Noida Lady Viral Video: बेस्ट स्कूल से स्कूलिंग, सिंबॉयसिस और बॉस्टन से किया LLB-LLM, फिर क्यों दी गाली ?

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Noida Lady Viral Video: यूपी के नोएडा सेक्टर-128 की जेपी विशटाउन सोसायटी के सुरक्षाकर्मी से मारपीट करने वाली महिला के प्रोफाइल के बारे में जानकर आप हैरान हो जाएंगे। भव्या पहले दिल्ली के महरौली इलाके में रहती थी। तीन महीने पहले ही उसने जेपी विशटाउन में 901 नंबर का फ्लैट किराए पर लिया था।

भव्या पेशे से वकील है और दिल्ली की साकेत कोर्ट में वकालत करती है। भव्या रॉय ने दिल्ली के प्रतिष्ठित कार्मेल कॉन्वेंट स्कूल से स्कूलिंग की है। इसके बाद अमेरिका में मैसाचुसेट्स स्थित सिम्बोयसिस इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी से उसने बेचलर ऑफ आर्ट (BA) और बेचलर ऑफ लॉ (LLB) की डिग्री हासिल की।

भव्या रॉय ने बॉस्टन यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ लॉ से मास्टर ऑफ लॉ (LLM) किया है। भव्या नेअमेरिका की दिग्गज लीगल फर्म्स में भी काम किया है। वो वापस दिल्ली आई और कानूनी फर्मों के साथ काम करने लगी। भव्याअदालत में श्रम-रोजगार, महिलाओं और बच्चों के यौन उत्पीड़न यानी PoSH & POCSO समेत आपराधिक मुकदमों से जुड़े केस लड़ती है।

ADVERTISEMENT

लेकिन उस दिन ऐसा क्या हो गया कि महिला ने अपने आपा खो गया और गार्ड से बदसलूकी करने लगी ? तो पूरा मामला आपको बताते है।

क्या है पूरा मामला ?

ADVERTISEMENT

नोएडा के थाना सेक्टर 126 क्षेत्र के सेक्टर-128 स्थित जेपी विश टाउन नामक सोसायटी में रहने वाली महिला भव्या ने वहां के सुरक्षा कर्मी के साथ बदसलूकी की थी। इस मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर सार्वजनिक होने पर पुलिस ने घटना का संज्ञान लिया और भारतीय दंड सहिता की धारा 153-A, 323, 504, 505(2), 506 के तहत मामला दर्ज कर उसेआरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के बाद उसे कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने महिला को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

ADVERTISEMENT

इस मामले में सोसाइटी के पीड़ित सुरक्षाकर्मी अनूप कुमार ने कहा था, 'मैं गेट पर गाड़ी चेक कर रहा था। इस दौरान एक गाड़ी पहले से खड़ी हुई थी और मैडम भव्या की गाड़ी उसके पीछे आकर लगी थी। मैं उनके पास गया और बोला कि कुछ मिनट लगेंगे, आगे एक गाड़ी खड़ी है। यह सुनकर मैडम भड़क गईं। गंदी-गंदी गाली देने लगीं। वह गाड़ी से उतर कर बाहर आ गईं। मैडम नशे में थीं। मेरे सुपरवाइजर के साथ भी उन्होंने बदतमीजी की और मेरी वर्दी फाड़ दी।'

लेकिन यहां कई सवाल खड़े होते हैं

क्या भव्या के अंदर इतना भी धैर्य नहीं था कि वो कुछ मिनट वेट कर सके ?

क्या ऐसा उसका माइंडसेट इसलिए था, क्योंकि वो विदेश में पड़ कर आई है? ,जहां ज्यादातर चीजें परफेक्ट रहती है, इसलिए वहां इस तरह की घटनाएं नहीं होती है। हालांकि ये और बात है कि वहां पर कुछ हट कर भी घटनाएँ होती है।

आखिर पहले वाली गाड़ी के मालिक से गार्ड की क्या बात हुई थी ? अगर गार्ड को पहली वाली गाड़ी चेक भी करनी थी तो वो गाड़ी को अलग जगह पार्क कराकर भी कर सकता था।

'मैं वेट क्यों करूं ?, इसमें मेरी गलती क्या है ?, उसकी गलती मैं क्यों भुगतु' क्या इस तरह के माइंड सेट से आजकल ज्यादा दिक्कतें होती है ?

एक नजर से देखा जाए तो भव्या की इसमें क्या गलती है वो तो अपने घर जा रही थी ? गार्ड ने उसे रोका ?

लेकिन एक अलग नजर से देखा जाए तो क्या भव्या को गालियां देनी चाहिए थी या बदसलूकी करनी चाहिए थी ?

एक अलग नजर से देखा जाए तो गार्ड अपनी ड्यूटी कर रहा था, अगर उसने रुकने के लिए कह भी दिया तो 2 मिनट क्या वेट नहीं किया जा सकता है ?

दोनों में से किसने किससे गलत तरीके से बात की ?

बात हाथापाई तक कैसे पहुंच गई ?

क्या भव्या नशे में थी, इसलिए बात बढ़ी ?

क्या महिला को ऐसा लग रहा था कि वो तो ज्यादा पढ़ी-लिखी है, वो तो विदेश में पढ़ कर आई है, उसके परिवार के पास तो बहुत पैसा है, उसने कई तरह की दिक्कतें भी झेली है , ऐसे में वो superior है। तो किसी गार्ड की क्या हिमाकत जो उससे ऐसे बात कर सके ?

क्या गार्ड को ये सब नहीं सोचना चाहिए था, या उसे पता ही नहीं था ?

क्या गार्ड भी उसे अन्य मकान मालिकों की तरह ट्रीट कर रहा था, क्या उसे पता था कि महिला किराए पर रह रही है ? ऐसे में वो भी दूसरों की तरह ही उसे आम मकान मालिक/मालकिन की तरह ट्रीट कर रहा था?

खैर ये वो सवाल है, जिनका जवाब मिलना बेहद जरूरी है।

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT