दिल्ली के स्कूल को फिर मिली बम से उड़ाने की धमकी, पुलिस ने किया ट्रेस, नाबालिग को पकड़ा

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Delhi Bomb Threat Again: दिल्ली में एक बार फिर खलबली मच गई। एक बार फिर एक स्कूल को बम से उड़ाने की धमकी मिली है। हैरानी की बात ये है कि इस बार धमकी भरा ईमेल दिल्ली पुलिस के कमिश्नर की ऑफिशियल मेल आईडी पर आया है। अभी बुधवार को आई बम की दहशत थमी भी नहीं थी कि महज 24 घंटे के बाद ही एक और नए धमकी भरे मेल ने पूरी दिल्ली में सनसनी फैला दी है। पुलिस का कहना है कि ईमेल भेजने वाले के बारे में जानकारी हो गई है। अधिकारियों ने बताया कि आरोपी नाबालिग है। इस मामले में Juvenile Justice Act के तहत कार्रवाई की जा रही है

मेल मिलते ही पुलिस हरकत में

मेल के मिलते ही पुलिस फौरन हरकत में आई और मौके की छानबीन के लिए दिल्ली पुलिस की कई टीमों को भेजा गया है। हालांकि अभी तक इस छानबीन में पुलिस के हाथ कुछ भी नहीं लगा। इससे पहले बुधवार को जो धमकी भरा मेल आया था उसमें दिल्ली और एनसीआरके करीब 200 स्कूलों को बम से उड़ाने की धमकी मिली थी। 

पुलिस कमिश्नर के मेल आईडी पर आई धमकी

दिल्ली पुलिस के सूत्रों से पता चला है कि दिल्ली पुलिस कमिश्नर संजय अरोड़ा की ऑफिशियल मेल आईडी पर यह धमकी आई। यह मेल 2 मई को सुबह 10 बजे आया। धमकी भरा यह मेल सिराज नाम की आईडी से किया गया था जिसमें लिखा था, 'ठीक 2:18 पर नांगलोई रेलवे स्टेशन के पास स्कूल में बम फटेगा, देखते जा हमारे अल्लाह का ऑर्डर है। जब इस मेल की जांच की गई तो पाया गया कि यह धमकी सरासर फर्जी है। जिस स्कूल का जिक्र ईमेल में था वहां कुछ भी संदिग्ध नहीं पाया गया। सूत्रों के मुताबिक यह किसी सिरफिरे की करतूत लगती है। फिलहाल, पुलिस मेल भेजने वाले शख्स और ईमेल के सोर्स का पता लगाने की कोशिश में जुटी है।

ADVERTISEMENT

200 स्कूलों को दी गई थी धमकी

इससे पहले बुधवार को दिल्ली एनसीआर के 150-200 स्कूलों को बम से उड़ाने की धमकी मिली थी जिससे हर तरफ दहशत फैल गई थी। इस मामले में दिल्ली पुलिस ने ई-मेल के सटीक स्रोत का पता लगाने के लिए गुरुवार को रूसी मेल सेवा कंपनी मेल.आरयू से इंटरपोल के माध्यम से संपर्क किया। दिल्ली पुलिस ने इंटरपोल के जरिए सूचना हासिल करने के लिए CBI को भी पत्र लिखा है। ईमेल मिलने के बाद से ही पुलिस ने सभी स्कूलों में जाकर सर्च ऑपरेशन को अंजाम दिया। 

धमकी भरे ईमेल का मकसद दहशत फैलाना

इस मामले में दर्ज की गई FIR में कहा गया है कि स्कूलों को बम से उड़ाने की धमकी वाले ई-मेल का इरादा बड़े पैमाने पर दहशत पैदा करना है। इस सिलसिले में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। हालांकि बुधवार को स्कूलों को उनके परिसरों में बम रखे होने की धमकी भरा ईमेल मिलने के बाद पुलिस ने सभी स्कूल परिसरों की जांच की थी लेकिन वहां से कुछ भी नहीं मिला था। हालांकि दिल्ली-एनसीआर के स्कूलों में बम होने की धमकी मिलने की खबर जैसे ही फैली तो अभिभावकों और छात्रों में दहशत फैल गई थी। बम होने की अफवाह के बाद स्कूलों को कक्षाएं निलंबित करनी पड़ीं और अभिभावकों से अपने बच्चों को स्कूलों से ले जाने के लिए कहा गया। 

ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT