Shraddha Case : दो झूठ और आफताब का काम तमाम!

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Shraddha Case : आफताब ने ये सोचा था कि जिस तरह से उसने मर्डर किया था और किसी को पता नहीं चला था, ठीक वैसे ही वो कभी पकड़ा नहीं जाएगा, लेकिन धीरे-धीरे कुछ ऐसे सबूत सामने आए, जिसका जवाब खुद आफताब नहीं दे पाया।

झूठ नंबर 1 - 26 मई को श्रद्धा के नेट बैंकिंग अकाउंट ऐप से आफताब के अकाउंट में 54 हजार रुपये ट्रांसफर किए गए थे, जबकि, आफताब ने पहले कहा था कि 22 मई के बाद वह श्रद्धा के संपर्क में आया ही नहीं।

झूठ नंबर 2 - 31 मई को श्रद्धा के इंस्टाग्राम अकाउंट से उसके दोस्त के साथ एक चैट हुई थी, जब पुलिस ने श्रद्धा के फोन का लोकेशन निकाला तो वह दिल्ली के महरौली थाना इलाके का निकला।

ADVERTISEMENT

वहीं, 26 मई को जो नेट बैंकिग अकाउंट ऐप से रुपए ट्रांसफर हुए थे, उसकी लोकेशन भी महरौली थाना इलाका ही निकली। जब आफताब से पुलिस ने इस बाबत पूछताछ की गई कि जब श्रद्धा अपने फोन के साथ घर छोड़कर चली गई थी तो उसका लोकेशन उसके घर के आस-पास का ही क्यों निकल रहा है? आफताब इसका जवाब नहीं दे पाया।

पुलिस उसके खिलाफ कई सबूत इकट्ठे कर रही है, जैसे दोनों के मोबाइल डाटा का रिकार्ड, जिसमें दोनों की फोन की लोकेशन और उन्होंने कब-कब और किस-किस से बातचीत की है, इसका पता चल सकेगा।

ADVERTISEMENT

दूसरा, शरीर के टुकड़ों को जांच के लिए भेजा गया है। ऐसे में उससे साफ होगा कि ये टुकड़े श्रद्धा के शरीर के है या नहीं।

ADVERTISEMENT

तीसरा, पुलिस की कोशिश है कि वो हथियार बरामद हो, जिससे श्रद्धा के शरीर के टुकडे़ किए गए थे। ये एक अहम सबूत साबित हो सकता है।

जल्द होगी डीएनए जांच : उधर, दिल्ली पुलिस जल्द ही श्रद्धा के पिता को DNA सेंपल के लिए बुलाएगी। अब तक की तफ्तीश के बाद पुलिस को शक है कि कत्ल के बाद श्रद्धा के शव के बाथरूम में टुकड़े किये गए थे। उधर, दिल्ली पुलिस ने मौका ए वारदात यानी आफताब के फ्लैट की भी FSL टीम से जांच करवाई है।

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...