टिम पेन ने छोड़ी ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम की कप्तानी, अश्लील मैसेज भेजने का लगा था आरोप

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Australia captain Tim Paine : एशेज सीरीज से पहले ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम को तगड़ा झटका लगा है। टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उपकप्तान पैट कमिंस के अब एशेज में कप्तानी की भूमिका निभाने की उम्मीद है। यह मामला 2017 का है, जिसके कुछ महीने बाद ही पेन को सात साल बाद टेस्ट टीम में वापसी का मौका मिला था। उस समय क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और क्रिकेट तस्मानिया की जांच में पेन को क्लीन चिट मिली थी।

ऑस्ट्रेलिया को कुछ दिन बाद ही चिर प्रतिद्वंद्वी इंग्लैंड से एशेज सीरीज खेलनी है। पहला टेस्ट 8 दिसंबर से ब्रिस्बेन में खेला जाएगा। पेन ऑस्ट्रेलियाई टीम का हिस्सा बने रहेंगे। बोर्ड ने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया है और अगले टेस्ट कप्तान की तलाश जारी है। टिम पेन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, 'हमने सोचा कि यह मामला अब खत्म हो गया है और मैं पूरा फोकस टीम पर रख सकता हूं, लेकिन मुझे हाल ही में पता चला कि निजी मैसेज सार्वजनिक हो गए हैं। 2017 में मेरी वह हरकत ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट कप्तान बने रहने के लिए जरूरी मानदंडों के अनुकूल नहीं है।’ उन्होंने कहा, ‘अपनी पत्नी, परिवार और अन्य पक्षों को दर्द देने के लिए मैं क्षमाप्रार्थी हूं। इससे खेल की साख तो ठेस पहुंचाने के लिए भी मैं माफी मांगता हूं।’ पेन ने कहा, ‘मेरे लिए यही सही है कि कप्तानी से तुरंत प्रभाव से इस्तीफा दे दूं। मैं नहीं चाहता कि एशेज सीरीज से पहले तैयारी में किसी तरह का व्यवधान पैदा हो। मैं आस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम का समर्पित सदस्य बना रहूंगा।’

36 साल के टिम पेन के कप्तानी छोड़ने के पीछे की वजह कथित सेक्स स्कैंडल है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक टिम पेन ने साल 2017 में क्रिकेट तस्मानिया की एक कमर्चारी को अपनी अश्लील फोटो भेजी थी। साथ ही, उन्होंने आपत्तिजनक मैसेज भी भेजे थे। अब यह मामला उजागर होने के बाद टिम पेन को एशेज सीरीज से पहले कप्तानी छोड़नी पड़ी है। रिपोर्ट के अनुसार क्रिकेट तस्मानिया की एक महिला कर्मचारी ने दावा किया है कि पेन ने उन्हें अश्लील मैसेज भेजे। उस महिला ने 2017 में ही नौकरी छोड़ दी थी।

ADVERTISEMENT

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया का ये बयान

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख रिचर्ड फ्रेडेन्स्टेन ने कहा कि यह पेन का अपना फैसला है। उन्होंने कहा, ‘टिम को लगा कि उसके परिवार और ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट के लिए यही सही है।’ क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने एक बयान में कहा, ‘बोर्ड मानता है कि कुछ साल पहले इस मामले में पेन को क्लीन चिट मिल चुकी है, लेकिन हम उसके फैसले का सम्मान करते हैं। इस तरह की भाषा या बर्ताव स्वीकार्य नहीं है। इस गलती के बावजूद पेन बेहतरीन कप्तान रहे हैं और उसकी सेवाओं के लिए हम उन्हें धन्यवाद देते हैं।’

ADVERTISEMENT

टिम पेन 2018 में बने थे कप्तान

ADVERTISEMENT

टिम पेन को 2018 में दक्षिण अफ्रीका में गेंद से छेड़छाड़ मामले के बाद ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम का कप्तान बनाया गया था। उन्हें स्टीव स्मिथ की जगह 46वां ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट कप्तान नियुक्त किया गया था। उन्होंने 2019 एशेज सीरीज के दौरान टीम की कप्तानी की, जहां ऑस्ट्रेलिया ने 18 वर्षों में पहली बार विदेशी जमीं पर इस प्रतिष्ठित ट्रॉफी को बरकरार रखा था। पुरुषों की एशेज अगले महीने शुरू होने जा रही है, जब ऑस्ट्रेलिया 8 दिसंबर को ब्रिस्बेन में इंग्लैंड की मेजबानी करेगा। टिम पेन ने कुल 23 टेस्ट मैचों में ऑस्ट्रेलियाई टीम की कप्तानी की। इस दौरान कंगारू टीम को 11 मैचों में जीत और आठ में हार का सामना करना पड़ा। वहीं चार मैचों का नतीजा नहीं निकला। पेन की कप्तानी में ऑस्ट्रेलियाई टीम की जीत का प्रतिशत 47.82 रहा।

जब क्रिकेट की पिच पर विकेट नहीं खिलाड़ी गिरने लगे! खून-खून हो गई पिचपूर्व क्रिकेटर युवराज सिंह 'आउट' युजवेंद्र चहल पर जातिगत टिप्पणी मामले में पूर्व क्रिकेटर युवराज सिंह गिरफ्तार

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT