एक और सोशल मीडिया की LOVE STORY ने लांघी सीमा, बांग्लादेश से आई हबीबा ने प्रेमी की बीवी से ये कहा...!

ADVERTISEMENT

सोशल मीडिया पर हुए प्यार का एक और किस्सा सामने आया राजस्थान में रोशन और हबीबा के रुप में
सोशल मीडिया पर हुए प्यार का एक और किस्सा सामने आया राजस्थान में रोशन और हबीबा के रुप में
social share
google news

Social Media Love Story : सबसे पहले पाकिस्तान से सरहद लांघकर सामने आई सीमा हैदर का किस्सा सामने आया, उसके बाद भारत से अंजू के पाकिस्तान जाने की दास्तां निकली, और दूर तलक चली गई। और उसके बाद तो जैसे ऐसे किस्सों की बहार सी आ गई। हर दूसरे दिन कोई न कोई कहानी सामने आने लगी। कभी कोई पोलैंड से आ रहा है तो कोई बांग्ला देश की सरहद से जुड़ी दास्तां सुनाता नज़र आ रहा है। इसी कड़ी में एक और किस्सा सामने आया है। और उसका ताल्लुक भी बांग्लादेश से है। 

बांग्ला देश के ढाका से राजस्थान पहुँची हबीबा उम्मे

ढाका से राजस्थान के अनूपगढ़ का सफर

बांग्लादेश की राजधानी ढाका से एक महिला अपने शादी शुदा प्रेमी से मिलने के लिए राजस्थान के अनूपगढ़ जा पहुँची। यहां भी दोनों के बीच दोस्ती सोशल मीडिया ने करवाई है। और फिर उसी का फैलाया हुआ रायता वहां की पुलिस समेटती फिर रही है। हुआ यूं कि ढाका की रहने वाली एक युवती ने अपने सोशल मीडिया से बने प्रेमी से मिलने के लिए 2200 किमी का सफर तय किया और बाकायदा टूरिस्ट वीजा लेकर वो पहुँच गई राजस्थान के अनूपगढ़। 

टूरिस्ट वीजा पर आई हबीबा

अनूपगढ़ के थाना अधिकारी रमेश कुमार ने बताया कि 30 साल की उम्मे हबीबा उर्फ हनी टूरिस्ट वीजा लेकर राजस्थान पहुँची। इसके अलावा उसके पास 2000 बांग्लादेशी टका भी है। हनी अनूपगढ़ के रावला मंडी के पास एक गांव में रहने वाले रोशन सिंह से मिलने पहुँची थी। लेकिन जब हनी के अचानक इस तरह आने और उसके बाद रोशन सिंह के पड़ोसी ने ये बात पुलिस तक पहुँचाई तो बात काफी आगे बढ़ गई और पुलिस ने दोनों प्रेमी प्रेमिका यानी हनी और रोशन सिंह को थाने में ही बिठा लिया। 

ADVERTISEMENT

हबीबा का पासपोर्ट

3 सितंबर को पहुँची बीकानेर

ये वाकया 3 सितंबर का बताया जा रहा है। हबीबा बीकानेर रेलवे स्टेशन पहुँची और स्टेशन पर लेने उसका प्रेमी रोशन भी आ गया। दो दिन तक तो हबीबा रोशन के ही घर पर रही। लेकिन दो रोज के बाद रोशन के पड़ोस में रहने वाले लोगों में से किसी ने पुलिस को हबीबा के आने की बात बताई। पुलिस ने दोनों यानी हबीबा और रोशन दोनों को थाने बुलवा लिया और पूछताछ शुरू कर दी। पुलिस को रोशन की बहन संतोष कौर ने बताया कि हबीबा 3 सितंबर को शाम को घर आ गई थी। वो ढाका से कोलकाता होती हुई दिल्ली के रास्ते बीकानेर पहुँची। 

दो साल पहले हुई थी रोशन की शादी

उधर रोशन की मां कृष्णा बाई ने बताया कि रोशन की शादी दो साल पहले ही रोजड़ी इलाके की रहने वाली सोमा बाई के साथ हो चुकी है। रोशन को एक सात महीने का बेटा भी है। सोमाबाई 3 सितंबर को सुबह ही सिरसा में पूजा में शामिल होने के लिए गई हुई है। रवीवार को हबीबा घर आई। घरवालों के मुताबिक हबीबा हिन्दी में बात कर रही है, लेकिन उसे पंजाबी समझ में नहीं आती है। अब यहां कहानी में ट्विस्ट ये आ रहा है कि हबीबा वापस बांग्ला देश नहीं जाना चाहती। हबीबा का कहना है कि अब वापस बांग्लादेश जाने से उसकी बहुत बदनामी होगी। उसने पुलिस को बताया है कि वो ढाका की रहने वाली है । 

ADVERTISEMENT

हबीबा का प्रेमी रोशन

घरवाले हबीबा के खिलाफ

रोशन की बहन  संतोष कौर का कहना है कि वो वापस चली जाए। क्योंकि संतोष का कहना है कि वो अपने भाई का घर बसा हुआ देखना चाहती है। जबकि हबीबा का कहना है कि वो अब वापस नहीं जाना चाहती। उसके पास 6 महीने का वैलिड वीजा है। और वीजा के वैलिड रहने तक तो वो यहां रह ही सकती है। संतोष कौन ने पुलिस को बताया कि है उसे हबीबा से पता चला कि उसके भी पांच भाई और एक बहन है। वो सबसे छोटी है। हबीबा  के भाई मजदूरी करते हैं।  

ADVERTISEMENT

प्रेमी की बीवी से कहा साथ रह लेंगे

इस बीच पुलिसको ये भी पता चला है कि रोशन की पत्नी सोमा बाई के साथ हबीबा ने फोन पर बात की।हबीबा ने फोन पर सोमा से कहा कि हम दोनों साथ साथ रह लेंगे। हबीबा ने सोमा से कहा कि हम यहां किसी गलत इरादे से नहीं आई हूं। लेकिन सोमा बाई ने साफ शब्दों में हबीबा से कह दिया कि तुम अपने देश वापस चली जाओ..। 

चौथी पास है रोशन

रोशन सिर्फ चौथी तक पढ़ा है और नरेगा में मजदूरी करता है। रोशन के पिता की मौत एक साल पहले हो गई थी। रोशन की मां और बहनों ने पुलिस और प्रशासन से अपील की है कि वो लोग हबीबा को नहीं रख सकते। उसे वापस उसके देश भेज दिया जाए। 

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...