पाकिस्तान में Target Killing, भारत का एक और दुश्मन हुआ ढेर, ISI के एजेंट को घेरकर मारी गई गोली

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Pakistan Killing: पाकिस्तान में टारगेट किलिंग का सिलसिला अब पहले से और भी ज्यादा तेज हो गया है। सबसे गौर करने वाला पहलू ये है कि पाकिस्तान में ये जो टारगेट किलिंग है उसमें मरने वाले ज्यादातर वो लोग हैं जो भारत के अमन चैन के दुश्मन हैं। सच कहा जाए तो पाकिस्तान में एक-एक करके भारत के दुश्मन मौत के घाट उतारे जा रहे हैं। सबसे ताजा किस्सा ये है कि पाकिस्तान की सरजमीं से एक और भारत के दुश्मन का चुपके से खात्मा हो गया। जी हां, पाकिस्तान आर्मी का रिटायर्ड ब्रिगेडियर और ISI एजेंट आमिर हमजा अब मौत की नींद सो चुका है।

गोली मारकर हत्या

बताया जा रहा है कि पाकिस्तान के पंजाब में सोमवार की देर शाम आमिर हमजा की गोली मारकर हत्या कर दी गई। हालांकि अभी तक ये बात साफ नहीं हो सकी कि आखिर इन हमलों के पीछे असल में कौन है। आमिर हमजा के बारे में कहा जाता है कि पाकिस्तानी फौज में वो ब्रिगेडियर के पद पर रह चुका भारत का ऐसा दुश्मन था जिसे भारत में अमन नाकाबिले बर्दाश्त था। कहा जाता है कि उसने भारत में घुसपैठ करने वाले अनगिनत आतंकियों के लिए पाकिस्तान में खुफिया पनाहगाह तैयार करवा रखी थीं। 

पुलिस को लगा ये Target Killing

अब तक का खुलासा यही है कि आमिर हमजा को मौत की नींद सुलाने वाले को लेकर पाकिस्तान में कई तरह की खबरें हवा में तैर रही हैं। कुछ लोग इसे हमजा के साथ किसी की निजी रंजिश का हवाला दे रहे हैं, जबकि हमजा की पत्नी और बेटी ने पुलिस के सामने ये बात कही है कि ISI के अफसर रह चुके आमिर हमजा का कोई निजी दुश्मन नहीं था। पाकिस्तान की पुलिस का अंदाजा है कि ये एक टारगेट किलिंग है। पुलिस की शुरुआती तफ्तीश के मुताबिक आमिर हमजा पर ये हमला उस वक़्त हुआ जब वो झेलम जिले में अपनी कार से कहीं जा रहे थे।

ADVERTISEMENT

Bike पर सवार थे चार हमलावर

बताया जा रहा है कि झेलम जिले में लीला इंटरचेंज पर जैसे ही हमजा की कार पहुंची तो दो मोटरसाइकिल पर चार सवार लोगों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दीं। पुलिस के मुताबिक हमलावर मौके से तब फरार हुए जब उन्हें यकीन हो गया कि उनका टारगेट पूरी तरह से मौत के घाट उतर चुका है। 
पाकिस्तानी आर्मी से रिटायरमेंट से पहले वह पाकिस्तानी इमरजेंसी सर्विस एकेडमी का डायरेक्टर जनरल था।

हमजा के भाई पर शक

पाकिस्तान पुलिस को शक है कि आमिर हमजा की इस हत्या में उसके भाई का हाथ भी हो सकता है। दरअसल पाकिस्तान की पुलिस को हमजा की पत्नी और बेटी ने बताया कि जब आमिर हमजा अपनी कार से जा रहे थे तो बाइक पर सवार होकर उनका भाई अयूब पीछे पीछे जा रहा था। इससे पुलिस को शक है कि इस किलिंग में उसका भी हाथ हो सकता है। 

ADVERTISEMENT

भारत पर हमले का Mastermind

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबरों के मुताबिक ISI के एजेंट रहे आमिर हमजा असल में भारत के जम्मू कश्मीर के सुंजवान आर्मी कैंप पर 2018 में हुए आतंकी हमले का मास्टरमाइंड था। उस हमले में भारत की सेना के छह जवान शहीद हो गए थे। इसी हमले में आमिर हमजा का एक और साथी लश्कर का कमांडर ख्वाजा शाहिद उर्फ मियां मुजाहिद को भी LoC के पास POK में मार डाला गया था। उसका सिर कलम किया गया था। पाकिस्तान की पुलिस के मुताबिक हमलावरों ने जिस वक़्त आमिर हमजा पर गोली बरसाई उस वक्त कार में हमजा की पत्नी और बेटी भी मौजूद थी। उन दोनों को भी गंभीर चोटें आई हैं। फिलहाल पुलिस आरोपियों की तलाश में नाकाबंदी करके छानबीन कर रही है। 
 

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...