... तो इस वजह से हुई थी कानपुर में हत्या, सिगरेट वाली कहानी सुन कर पुलिस भी दंग रह गई!

ADVERTISEMENT

पुलिस ने किया मामले का खुलासा
पुलिस ने किया मामले का खुलासा
social share
google news

Kanpur News: तारीख 10 फरवरी। कानपुर देहात का अमराहाट थाना। पुलिस को सुबह-सुबह काल मिली कि एक शख्स का शव यमुना कैनाल पंप नहर के पास पड़ा है। पुलिस मौके पर पहुंची और तफ्तीश शुरू की। शुरुआत में डेड बाडी की पहचान होने में दिक्कत हो रही थी। मौके पर खून से लथपथ एक पत्थर भी पड़ा था।

इस सिलसिले में पुलिस के पास एक मीसिंग रिपोर्ट भी दर्ज थी। लिहाजा उसके घरवालों को बाडी की पहचान के लिए बुलाया गया। बाद में पता चला कि मरने वाले शख्स का नाम मैनुद्दीन था। वो औरेया का रहने वाला था। यहां वो अपने मामा के पास काम कर रहा था। युवक के मामा का घर अमराहट थाना क्षेत्र के खोजाफूल में था। अब सवाल ये था कि आखिर उसे किसने मारा?

दोस्तों से हुआ था इस बात को लेकर झगड़ा

ADVERTISEMENT

पुलिस ने उसके रिश्तेदारों से पूछताछ की। उसके मामा से पता चला कि वो 10 फरवरी की रात कुछ दोस्तों के साथ में था। उसके बाद वो उस रात घर नहीं आया। चार दिनों तक उसके घरवाले उसे तलाशते रहे, लेकिन उसका कुछ भी अता-पता नहीं चला। पुलिस ने उसका मोबाइल फोन खंगाला। उसके कुछ दोस्तों के बारे में पता चला। पता चला कि उसका कुछ लड़कों से झगड़ा हुआ था।

ऐसे पकड़े गए आरोपी!

ADVERTISEMENT

पुलिस ने लड़कों की पहचान की। इसके बाद विनय बाबू और मनीष सिंह को अरेस्ट किया गया। तीसरे नाबालिग आरोपी को भी पुलिस ने दबोच लिया। आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि 9 फरवरी की शाम को वह तीनों लोग गांव के पास फौजी की परचून की दुकान पर सिगरेट पीने गए थे। वहां उन्हें मैनुद्दीन मिला। इन तीनों ने उससे सिगरेट पिलाने के लिए कहा। मैनुद्दीन के पास पैसे नहीं थे। ऐसे में उसने तीनों को सिगरेट पिलाने से मना कर दिया। ये बात सुनते ही तीनों आरोपी उसके साथ गाली-गलौज करने लगे। फिर तीनों उसे शराब पिलाने के बहाने अपने साथ ले गए और उसका मर्डर कर दिया। पुलिस अब मामले की जांच कर रही है। 

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...