Delhi Brijbhushan Singh FIR: केजरीवल ने जंतर मंतर पर प्रदर्शनकारी पहलवानों का समर्थन किया, बृजभूषण की गिरफ्तारी तक जारी रहेगा धरना

ADVERTISEMENT

जांच में जुटी पुलिस
जांच में जुटी पुलिस
social share
google news

Delhi Wrestlers News: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भारतीय कुश्ती महासंघ के प्रमुख बृज भूषण शरण सिंह के खिलाफ यहां जंतर मंतर पर धरना दे रहे पहलवानों से शनिवार को मुलाकात की और कहा कि जो भारतीय अपने देश को प्यार करते उन्हें पहलवानों के संघर्ष में उनके साथ खड़ा होना चाहिए। कई महिला खिलाड़ियों ने सिंह के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं। इन आरोपों को लेकर उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर पहलवान यहां करीब एक हफ्ते से प्रदर्शन कर रहे हैं। सिंह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद हैं और दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को उनके खिलाफ दो प्राथमिकियां दर्ज की हैं।

पहलवानों को अपना समर्थन देते हुए केजरीवाल ने कहा जो महिलाओं के साथ ऐसा गलत काम करते हैं, उन्हें “ फांसी दे दी चाहिए।” केजरीवाल ने बाद में ट्विटर पर कहा, “ पूरी दुनिया में देश का नाम रोशन करने वाली ये सभी महिला खिलाड़ी हमारी बेटियां हैं, इन्हें इंसाफ़ मिलना ही चाहिए। आरोपी चाहे जितना भी शक्तिशाली हो, उसे सख़्त से सख़्त सज़ा मिलनी चाहिए।”

धरना स्थल पर अपने संबोधन में केजरीवाल ने देश भर के लोगों से छुट्टी लेकर जंतर-मंतर आकर पहलवानों का समर्थन करने को भी कहा। मुख्यमंत्री ने दावा किया कि प्रदर्शन स्थल पर बिजली और पानी की आपूर्ति काट दी गई है तथा भोजन की आपूर्ति नहीं होने दी जा रही है तथा गद्दों को लाने की अनुमति नहीं है। उन्होंने अपनी ओर से पहलवानों की मदद करने का वादा किया।

ADVERTISEMENT

केजरीवाल ने कहा कि पुरस्कार विजेता खिलाड़ियों समेत प्रदर्शनकारी पहलवानों ने देश का नाम रोशन किया है, इसके बावजूद उन्हें प्रदर्शन करना पड़ा और सिंह के खिलाफ कार्रवाई के लिए उच्चतम न्यायालय का रुख करना पड़ा। किसी का नाम लिए बिना केजरीवाल ने कहा कि ‘एक पार्टी’ के नेताओं का कुछ नहीं बिगड़ता है, भले ही वे कुछ भी गलत कर लें और यहां यही हो रहा है।

केजरीवाल ने पहलवानों को उनके संघर्ष के लिए सलाम किया और कहा कि जो लोग अपने देश से प्यार करते हैं उन्हें उनके साथ खड़ा होना चाहिए। दिल्ली पुलिस की ओर से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने प्रधान न्यायाधीश डी वाई चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति पी एस नरसिम्हा की उच्चतम न्यायालय की पीठ को बताया कि प्राथमिकी शुक्रवार को दर्ज की जाएगी जिसके घंटों के बाद पुलिस ने सिंह के खिलाफ दो प्राथमिकी दर्ज की।

ADVERTISEMENT

पहली प्राथमिकी एक नाबालिग द्वारा लगाए गए आरोपों से संबंधित है, जिसके तहत यौन अपराधों से बाल संरक्षण (पॉक्सो) अधिनियम और भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की प्रासंगिक धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। तर-मंतर (Wrestlers Protest) पर धरने पर बैठी महिला पहलवानों की शिकायत के बाद कुश्ती महासंघ बृजभूषण के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज हो गई है. उनके खिलाफ दिल्ली के कनॉट प्लेस थाने में FIR दर्ज की गई है. जिसमें पॉक्सो एक्ट (POCSO Act) के तहत मामला दर्ज है. 21 अप्रैल को एक नाबालिग समेत सात महिला रेसलर ने दिल्ली पुलिस के पास यौन शोषण की शिकायत की थी, लेकिन मामले में एफआईआर दर्ज नहीं हुई थी. इसके बाद पहलवान धरने पर बैठ गए थे. 25 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट ने महिला पहलवानों की अपील सुनकर इसे गंभीर ममला बताया और दिन में दिल्ली पुलिस को जवाब देने के लिए कहा. तब जाकर 28 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट में दिल्ली पुलिस ने कहा कि हम बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज करेंगे. अदालत ने नाबालिग महिला पहलवान को सुरक्षा देने का आदेश भी दिया है।

ADVERTISEMENT

(PTI)

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...