सांसद स्वाति मालीवाल ने दी दिल्ली पुलिस को लिखित शिकायत, सीएम केजरीवाल के पीए विभव पर एफआईआर दर्ज

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Swati Maliwal: राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल ने दिल्ली पुलिस को अपना बयान दे दिया है। स्वाति मालीवाल ने लिखित शिकायत दी है। सूत्रों के मुताबिक, पूर्व डीसीडब्ल्यू प्रमुख मालीवाल ने दिल्ली पुलिस टीम के साथ मारपीट मामले में अपना बयान दर्ज कराया है। करीब साढ़े चार घंटे तक दिल्ली पुलिस की टीम उनके घर पर मौजूद थी। एडिश्नल सीपी प्रमोद कुश्वाहा और एडिश्नल डीसीपी North District पहुंचे थे। स्वाति मालीवाल के साथ सीएम हाउस में बदसलूकी हुई थी। आरोप लगा था केजरीवाल के निजी सचिव बिभव कुमार पर। इसको लेकर मालीवाल  ने पीसीआर कॉल की थी, लेकिन थाने में जाकर कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई थी। शुरुआत से ही इस मामले को लेकर दिल्ली पुलिस पर सवाल खड़े हो रहे थे कि आखिर दिल्ली पुलिस खुद से ही बयान क्यों रिकॉर्ड नहीं कर रही है? अब पुलिस की नींद टूटी है और पुलिस की टीम ने स्वाति का बयान रिकॉर्ड किया है। पुलिस ने विभव के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है।

दिल्ली पुलिस ने क्यों बदली रणनीति?

सवाल ये भी कि अचानक आज दिल्ली पुलिस की रणनीति क्यों बदल गई? कल तो जो पुलिस ये कह रही थी कि उन्हें स्वाति की शिकायत का इंतजार है, आज वो खुद उनका बयान रिकॉर्ड करने के लिए उनके घर पहुंच गई। क्या स्वाति ने दिल्ली पुलिस के अधिकारियों को फोन करके बुलाया या दिल्ली पुलिस के अधिकारी खुद ही बयान रिकॉर्ड करने पहुंच गए? ये साफ नहीं है। इससे पहले आज सुबह केजरीवाल के साथ लखनऊ में उनके पीए बिभव कुमार नजर आए। संवाददाता सम्मेलन में केजरीवाल से स्वाति को लेकर सवाल भी पूछा गया, लेकिन उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। इसको लेकर जमकर राजनीति भी हो रही है। बीजेपी ने इस मुद्दे को लेकर प्रदर्शन भी किया था। 

क्या था पूरा मामला? 

दिल्ली सीएम हाउस के अंदर से 13 मई को पुलिस को करीब 9:30 बजे PCR कॉल मिली थी। कॉलर ने कहा, 'मैं स्वाति मालीवाल बोल रही हूं, उन्होंने अपने पीए से मुझे पिटवाया है।' उस वक्त मनोज मीना, DCP NORTH की तरफ से जारी स्टेटमेंट में कहा गया था, "आज सुबह 9:34 बजे पीएस सिविल लाइंस में एक पीसीआर कॉल आया, जिसमें एक महिला ने कहा कि उसके साथ सीएम हाउस में मारपीट की गई है। कुछ देर बाद सांसद मैडम थाना सिविल लाइंस आईं, लेकिन बाद में शिकायत देने की बात कहकर चली गईं।" तब से ही पुलिस शिकायत का इंतजार कर रही थी, लेकिन आज उनकी रणनीति बदल गई और दो सीनियर अधिकारी स्वाति के घर पहुंच गए। इसके बाद स्वाति ने लिखित शिकायत दी। 

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT