Father's Day के दिन पिता ने बेटी को कटर से काट डाला, वजह जानकर सन्न रह जाएंगे

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Delhi Crime: एक बाप को उसकी बेटी शायद सबसे ज़्यादा प्यारी होती है लेकिन जो किस्सा सामने आया उसने एक बेदर्द बाप को अपनी ही बेटी के कातिलों की जमात में ले जाकर खड़ा कर दिया है। इस दर्दनाक किस्से में एक पिता ने अपनी झूठी शान और झूठी इज्जत की खातिर अपनी उस बेटी को दर्दनाक मौत दे दी जिसको वो कभी जान से भी ज्यादा प्यार करता था। हैरान करने वाली बात ये है कि ये सब कुछ उस रोज हुआ जिस दिन सारा संसार Father's Day के तौर पर मनाता है। 

क्या है पूरा मामला

ये पूरा मामला बिहार के मुजफ्फरपुर का है. क्लास 12 में पढ़ने वाली लड़की और उसी क्लास में पढ़ने वाले एक लड़के के बीच प्यार हो गया. दोनों एक दूसरे से मिलने जुलने लगे और ज्यादातर वक्त साथ बिताने लगे. क्लास में जाने के पहले और क्लास खत्म होने तक दोनों एक दूसरे के साथ रहते थे. लेकिन इन दोनों के प्यार में सबसे बड़ी रुकावट इनकी जात (caste) बन गई. लड़की और लड़का दोनों अलग अलग जात से ताल्लुक रखते थे. दोनों को लगा था कि ये मिलकर अपने घरवालों को समझा लेंगें. मगर वो ये नहीं जानते थे कि घरवालों के लिए उनकी शान और उनकी इज्जत उनकी औलाद से ज्यादा प्यारी है। 

दूसरी जाति के लड़के से प्यार

हुआ भी वहीं लड़की के पिता को जब इस बात की भनक लगी कि उनकी बेटी दूसरी जाति वाले लड़के के साथ बातचीत करती है और उन दोनों ने कोई फैसला कर लिया है. इससे पहले लड़की अपने फैसले को कोई अंजाम दे पाती पिता ने एक बड़ा फैसला किया और लड़की को मुजफ्फरपुर से दिल्ली रवाना कर दिया. दिल्ली में लड़की का भाई रहता था और अपने पिता के ग्लास के कारोबार की देख भाल करता था। पिता ने ये सोचकर उसे भेजा कि दूर होने पर उसके सिर पर सवार प्यार का भूत उतर जाएगा. और परिवार की इज्जत बची रहेगी. लेकिन पिता को इस बात का कतई अंदाजा नहीं था कि मुजफ्फरपुर से दिल्ली की दूरी भी उनकी बेटी और लड़के के बीच के प्यार को कम नहीं होने देगी।

ADVERTISEMENT

लड़की दिल्ली में आकर रहने लगी

20 साल की वो लड़की दिल्ली के प्रेम नगर इलाके में अपने भाई के साथ रहने लगी लेकिन फोन ने उन दोनों प्यार करने वालों के बीच की दूरी को पाट दिया। कोई दिन ऐसा नहीं जाता था जब दोनों के बीच बातचीत न होती हो. जब भाई को इस बारे में पता चला कि बहन दिल्ली आकर भी उस लड़के का साथ नहीं छोड़ पा रही, और हर रोज उससे बात करती है, तो उसने फौरन इसके बारे में अपने पिता को बता दिया। इस बात को सुनकर पिता का खून खौल गया और वो अपनी बेटी को वापस लाने के लिए दिल्ली आ पहुंचे। हालांकि बेटी ने अपने पिता से बड़ी मिन्नतें कीं मगर पिता का दिल नहीं पसीजा। 

कटर से काट काटकर मार डाला

वो पिता अपनी बेटी को अपने साथ गाड़ी में बैठाकर वापस मुजफ्फरपुर की तरफ रवाना हो गए. रास्ते में बेटी ने रो रोकर अपने प्यार को पाने की पिता से भीग मांगी लेकिन वो नहीं मानें बल्कि पिता ने ड्राइवर से गाड़ी कंझावला के पास सुनसान इलाके में ले चलने को कहा। और जैसे ही वो वहां पहुँचे तो ड्राइवर को गाड़ी से दूर जाने को कहा और पेपर कटर से बेटी की गर्दन पर वार कर दिया। वो पिता के सिर पर अब शैतान सवार हो चुका था। उसने पेपर कटर से बेटी के गर्दन, पेट और शरीर के हरेक हिस्से पर ताबड़तोड़ वार किए। और जब उसे यकीन हो गया कि उसकी बेटी की जान जा चुकी है तब उसकी लाश को खेत में फेंककर वहां से फरार हो गया। 

ADVERTISEMENT

खेत में मिली लाश की मिली पुलिस को इत्तेला

दिन भर लाश वहीं खेतों में पड़ी रही लेकिन रात करीब 8:53 बजे पुलिस कंट्रोल रूम को खेत में एक लड़की की लाश मिलने की खबर मिली। मौके पर पहुँची पुलिस ने जब मुआयना किया तो उसे लाश की गर्दन और पेट पर कई गहरी चोट और कटर से काटे जाने के निशान दिखे. लाश को पोस्टमॉर्टम postmortem के लिए भेजकर जांच पड़ताल शुरू की। पुलिस ने तफ्तीश के दौरान जब इलाके में लगे CCTV फुटेज खंगाले तब जाकर कातिल का पता चला। पुलिस को तब उस कत्ल के आरोपी तक पहुंचने में ज्यादा देर नहीं लगी। हालांकि जिस वक्त पुलिस ने जिस वक्त आरोपी को गिरफ्तार किया वो बिहार भागने की फिराक में ही थे। पुलिस की पूछताछ पूरा सारा वाकया खुलकर सामने आ गया। पुलिस ने इस केस को महज 12 घंटों में सुलझा लिया. 

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...