Online Booking कैंसिल कर Offline Booking ली थी, फिर पैसेंजर ने Cab Driver का कर दिया मर्डर

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

श्रेया भूषण की रिपोर्ट

Kanpur: कानपुर में दिनदहाड़े एक कैब ड्राइवर की हत्या करने का मामला सामने आया है। चौंकाने वाली बात ये है की ड्राइवर की हत्या उसकी कार में बैठे पैसेंजर्स ने ही कर दी। ड्राइवर का शव 13 जून को कानपुर के बाहरी इलाके पनकी थाना क्षेत्र से बरामद हुआ जिसके बाद इलाके में सनसनी फैल गई। ड्राइवर की पहचान कानपुर के रहने वाले पुष्पेंद्र सिंह के रुप में कर ली गई है। 

ऑनलाइन बुक कर कैंसल कर दी कैब

पुष्पेंद्र सिंह एक ऑनलाइन कैब कंपनी में कैब ड्राइवर की नौकरी करता था। उस रोज़ भी वो हर दिन की तरह अपनी वैगनआर कार लेकर काम पर निकला था। कुछ देर बाद उसे एक बुकिंग की नोटिफिकेशन आई जिसे उसने एक्सेप्ट कर लिया। पर थोड़ी ही देर बाद ये बुकिंग कैंसिल हो गई। इसके कुछ ही मिनट बाद उसके पास एक कॉल आया जो उन्हीं पैसेंजर्स का था जिन्होंने राइड कैंसिल की थी। पुष्पेंद्र ने उनसे बात की तो फोन करने वाले आदमी ने उससे कहा की वो ऑफलाइन कैब बुक करना चाहते हैं। पुष्पेंद्र ने हामी भर दी और कार लेकर दिए गए एड्रेस पर पहुंच गया।

ADVERTISEMENT

गाड़ी को ले गए सुनसान रास्ते पर

जब पुष्पेंद्र दिए गये एड्रेस पर पहुंचा तो वहां तीन लोग उसका इंतज़ार कर रहे थे। तीनों कार में बैठे और ड्राइवर को कानपुर से मकसूदाबाद चलने को कहा। ड्राइवर ने गाड़ी स्टार्ट की और मंज़िल की ओर निकल पड़ा। अभी कुछ ही वक्त बीता था की पीछे बैठे एक पैसेंजर ने उसे शॉर्टकट बता कर एक सुनसान रास्ते पर गाड़ी मोड़ने को कहा। ड्राइवर ने भरोसा कर उसी रास्ते गाड़ी मोड़ ली। 

गला रेत कर दी हत्या

गाड़ी जब पनकी क्षेत्र के पास पहुंची तो तीनों पैसेंजर्स ने ड्राइवर को दबोच लिया। इसके बाद सबने मिलकर उसकी गला रेत कर हत्या कर दी और उसके शव को उसी सुनसान इलाके में फेंक दिया। इसके बाद वो गाड़ी लेकर वहां से फरार हो गए। कार में लगे खून को साफ करने के लिये आरोपियों ने उसे धोया भी और खुद पर आए खून के छींटे साफ करने के लिए नहाए भी। 

ADVERTISEMENT

2 आरोपी गिरफ्तार, एक अब भी फरार

अपराध करने के बाद आरोपियों को लगा की वो पकड़े नहीं जाएंगे, लेकिन कैब बुकिंग की डिटेल और कॉल डिटेल से कत्ल के तीन में से दो आरोपी पकड़े गए। पुलिस ने बताया की तीनों ने लूट के इरादे से इस वारदात को अंजाम दिया था। फिलहाल इस मामले में आरोपी निखिल, जिसकी उम्र 20 साल है और उसका एक साथी जो नाबालिग है, को गिरफ्तार कर लिया गया है। इनसे हत्या में इस्तेमाल हथियार और लूटी गई कार समेत पुलिस को गुमराह करने के लिये बनाई गई कार की एक फर्जी नंबर प्लेट बरामद कर ली गई है। पुलिस की शुरुआती तफ्तीश से पता लगा है कि ये पूरी घटना पैसों के लालच और जल्द अमीर बनने के इरादे से की गई थी।

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...