कठुआ आतंकी हमले में CRPF जवान शहीद, सिविलियन की मौत, दो आतंकी ढेर

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Kathua, Jammu and Kashmir: जम्मू कश्मीर में रियासी से शुरू हुआ आतंकी हमलों का दौर थम नहीं रहा। ताजा घटना मंगलवार रात की है जब आतंकवादियों ने कठुआ के हीरानगर में सैदा सुखाल गांव में फायरिंग की और सुरक्षा बलों पर ग्रेनेड से हमला कर दिया। इस फायरिंग में एक सिविलियन जख्मी हो गया जबकि आतंकियों के साथ मुठभेड़ में एक सीआरपीएफ (CRPF) जवान शहीद हो गया। जवाबी कार्रवाई में सुरक्षा बलों ने दोनों आतंकवादियों को मार गिराया। दोनों ही आतंकी सीमा पार पाकिस्तान से आए बताए जाते हैं। 

Hiranagar में घिरे आतंकी

जम्मू जोन के एडीजी आनन्द जैन के मुताबिक सीमा पार कर दोनों आतंकी रात 8 बजे के आसपास सैदा सुखाल गांव पहुंचे जहां उन्होंने स्थानीय गांव वालों से पानी मांगा। गांव वालों ने इसकी खबर पुलिस को दी जिसके बाद स्थानीय एसएचओ और सब डिवीजनल पुलिस अफसर  (SDPO) आनन फानन में मौके पर पहुंच गये। पुलिस को देख आतंकवादियों ने उन पर ग्रेनेड से हमला करने की कोशिश की मगर जवाबी कार्रवाई में एक आतंकी मौके पर ही ढेर कर दिया गया। दूसरा आतंकी भाग कर पास के जंगलों में छिप गया था लेकिन बुधवार सुबह चले ऑपरेशन में सुरक्षा बलों ने उसे भी मार गिराया।

सीमा पार से आए Terrorist

सेना के अधिकारियों के मुताबिक मारे गये पहले आतंकी के बैकपैक से इंडियन करेंसी में एक लाख रुपये, तीन ग्रेनेड, मैगजीन, 100 राउंड से ज्यादा कारतूस, मोबाइल हैंडसेट, बैट्रियांदवाइयां और इंजेक्शन, खाने के लिये ड्राय फ्रूट, पाकिस्तानी ब्रांड की चॉकलेट वगैरह मिले हैं। इससे पता लगता है कि ये आतंकी भारत में लंबे समय तक रहने की प्लानिंग के साथ आए थे। सेना ने मुठभेड़ में मारे गये दोनों आतंकियों की पहचान कर ली है मगर एजेंसियों का अंदाजा है कि मंगलवार रात सीमा पार से आए आंतिकियों की कुल संख्या चार हो सकती है। लिहाजा जंगलों में कॉम्बिंग ऑपरेशन अब भी जारी है।

ADVERTISEMENT

पानी तक को तरस गए आतंकी

एडीजीपी अनंत जैन ने बताया कि आतंकियों को मंगलवार शाम हीरानगर सेक्टर में कूटा मोड़ के पास सैदा सुखल गांव के पास घेरा गया था। यहां दो हथियारबंद आतंकियों ने गांव के कुछ घरों से पानी मांगा। मगर गांव की महिला को आतंकियों पर शक हो गया और उसने उन्हें पानी देने से इनकार कर दिया। उल्टा गांव वालों ने संदिग्ध आतंकियों के मूवमेंट की जानकारी पुलिस को दे दी जिसके चलते उन्हें फौरन ट्रेस कर लिया गया।

बौखलाहट में Firing

इसके बाद आतंकी ओंकार नाम के शख्स के घर पहुंचे और दरवाजे पर पहुंचते ही ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। इस हमले में ओंकार जख्मी हो गया। बौखलाए आतंकियों ने इस घटना के बाद घटनास्थल पर पहुंचे DIG और SSP रैंक के पुलिस अधिकारियों की गाड़ी पर भी फायरिंग की जिसमें दोनों सीनियर अफसर बाल बाल बच गये। यहां बाइक से जा रहे एक दंपति को भी आतंकियों ने निशाना बनाने की कोशिश की लेकिन वो किसी तरह बच गए। इसके बाद आतंकी अंधेरे का फायदा उठाकर जंगल की ओर चले गए।

ADVERTISEMENT

पुलवामा पर एक बार फिर निशाना

इसी बीच सुरक्षा बलों को पुलवामा (Pulwama) में एक बड़ा IED (Improvised Explosive Device) बरामद हुआ है। ये वही जगह है जहां फरवरी 2019 में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ (CRPF) के 44 जवान शहीद हो गए थे। इस बार यहां 6 किलो विस्फोटक बरामद होने से सनसनी फैल गई है। पुलवामा में मिले विस्फोटक के बाद तमाम खुफिया एजेंसियों ने पुलवामा और उसके आस पास सर्च ऑपरेशन तेज कर दिया है। 

ADVERTISEMENT

 

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT