Eid की खुशियां मातम में तब्दील, जालौन में महिला और उसके दो मासूम बच्चों की मौत

ADVERTISEMENT

The happiness of Eid turned into mourning
The happiness of Eid turned into mourning
social share
google news

Jalaun Crime News: जालौन ज़िले के उरई कोतवाली क्षेत्र में घास -फूस का छप्पर गिरने से उसके नीच दबकर एक महिला और उसके मासूम बेटे-बेटी की मौत हो गयी। पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी।

पुलिस के अनुसार हादसे में गंभीर रूप से घायल एक अन्य महिला का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है। पुलिस को इस घटना की सूचना दिये बिना तीनों मृतकों को दफनाया गया, जिसकी जांच में पुलिस जुटी है।

सूत्रों ने बताया कि कोतवाली उरई क्षेत्र के मोहल्ला लहरिया पुरा में साबिया (25) अपने मायके आई हुई थी तथा शुक्रवार की रात में वह अपने पिता साबिर के छप्पर के घर में अपने तीन वर्ष के बेटे शाहरुख एवं छह माह की बेटी एवं अपनी मां नूरजहां (50) के साथ सो रही थी।

ADVERTISEMENT

सूत्रों ने बताया कि तेज हवा के कारण शनिवार तड़के क़रीब साढ़े चार बजे छप्पर गिर गया। चीखने चिल्लाने की आवाज सुनकर मोहल्ले के लोग आ गए और छप्पर में दबे सभी को बचाने का प्रयास किया। गंभीर रूप से घायलों को जिला अस्पताल पहुंचाया जहां पर इलाज के दौरान साबिया, उसका तीन वर्षीय बेटा शाहरुख तथा छह माह की बेटी की मृत्यु हो गई। उसकी माँ नूरजहां का जिला अस्पताल उरई में उपचार चल रहा है।

उरई के क्षेत्राधिकारी (सीओ) गिरजा शंकर त्रिपाठी ने इस घटना की पुष्टि की है। उन्होंने यह भी बताया कि पुलिस को सूचित किये बिना ही मृतकों को दफना दिया गया है। सीओ ने कहा कि घटना की सूचना किसी अज्ञात व्यक्ति ने पुलिस को दी और पूरी घटना की जांच भी की जा रही है।

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...