सीबीआई ने समीर वानखेड़े और एनसीबी के आरोपी अफसरों के फोन सीज किए, पूछताछ की तैयारी

ADVERTISEMENT

जांच जारी
जांच जारी
social share
google news

Samir Wankhede CBI: सीबीआई ने समीर वानखेड़े और एनसीबी अधिकारियों के फोन सीज किए हैं। सीबीआई ने सोमवार को इस कार्रवाई को अंजाम दिया है। सूत्रों के मुताबिक इन फोन्स का टेक्निकल एनालिसिस किया जाएगा। समीर वानखेड़े, विश्व विजय सिंह, आशीष रंजन के यूज्ड फोन भी जब्त किए गए हैं। गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले सीबीआई ने समीर वानखेड़े के गोरेगांव स्थित घर पर सर्च ऑपरेशन चलाया था। इसी छापेमारी के दौरान समीर वानखेड़े की पत्नी एक्ट्रेस क्रांति रेडकर का मोबाइल फोन भी जब्त कर लिया गया था। माना जा रहा है कि समीर से पूछताछ के बाद सीबीआई की टीम विश्व विजय सिंह, आशीष रंजन को भी पूछताछ के लिए समन जारी करेगी।

 फर्जी ड्रग्स प्लांट में भी NCB की ये टीम

आर्यन खान ड्रग के मामले में एनसीबी ने समीर वानखेड़े समेत कुछ अफसरों पर विजिलेंस जांच बैठाई थी, इतनी ही नहीं एनसीबी की इसी विजलेंस रिपोर्ट के आधार पर सीबीआई ने समीर वानखेड़े समेत समेत एनसीबी के कुछ अफसरों पर FIR दर्ज की है। विजिलेंस जांच से जुड़े सूत्रों ने आज तक को समीर वानखेड़े की और आर्यन खान की गिरफ्तारी की जो इनसाइड डिटेल्स बताई है वो वाकई हैरान करने वाली है। सामने आई डिटेल्स के मुताबिक ऐसा कहा जा रहा है कि समीर वानखेड़े असल में अपने डिपार्टमेंट के कुछ लोगों को अपना गुर्गा बनाए हुए थे और एनसीबी के कुछ स्टाफ के साथ साथ कुछ निजी लोगों के साथ मिलकर ड्रग रैकेट पकड़ने की आड़ में एक तरह से एक्सटॉर्शन रैकेट ही चला रहे थे? और इस मामले में सबसे बड़ा खुलासा किया है एनसीबी की विजिलेंस टीम के अहम किरदार समविल डिसूजा ने। 

समीर वानखेड़े पर संगीन इल्जाम

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक डिसूजा असल में पहले एक ड्रग सप्लायर था जिसे  LSD ड्रग्स के दो केस में NCB की समीर वानखेड़े की टीम ने पकड़ा था। दावा किया जा रहा है कि उस दौरान समीर वानखेड़े और उनके अंडर काम करने वाले NCB के कुछ अफसरों ने 10 लाख रुपए की रिश्वत भी ली थी। सूत्रों का ये भी कहना है कि वो पैसा आरोपों के मुताबिक VV सिंह और खुद समीर वानखेड़े ने ही लिया था। बाद में डिसूजा को समीर वानखेड़े एंड कंपनी ने अपना मुखबिर बना लिया। NCB की टीम के लिए डिसूजा इन्फॉर्मर बन गया और शिकार की तलाश करने लगा। बाद में डिसूजा NCB के लिए कलेक्शन एजेंट के तौर पर काम करने लगा। इतना ही नहीं फर्जी ड्रग्स प्लांट में भी NCB की ये टीम डिसूजा का इस्तेमाल करने लगी। 

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...