Tihar: तिहाड़ जेल में कैदियों की मौत का सिलसिला जारी, जेल प्रशासन कटघरे में

ADVERTISEMENT

tihar jail
tihar jail
social share
google news

Tihar Jail: एशिया की सबसे सुरक्षित जेल में कैदियों में मौत का सिलसिला जारी है। 3 दिन के अंदर फिर दो कैदियों की संदिग्ध मौत हो गई है। जेल प्रशासन का दावा है कि दोनों ने सुसाइड किया है।

3 जून को तिहाड़ के जेल नंबर -3 में उम्र कैद की सजा काट रहे मोहम्मद नूर जमाल की लाश कॉमन टॉयलेट एरिया में मिली। तिहाड़ स्टाफ के मुताबिक, मोहम्मद नूर ने सुसाइड किया है। वो डिप्रेशन में था। 1 जून को दिल्ली के मंडोली जेल में अंडर ट्रायल कैदी मुस्तकिम जेल नंबर-13 में बेहोशी की हालत में मिला। मुस्तकिम ने जहरीला पदार्थ खा लिया था। उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

Tillu Tajpuria: टिल्लू ताजपुरिया की हत्या के 19 दिन पहले 14 अप्रैल को गैंगस्टर प्रिंस तेवतिया की हत्या कर दी गई थी, जिसकी जांच स्पेशल सेल कर रही है। 22 मई को जेल में जावेद नाम के कैदी की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई थी। जेल प्रशासन का दावा था कि बाथरूम में उसने सुसाइड किया था। 26 मई को इमरान नाम के कैदी की मौत हुई थी। जेल प्रशासन का दावा, इमरान ने बाथरूम में सुसाइड किया था। 29 मई को जेल नंबर-1 में गैंगवार हुई थी। जेल में चाकू बनाकर एक दूसरे पर हमला किया था। हमले में दो कैदी घायल हुए थे।

ADVERTISEMENT

Tihar Jail Updates : यानी तिहाड़ जेल में मौतों का सिलसिला जारी है। 2 मई को गैंगस्टर टिल्लू ताजपुरिया की हत्या का सीसीटीवी पूरे देश ने देखा था कि किस तरह तीन कैदियों ने टिल्लू की जेल में बने चाकुओं से जेल प्रशासन की मौजूदगी में हत्या की थी। ये मामला कोर्ट पहुंचा था। जेल प्रशासन पर कई सवाल खड़े हुए थे। हत्याकांड के बाद डीजी तिहाड़ ने 8 जेल कर्मियों को सस्पेंड कर दिया था। बाद में डीजी तिहाड़ ने पहले 80 फिर 99 जेल स्टाफ का ट्रांसफर कर दिया। डीजी तिहाड़ ने सभी जेल में बर्ड नेट (जाल लगाया, ताकि ड्रग और मोबाइल जेल में न पहुंच पाए) लगवाया। QRT टीम बनाई गई, बावजूद इसके तिहाड़ जेल की बदहाली में कोई सुधार नहीं आ रहा है। 

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT