सुकेश जेल से करता था जैकलीन से बात! खुलासा होने के बाद कोर्ट ने जेल प्रशासन से जवाब मांगा

ADVERTISEMENT

 Jacqueline fernandez
Jacqueline fernandez
social share
google news

संजय शर्मा, अरविंद ओझा के साथ चिराग गोठी की रिपोर्ट

Sukesh Chandrasekhar Jacqueline fernandez News: दिल्ली की जेल से 500 करोड़ की ठगी को अंजाम देने वाले महाठग सुकेश चंद्रशेखर का सबसे बड़ा 'स्कैंडल' सामने आया है। सुकेश कभी जेल तो कभी कोर्ट से भी जैकलीन को लगातार मैसेज कर रहा था और जैकलीन ने इसकी शिकायत कोर्ट से की थी।

30 जून को सुकेश ने जैकलीन से कहा कि आज तुम्हारी वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए पेशी होगी, तुम कोर्ट में ब्लैक सूट पहनकर आना। उसी दिन उसने जैकलीन को कहा कि प्रिंसेज तुम रॉक स्टार हो, मगर जैकलीन काला सूट पहनकर नहीं आई तो सुकेश नाराज हुआ। जब जैकलीन उसे नजरअंदाज करने लगी तो 5 जुलाई को उसने मैसेज भेजकर कहा कि तुम नए घर में शिफ्ट हो रही हो, तुम्हें बधाई। इस मामले में कोर्ट ने पुलिस और जेल प्रशासन से जवाब मांगा है।

ADVERTISEMENT

सुकेश ने दिया चिट्टी का जवाब

सुकेश चंद्रशेखर ने पटियाला हाउस कोर्ट में अर्जी लगाकर जैकलीन फर्नांडिस के उन दावों का खण्डन किया, जो उसने अदालत के सामने खुद को राहत दिलाने के लिए किए थे। जैकलीन ने कहा था कि वो इस मामले में आर्थिक अपराध शाखा की अहम गवाह है, कोई अभियुक्त नहीं, लेकिन सुकेश ने अपनी अर्जी में कहा है कि जैकलीन पीएमएलए के तहत दर्ज मुकदमे में आरोपी है। सुकेश ने कहा, 'ईडी ने पहले और बाद में ईओडब्ल्यू ने उसको आरोपी ही बनाया था, लेकिन बाद में आश्चर्यजनक रूप से जैकलीन को गवाह बना दिया। हैरत की बात है कि उसी आरोप में सभी अभियुक्त अब तक अभियुक्त ही हैं। इससे जांच एजेंसी की निष्पक्षता सवालों के घेरे में आती है। इसका पता ट्रायल में चल जाएगा। इसी वजह से मैंने ये अर्जी लगाई है।'

ADVERTISEMENT

सुकेश ने कहा, 'मीडिया स्टंट के लिए जैकलीन ने अर्जी लगाई है क्योंकि पुलिस हिरासत के दौरान भी जैकलीन ने कई बार मुझसे दरख्वास्त की कि मैं समाज में उसकी छवि के मुताबिक उसकी मर्यादा और गरिमा के बचाव के लिए बयान दूं। कोर्ट उसकी अर्जी को रिकॉर्ड पर ले और 17 जनवरी को सुनवाई के लिए तय जैकलीन की अर्जी पर कोई निर्णय लेने से पहले उसकी बात भी सुने।'

ADVERTISEMENT

सुकेश ने कहा, 'जैकलीन के कहे मुताबिक उसको भेजे अगर मेरे किसी भी पत्र में मुझ पर धमकाने या किसी केस के सिलसिले में दबाव डालने का आरोप सिद्ध हो जाए तो मैं कोई भी सजा भुगतने को तैयार हूं। मैंने तो उसको लिखी चिट्ठी में सिर्फ अपनी भावनाएं, यादें और जज्बात लिखे थे।'

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT