300 रुपये के लिए कैब ड्राइवर की हत्या, दो सगे भाईयों का खूनी खेल, 48 घंटों में पुलिस ने किया ये चौंकाने वाला खुलासा

ADVERTISEMENT

जांच में जुटी पुलिस
जांच में जुटी पुलिस
social share
google news

राजगढ़ से पंकज शर्मा की रिपोर्ट

MP Murder News: दो दिन पहले मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले में पचोर थाने में पुलिस को एक जानकारी प्राप्त हुई थी कि उड़नखेड़ी नजदीक एक गाड़ी में एक शव पड़ा है। जब पुलिस ने मामले की जांच की तो पुलिस ने पाया कि मृतक इंदौर निवासी 27  वर्षीय युवक अंकित शर्मा खुद की ही गाड़ी बुक करके किराए पर चलाता था. बीती रात 8 बजे अंकित की कार को दो लोगों ने उज्जैन जाने के लिए बुक किया था. उज्जैन जाने का घर से बोलकर निकले अंकित का मोबाइल जब बंद आया तो परिजनों ने गाड़ी से जुड़े घर में लगाए गए जीपीएस सिस्टम पर गाड़ी की लोकेशन चेक की तो गाड़ी उज्जैन से जाकर मक्सी के समीप ब्यावरा रोड़ पर जाते हुए देखा. जिसके बाद परिजनों ने शंका के आधार पर तुरंत डायल हंड्रेड से संपर्क कर मदद मांगी. 

गाड़ी की डिक्की में रखा था शव

पुलिस ने जीपीएस लोकेशन के आधार पर गाड़ी को पचोर के समीप उदनखेड़ी टोलटेक्स पर रुकवाई तो गाड़ी से दो युवक कूदकर अँधेरे का फायदा उठाकर भाग गए. पुलिस ने गाड़ी चेक कर देखा तो गाड़ी की डिक्की में इंदौर निवासी अंकित शर्मा का शव पाया गया. पुलिस ने शव बरामद कर परिजनों को इंदौर से बुलवाकर पचोर अस्पताल में मृतक के शव का पॉस्टमार्टम कराया. वही इस पूरे मामले में मृतक के बड़े भाई अमित शर्मा ने बताया कि:

ADVERTISEMENT

इंदौर से उज्जैन गई थी गाड़ी टैक्सी गाड़ी है. गाड़ी उज्जैन ना जाकर उल्टे रुट पर गई. मैंने अपने भाई को फोन लगाया उसने नहीं उठाया तो मैने जीपीएस चेक किया तो गाड़ी उल्टे रोड पर दिखी हमारी गाड़ी मक्सी से बाहर जाते हुए दिखी तो मैं पुलिस डायल 100 पर फोन लगा दिया। 

ये खबर मिलते ही गाड़ी को पुलिस ने उड़नखेड़ी टोल के यहां गाड़ी को पकड़ लिया जो गाड़ी को बुकिंग ले गए थे. उन लोगों की पहचान नहीं है. ये परिवार गाड़ी बुकिंग का काम करीब 2 साल से करता आ रहा है। वही इस पूरे मामले में पचोर थाना प्रभारी अंकिता शर्मा ने बताया कि:  

रविवार सोमवार रात 1 बजे हमें सूचना मिली एक गाड़ी में कुछ संदिग्ध लोग हैं. सूचना मिलने के बाद पुलिस ने उनका पीछा किया तो आरोपी गाड़ी को उदन खेड़ी टोल नाके के यहां छोड़कर वहां से भाग गए वेगेनार कार की डीक्की में जिसका शव मिला है. वह अंकित शर्मा का है. यह इंदौर का रहने वाला है. यह खुद वेगेनार गाड़ी का चालक था. आरोपियों की तलाश जा रही है. 

शराब के नशे में थे आरोपी

पुलिस ने बताया कि जांच के दौरान हमने पाया कि गाड़ी को इंदौर से बुक किया गया था उज्जैन के लिए. उज्जैन में दोनों बुकिंग करने वाले आरोपियों  के द्वारा शराब पीने के उपरांत महाकाल पार्किंग के पास इस व्यक्ति की गला दबाकर हत्या कर दी. यह मरा है कि नहीं यह निश्चित करने के लिए दोबारा रस्सी लेकर दोबारा उसका गला घोटा बाद में इस व्यक्ति को बीच सीट पर रखकर राजगढ़ की ओर बड़े शाजापुर में लाश को गाड़ी की डिक्की में रखा दोनों आरोपी राजगढ़ के मलावर थाना क्षेत्र के रहने वाले है. दोनों रिश्ते में एक दूसरे के भाई लगते हैं.  

ADVERTISEMENT

300 रुपये के लिए हत्या

इस गाड़ी को इंदौर के सरवटे बस स्टैंड से इस गाड़ी को ₹2200 रुपए में बुक की फरियादी के भाई ने बताया फला उबर कंपनी से एड्रेस थी. उन्होंने ऑनलाइन बुकिंग न करके उस ड्राइवर से मिलकर इस गाड़ी की 200 मे बुकिंग की उज्जैन पहुंचते पहुंचते उस ड्राइवर ने 2500 मांग की आरोपी 2200 रुपए देने की जिद पर अड़े रहे. इस बात से नाराज होकर इन्होंने ड्राइवर की गला दबाकर हत्या कर दी.  300 रुपए के लिए दोनों ने कैब ड्राइवर की हत्या कर दी. राजगढ़ की पुलिस ने दोनों आरोपियों को पकड़ने में कामयाबी हासिल की गई.

ADVERTISEMENT

Note : ये खबर क्राइम तक में internship कर रही निधी शर्मा ने लिखी हैं.

 

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT