवीन महिला मरीज और महिला जरूरतमंदों से संपर्क किया करती थी। दोनों अपने-अपने टारगेट को पूरा करने के बाद एक खास हिस्सा बांट लिया करते थे और दोनों अगले दिन के टारगेट भी तय करते थे। पुलिस के हत्थे चढ़ी महिला आरोपी मुस्कान परवीन शहर में इलाज करवाने के लिए आने वाले मरीजों या फिर उनकी महिला अटेंडेंट से संपर्क करने के बाद उनकी जरूरत के मुताबिक अलग-अलग ग्रुप के ब्लड का इंतजाम किया करती थी। पुलिस इस मामले में उनके सम्पर्क में आए तमाम लोगों से पूछताछ कर रही है।
 

ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT