गोली मारकर की गई DSP की हत्या, सर्विस रिवॉल्वर भी लापता, कहीं हत्या की ये वजह तो नहीं

ADVERTISEMENT

डीएसपी की हत्या का खुलासा होने के बाद अब पंजाब पुलिस में हड़कंप मचा हुआ है
डीएसपी की हत्या का खुलासा होने के बाद अब पंजाब पुलिस में हड़कंप मचा हुआ है
social share
google news

Punjab Crime: साल 2024 के पहले दिन पंजाब से एक चौंकानें वाली खबर सामने आई। यहां जालंधर में नहर के पास संदिग्ध हालत में डीएसपी रैंक के एक पुलिस अफसर का शव मिलने के बाद सनसनी फैल गई। शव की पहचान पास में पड़े एक पर्स से मिले आईडी कार्ड से हुई। वो आईडी कार्ड डीएसपी दलबीर सिंह का था। पुलिस ने शव मिलने के बाद उसका पोस्टमॉर्टम करवाने के लिए उसे सिविल अस्पताल भेज दिया गया। लेकिन जब पोस्टमॉर्टम की रिपोर्ट सामने आई तो पुलिस महकमा बुरी तरह से चौंक गया। वजह थी कि पुलिसअफसर की हत्या की गई है और वो भी गोली मारकर। खुलासा हुआ है कि डीएसपी दलबीर सिंह की गोली मारकर हत्या की गई। और ये गोली उसे सिर पर मारी गई । क्योंकि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में उनके गर्दन में गोली धंसी हुई मिली। 

अर्जुन अवार्डी डीएसपी की हत्या से पंजाब पुलिस में हड़कंप

नहर किनारे मिला था शव

दलबीर सिंह की एक और पहचान है। वो अर्जुन अवार्ड जीतने वाले एक राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी भी रह चुके हैं। मौजूदा वक्त में दलबीर सिंह पीएपी में तैनात था लेकिन बस्ती बावा खेल नहर के पास सोमवार को दिन के वक़्त उनका शव संदिग्ध हालत में मिलने के बाद पूरे इलाके में हड़कंप मच गया। जैसे ही खुलासा हुआ है कि डीएसपी की गोली मारकर हत्या की गई है पुलिस महकमें में हड़कंप मच गया।

आई डी कार्ड से हुई पहचान

मौके पर पहुँची पुलिस ने फौरी तौर पर जो मौका-ए-वारदात का मुआयना किया उसमें उसे सिर्फ एक पर्स और पर्स में दलबीर सिंह का आईडी कार्ड ही मिला। फिलहाल तो पुलिस ने पर्स को फॉरेंसिक जांच केलिए भेज दिया है। बताया जा रहा है कि डीएसपी दलबीर सिंह देओल संगरूर के गांव लद्धा कोठी के रहने वाले थे और पीएसी ट्रेनिंग सेंटर में उनकी तैनाती थी। 

ADVERTISEMENT

इसी सड़क के किनारे मिली थी डीएसपी की लाश

शुरु में हादसे का अंदेशा हुआ

ज्वाइंट सीपी संदीप शर्मा के मुताबिक शुरुआती जांच के दौरान ये मामला एक एक्सीडेंट का मालूम पड़ रहा था। पुलिस का अंदाजा था कि डीएसपी दलबीर सिंह पैदल ही कहीं जा रहे थे तभी रास्ते में किसी वाहन ने उन्हें पीछे से टक्कर मारी और किसी पत्थर या भारी चीज से उनका सिर टकराया और सिर पर चोट लगने से मौके पर ही उनकी मौत हो गई। लेकिन पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट ने पुलिस के सारे अंदाजे पर पानी फेर दिया। क्योंकि उनकी हत्या गोली मारकरकी गई। और पुलिस के लिए चौंकाने वाली बात ये है कि डीएसपी का सर्विस रिवॉल्वर भी नदारद मिला। 

इसी आई कार्ड से पहचान हुई डीएसपी दलबीरसिंह की 

सीसीटीवी खंगालने में जुटी पुलिस

ऐसे में अंदाजा लगाया जा रहा है कि हत्या की वारदात के बाद डीएसपी को नहर किनारे छोड़कर कातिल वहां से फरार हो गए। लिहाजा पुलिस ने इलाके के तमाम सीसीटीवी भी खंगालने शुरू कर दिए हैं ताकि उनकी मौत से जुड़ा कोई सुराग हाथ लग सके और ये भी पता चल सके कि आखिर हत्या की वारदात किसने अंजाम दी। और सबसे बड़ा सवाल ये है कि हत्या करने वाले आखिर कौन लोग है? औरइससे भी बड़ी बात कि हत्या की वजह क्या हो सकती है?

ADVERTISEMENT

गांव में हुआ था झगड़ा

डीएसपी दलबीर सिंह का विवादों के साथ भी साबका रहा है। जालंधर के कपूरथला रोड पर गांव मंड के नजदीक बस्ती इब्राहिम खा में 16 दिसंबर को देर रात डीएसपी दलबीर सिंह का नाम गोलियां चलाने के मामले में भी सामने आया था और इस बात को लेकर जमकर विवाद भी हुआ। खुलासा ये हुआ है कि डीएसपी देओल कपूरथला रोड गांव मंड के पास बस्ती इब्राहिम खां के सरपंच भूपिंदर सिंह के पास भी गया था और वहीं गाड़ी खड़ी करने को लेकर गांव के कुछ नौजवानों के साथ लड़ाई भी हो गई थी। और इसी लड़ाई के दौरान उसने दो गोलियां चला दी थी। गनीमत ये रही कि वो गोलियां किसी को लगी नहीं लेकिन गांव वालों ने डीएसपी को जमकर धुन दिया था। मजे की बात ये है कि डीएसपी की पिटाई का वो वीडियो वायरल भी हो गया था। इसके बाद डीएसपी को हिरासत में भी ले लिया गया था लेकिन बाद में सुलह होने के बाद आपसी राजीनामा होने से डीएसपी को छोड़ दिया गया था। 

ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT