10 लाख रिश्वत के आरोपों में घिरी इस लेडी सिंघम ने शादी से पहले किया चौंकाने वाला ये दावा

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

सीमा का कहना है कि उसे फंसाया जा रहा है और सीसीटीवी की फुटेज सबके सामने आने पर पूरे मामले का पर्दाफाश हो जाएगा। सीमा पर दस लाख रुपये लेकर एक डोडा पोस्त तस्कर को भगाने का आरोप है। सिरोही पुलिस के आला अधिकारियों के मुताबिक सीमा ने ये पैसे एक होटल में लिए थे जिसका सीसीटीवी फुटेज उन्हें मिला है।

सोशल मीडिया पर खासी सक्रीय रहने वाली सीमा राजस्थान के सिरोही जिले के बरलूट थाने की SHO थीं। सीमा के साथ ही थाने के तीन और पुलिसवालों को भी सस्पेंड किया गया है। इन पर भी सीमा के साथ मिलीभगत और पैसे लेने का आरोप है।

बता दें कि एक मीडिया ने दावा किया है कि सीमा जाखड़ की 28 नवंबर को शादी होनी तय है. उससे पहले ही रिश्वत का भंडाफोड़ हो गया. बताया जा रहा है कि इस बारे में शिकायत मिली थी. जिसके बाद पुलिस अधिकारी नजर बनाए हुए थे. जिसके बाद एसपी धर्मेंद्र सिंह बरलूट ने एसएचओ सीमा जाखड़ पर ये एक्शन लिया.

ADVERTISEMENT

जानिए क्या है पूरा मामला

जानकारी के अनुसार घटना बरलूट थाना इलाके में सोमवार रात की है. बरलूट पुलिस ने ऊड गांव के पास एक होटल के समीप डोडा पोस्त तस्कर को पकड़ा था. तस्कर के पास दो क्विंटल 10 किलो डोडा पोस्त से भरी गाड़ी पाई थी. लेकिन बाद में तस्कर ने पुलिस के साथ सौदेबाजी की कर ली. पुलिस ने भी मामले में मोटी मलाई देखकर अपनी ड्यूटी भुला दी.

ADVERTISEMENT

सरपंच के जरिये भिजवाई गई दस लाख की रकम

ADVERTISEMENT

दस लाख रुपये की रकम जालोर जिले के सांचौर इलाके के एक गांव के सरपंच के माध्यम से पुलिस को भिजवाई गई. पुलिस और तस्कर के बीच हुई इस सौदेबाजी का पूरा घटनाक्रम होटल में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया. वहीं तस्कर को बस में बिठाकर भागने के सीसीटीवी फुटेज भी सामने आए हैं.

एसपी ने तुरंत लिया कड़ा एक्शन
पूरे घटनाक्रम का जब पुलिस अधीक्षक धर्मेंद्र सिंह यादव को पता चला तो उन्होंने तुरंत एक्शन लिया. एसपी यादव खुद तत्काल बरलूट थाना पहुंचे और होटल के सीसीटीवी फुटेज सहित प्रत्यक्षदर्शियों से मामले की जानकारी जुटाई. मामले में थानाधिकारी सीमा जाखड़ और कांस्टेबल ओमप्रकाश, सुरेश और हनुमान की संदिग्ध भूमिका को देखते हुये मंगलवार को चारों को सस्पेंड कर दिया.

तस्कर को बस से फरार कराया और बरामदगी कम दिखाई
जांच पड़ताल में सामने आया है कि पुलिस ने सौदेबाजी करने के बाद तस्कर से बरामद किये गये डोडा-पोस्त की बरामदगी कम दिखाई. इसे दो क्विंटल 10 किलो के मुकाबले केवल 1 क्विंटल 41 किलो दर्शाया गया. बाद में तस्कर को वहां से फरार करा दिया गया. कांस्टेबल ओमप्रकाश थानाधिकारी का खास आदमी बताया जा रहा है. उसी के जरिये ये पूरी डील हुई.

लग्जरी कार हुई चोरी तो सदमे में चला गया था मासूम, दुबई नेटवर्क से मिलीं 21 कारें, बच्चे ने दिल्ली पुलिस को बोला थैंक्यू

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT