लालू प्रसाद यादव के करीबी अमित सीबीआई केस में आरोपी नहीं, ईडी केस का है आरोपी

ADVERTISEMENT

Land For Job Scam
Land For Job Scam
social share
google news

संजय शर्मा के साथ चिराग गोठी की रिपोर्ट

Land For Job Scam : ज़मीन के बदले नौकरी मामले में प्रवर्तन निदेशालय यानी ED द्वारा गिरफ्तार मुख्य अभियुक्त और लालू प्रसाद यादव के करीबी अमित कात्याल को राऊज ऐवेन्यू कोर्ट ने 22 नवंबर तक ईडी कस्टडी में भेजने का आदेश दिया है। पहले पांच दिन की कस्टडी में रहने के बाद अब फिर कात्याल की कस्टडी बढ़ाई गई है। 

इस मामले में जिला जज की अदालत में सुनवाई के दौरान ED ने कहा कि अमित कात्याल CBI केस में आरोपी नहीं है, लेकिन वो कंपनी का डायरेक्टर होने की वजह से रडार पर है। कात्याल को पहले जिला जज की अदालत में पेश किया गया ताकि ये तय हो जाए कि कात्याल के मामले में सुनवाई सामान्य अदालत करे या एमपी एमएलए कोर्ट। 
 

ADVERTISEMENT

अपनी दलील में ED के वकील ने कहा कि जांच के दौरान अमित कात्याल ने कई लोगों के नाम लिए हैं। एजेंसी ने उनसे भी पूछताछ के लिए समन जारी किया है। कोर्ट ने कहा कि फिलहाल अभी कोई सांसद या विधायक ईडी के इस मामले में शामिल नहीं है। ऐसे मामले को आगे सुनवाई के लिए MP/MLA विशेष अदालत में भेजा जाए या नहीं?


ED ने कहा कि वो इस मामले में आरोपी की ED हिरासत की मांग कर रहे हैं। इस पर अमित कात्याल के वकील ने कहा कि CBI इस केस में गवाह है। हमको नहीं पता कि क्यों इनको गिरफ्तार किया गया है और क्यों ईडी इनकी हिरासत की मांग कर रही है? अमित कात्याल के वकील ने कहा कि कात्याल ना तो सांसद है ना ही विधायक, जबकि कात्याल तो CBI के केस में गवाह है। ED के वकील ने कहा कि अब तक हमारी जो जांच है, उसके आधार पर ही कात्याल की गिरफ्तारी की गई है। ED ने कहा कि इस मामले को MP/MLA कोर्ट में ही भेजा जाए।

ADVERTISEMENT


इसके बाद जिला जज ने मामले को MP/MLA कोर्ट में सुनवाई के लिए भेज दिया। जिला जज ने मामले को स्पेशल जज एमपी/एमएलए गीतांजलि गोयल की अदालत में भेज दिया। अब विशेष जज गीतांजलि गोयल की कोर्ट में अमित कात्याल को पेश किया जाएगा। अब तक कात्याल को ईडी ने तीन दिन अपनी हिरासत में रख चुकी है। जिला जज के आदेश के बाद अमित कात्याल को ईडी ने आगे की हिरासत की मांग वाली अर्जी के साथ स्पेशल एमपी/एमएलए कोर्ट की जज गीतांजलि गोयल की कोर्ट में पेश किया। अमित कात्याल के वकील ने कहा कि पहले ही उससे 6 बार पूछताछ की जा चुकी है तो अब कस्टडी की क्या जरूरत है?

ADVERTISEMENT


अब ईडी नायक से मुझे कंफ्रंट करा रहा है। नायक लालू के सीए हैं। जब हमने कंपनी बेच दी है तो अब इस सबसे मेरा क्या मतलब?   हमने पांच लाख रुपए में जमीन खरीदी और एक करोड़ रुपए में बेची है। ये सब ब्योरा लिखित है। इसमें मेरा क्या कसूर है? कात्याल ने कहा कि मुझे एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया गया था जब मैं रांची जा रहा था। एयरपोर्ट पर ही पूछताछ की। उसी समय नोटिस देकर मुझे कस्टडी में ले लिया। पूछताछ के लिए ले गए। इन तीन घंटों मे क्या मिल गया कि मुझे गिरफ्तार कर लिया?
 

अमित कत्याल के वकील ने दावा किया कि मेरी गिरफ्तारी अवैध है। मुझे सीबीआई ने इस मामले में गवाह बनाया है। अभी तक ईडी ये तय नहीं कर पाई है कि मुझे किससे कन्फ्रंट कराना है!अब तक ये भी ईडी  को क्लीयर नहीं है। हमारे घर और ऑफिस में कई बार सर्च किया गया। मेरे पास कुछ भी बताने को नहीं है। फिर क्यों कस्टडी बढ़ाने की मांग कर रही है ईडी की टीम?
 

कोर्ट ने कहा कि नया ग्राउंड बताइए। कोर्ट ने कात्याल से पूछा कि क्या आपको ED हिरासत में दिक्कत है क्या? कात्याल ने कहा मेरी तबियत सही नहीं है। मैंने अधिकारियों से डॉक्टर के पास ले जाने के लिए कहा था,  लेकिन वो नहीं ले गए। मुझे स्किन पर पैचेज आ रहे हैं।
14 महीने से जांच चल रही है इनको कुछ नहीं पता चला। अब ईडी की टीम कहती है कि गिरफ्तार कर पूछताछ करेंगे तब सबूत सामने आएगा।
अमित कात्याल के वकील रमेश गुप्ता ने ईडी कस्टडी बढ़ाने की मांग का विरोध किया। कात्याल के वकील रमेश गुप्ता ने कहा कि 3 नवंबर को ईडी को ये भी नहीं पता था कि मैं आरोपी हूं या गवाह हूं। फिर दस नवंबर को गिरफ्तार भी कर लिया। कोर्ट ईडी की ओर से दाखिल दस्तावेजों में ग्राउंड ऑफ अरेस्ट भी देख ले।  कत्याल के वकील ने कहा कि प्रॉपर्टी तेजस्वी यादव के नाम है। मुझे नहीं पता कौन है वो।  कोई बड़ा आदमी होगा। मेरी कोर्ट से गुजारिश है कि मुझे न्यायिक हिरासत में भेज दिया जाए। ईडी को जरूरत होगी तो जेल मे जाकर पूछताछ कर लेगी। नहीं तो कोर्ट में रोज बुला लें। यहीं पर पूछताछ कर लें।


अमित कहीं भाग नहीं रहा है।  दीवाली से पहले उसको गिरफ्तार कर लिया था।  भैयादूज पर भी वो कस्टडी में ही था। अमित कात्याल ने कोर्ट से कहा कि उसके ऊपर दबाव बनाया जा रहा है। इसके बाद कोर्ट में जज गीतांजलि गोयल ने ईडी से पूछा कि पिछले पांच दिनों मे आपने क्या क्या हासिल किया? ईडी ने कहा कि हिरासत के दौरान हुई पूछताछ में ऐसे नाम सामने आए हैं जो अब तक कभी सामने नहीं आए थे। उन लोगों से इसका आमना सामना कराने की जरूरत है। अगर कोर्ट चाहे तो केस डायरी देख सकती है।


ED ने अमित कात्याल की हिरासत अगले आठ दिन और बढ़ाने की गुहार लगाते हुए कहा कि हमारा विभाग पूरी तरह से ट्रांसपेरेंट हैं। CBI ने सप्लीमेंट्री चार्जशीट में AK इनफो सिसटम को भी आरोपी बनाया है। तीन लोगों को समन किया है। जिन लोगों को समन किया है उनसे इसे कंफ्रंट भी करवाना है। ट्रांजेक्शन के बारे में भी आमने सामने बिठा कर पूछताछ करनी है। ED ने कहा कि जांच अभी काफी अहम स्टेज पर है। इस लिए कात्याल की हिरासत में पूछताछ की ज़रूरत है।

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT