मॉडल दिव्या का गैंगस्टर से रिश्ता, फिर एनकाउंटर, अभिजीत की एंट्री और सनसनीखेज कत्ल, इस केस में दिव्या गई थी जेल!

ADVERTISEMENT

Model Divya Pahuja
Model Divya Pahuja
social share
google news

नीरज वशिष्ठ, अरविंद ओझा, हिमांशु मिश्रा के साथ चिराग गोठी की रिपोर्ट

Model Divya Pahuja : नाम दिव्या पाहुजा! दूसरी लड़कियों की तरह दिव्या के भी शुरुआत में कई अरमान होंगे कि पढ़-लिख कर घरवालों का नाम रोशन करूं, लेकिन ऐसे कैसे हो गया कि वो बदल गई। उसने मेहनत की जगह दूसरा रास्ता चुनना बेहतर समझा। उसे चकाचौंध भरी जिंदगी आकर्षित करने लगी। अब उसका पढ़ाई में मन कम, बल्कि अय्याशी में ज्यादा लगने लगा। उस दौरान उसकी जिंदगी में एक शख्स आया, वो था गैंगस्टर संदीप। देखने में खूबसूरत दिव्या गैंगस्टर के स्टाइल पर फिदा हो गई।  इसे नियति कहे या फिर कुछ और, लेकिन उसकी जिंदगी में ये सब कुछ हो रहा था। संदीप ने उसके हर अरमान पूरे किए। उसे बिना मेहनत किए पैसा मिला, सेक्स, शराब, घूमना-फिरना यानी अब अय्याशी उसे भाने लगी।

क्यों दिव्या ने संदीप के बारे में पुलिस को इत्तिला दी थी?

ADVERTISEMENT

उसे एक वक्त के बाद गैंगस्टर संदीप गाड़ोली से प्यार भी होने लगे था। संदीप उसे प्यार करता था, लेकिन बात-बात पर उसकी इज्जत भी उतारता रहता था। ये बात उसे नागवार गुजरती। बात 2016 की है। उस वक्त दिव्या करीब 20 साल की रही होगी। पुलिस को सूचना मिली की गैंगस्टर संदीप अपनी गर्लफ्रेंड के साथ मुंबई के एक होटल में मौजूद है। पुलिस वहां पहुंची और गैंगस्टर का एनकाउंटर कर दिया। कहते हैं संदीप के बारे में दिव्या ने ही पुलिस को बताया था, लेकिन यहां सवाल ये उठता है कि आखिर क्यों दिव्या ने संदीप के बारे में इत्तिला दी थी? 

….जब मुंबई पुलिस ने सच उजागर किया

ADVERTISEMENT

इस केस में दिव्या चश्मदीद थी, लिहाजा उसे गवाह और बनाया गया, लेकिन मुंबई पुलिस को हरियाणा पुलिस की थ्योरी रास नहीं आई। उन्होंने दिव्या, उनकी मां और पुलिसकर्मियों के खिलाफ फर्जी एनकाउंटर का केस दर्ज कर लिया।

ADVERTISEMENT

और 7 साल जेल के अंदर बिताए दिव्या ने!

इसके बाद दिव्या के 7 साल जेल की काल-कोठरी में बीते। दुनिया से बेखबर। जेल में उसके मन में कई विचार आते थे। वो संदीप के बारे में सोचती थी। उसके मन में सवाल आता था कि उसने क्यों गद्दारी की? दूसरी ही पल कई और सवाल भी आते थे कि उसने जो किया सही किया। वक्त बीतता रहा। वो जेल से बाहर आना चाहती थी। उसका परिवार भी जेल के अंदर था। संदीप का उसके जीवन में आना और उसका जेल तक का सफर, हरेक चीज को वो याद करती थी। 

जेल में दिव्या की कहानी

जेल में उसे और बुरे-बुरे लोग मिले। अब उसे दिल में तसल्ली होनी लगी कि जो उसने किया, उसके लिए गिल्ट पालने का कोई फायदा नहीं है। दुनिया में तो लोगों ने पता नहीं क्या-क्या किया है? लिहाजा उसका माइंड सेट धीरे-धीरे बदला। अब वो जेल से बाहर आना चाहती थी। और 7 सालों के बाद आखिरकार वो बाहर आ ही गई। लेकिन कहते हैं कि इंसान अपनी आदतों से मजबूर होता है। दिव्या के साथ भी कुछ ऐसा ही था। अय्याशी उसे बेहद पंसद थी। अब उसने नया शिकार तलाशा और वो शिकार था अभिजीत।

फिर हुई दिव्या की लाइफ में अभिजीत की एंट्री, अब अभिजीत को किया टारगेट

पिछले साल दिव्या अभिजीत से मिली। अब उसे अभिजीत से प्यार हो गया। दोनों के बीच रिश्ते बने। फिर शुरू हुआ ब्लैकमेलिंग का दौर। आखिर क्यों दिव्या अभिजीत को ब्लैकमेल करनी लगी?  ये बात अभिजीत को नागवार गुजरी और उसने दिव्या को रास्ते से हटा दिया। अब इस मामले में पुलिस ने अभिजीत और उसके दो साथियों को गिरफ्तार किया है। ये भी कहा जा रहा है कि उसकी हत्या शायद संदीप की हत्या का बदला है। 

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT