घाटकोपर होर्डिंग हादसे में मरने वालों की संख्या 17 तक पहुंची, ट्रीटमेंट के दौरान एक और मौत

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Mumbai: मुंबई के घाटकोपर के होर्डिंग हादसे (Ghatkopar Hoarding Collapse) में नया अपडेट सामने आया है, जहां पर मरने वालों की संख्या 16 से अब 17 हो गई है. होर्डिंग गिरने पर घायल हुए 52 साल के राजू सोनावणे को KEM हॉस्पिटल में एडमिट किया था, जिन्होंने इलाज के दौरान अपना दम तोड़ दिया. इससे पहले मलबे से दो और शव बाहर निकाले गए थे. ये शव रिटायर्ड एयर ट्रैफिक कंट्रोल मैनेजर मनोज चंसोरिया और उनकी पत्नी अनीता के थे. 

उदयपुर से किया था मालिक को गिरफ्तार

पुलिस ने बिलबोर्ड लगाने वाली कंपनी के मालिक भावेश भिड़े को राजस्थान के उदयपुर से गिरफ्तार कर लिया है. भिड़े की एडवरटाइजिंग कंपनी EGO मीडिया लिमिटेड ने ही घाटकोपर में होर्डिंग लगाया था. इस होर्डिंग के गिरने की वजह से हाल ही में दो शव और बरामद किए गए हैं. अब तक इसमें 17 लोगों की जान जा चुकी है. GRP कमिश्नर कैसर खालिद का नाम सामने आया है, रिपोर्ट के मुताबिक खालिद ने ही भावेश भिड़े को होर्डिंग लगाने की मंजूरी दी थी. अब इस पूरे मामले की जांच की जिम्मेदारी मुंबई पुलिस क्राइम ब्रांच को दे दी गई है.

crime news
Crime news

कमिश्नर के कहने पर लगा गैरकानूनी होर्डिंग

रेलवे के असिस्टेंट पुलिस कमिश्नर ने होर्डिंग हादसे पर बयान जारी किया है, उन्होंने बताया कि जिस पेट्रोल पंप पर होर्डिंग गिरा वो भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड का है. ये पेट्रोल पंप रेलवे पुलिस की जमीन पर बना है. तत्कालीन GRP कमिश्नर कैसर खालिद ने दिसंबर 2021 में भावेश भिड़े की कंपनी को 10 साल के लिए पेट्रोल पंप के पास होर्डिंग लगाने की मंजूरी दी थी. 

ADVERTISEMENT

 

 

ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT