IPS अनिरुद्ध सिंह वाराणसी के स्कूल संचालक से घूस मांगने के आरोप में दोषी करार, क्या होगी गिरफ्तारी?

ADVERTISEMENT

social media
social media
social share
google news

संतोष शर्मा के साथ चिराग गोठी की रिपोर्ट

IPS Anirudh Singh: अनिरुद्ध सिंह वाराणसी के स्कूल संचालक से घूस मांगने के वायरल वीडियो मामले में दोषी करार दिए गए हैं। CP Varanasi ने जांच के बाद आईपीएस अनिरुद्ध सिंह को दोषी पाया है। इस मामले की जांच रिपोर्ट शासन को कार्रवाई के लिए भेजी दी गई है। जांच रिपोर्ट में दंड की सिफारिश की गई है। अनिरुद्ध सिंह जब वाराणसी में तैनात थे, तब रिश्वत मांगने का वीडियो वायरल हुआ था।

स्कूल संचालक से रिश्वत मांगने के मामले में तत्कालीन DGP D S Chouhan ने जांच के आदेश दिए थे। दरअसल, ढाई महीने के बाद वाराणसी पुलिस कमिश्नर ने जांच रिपोर्ट को मुख्यालय भेजा है। घूस मांगने का वीडियो बनने की जानकारी मिलते ही अनिरुद्ध सिंह ने स्थानीय थाने की GD में घटना का विवरण लिखकर बचने की कोशिश की थी। वायरल वीडियो को जांच के बाद सही पाया गया है।

ADVERTISEMENT

क्या था पूरा मामला?

IPS Anirudh Singh News : आईपीएस अनिरुद्ध सिंह (Anirudh Singh) इस वक्त सीबीसीआईडी में एडिशनल एसपी है। इससे पहले वो मेरठ में एसपी थे। उनकी आईपीएस पत्नी आरती सिंह कानपुर कमिश्नरेट में तैनात है।

ADVERTISEMENT

आईपीएस अनिरुद्ध सिंह का नाता विवादों से है। वो ट्रांसफर से पहले मेरठ (ग्रामीण) एसपी के पद पर तैनात थे। एक वीडियो वायरल होने के बाद 23 मार्च को तत्कालीन डीजीपी डीएस चौहान ने मामले में जांच के आदेश दिए थे। वहीं वाराणसी पुलिस कमिश्नर को जांच का जिम्मा सौंपा गया था।

ADVERTISEMENT

क्या है वीडियो में ?

वीडियो में अनिरुद्ध सिंह वीडियो कॉल के माध्यम से घूस मांगते हुए नजर आ रहे थे। वीडियो में स्कूल का ही कोई अधिकारी दूसरी तरफ से बात कर रहा था। इस वीडियो के सामने आने के बाद अनिरुद्ध सिंह ने कहा था कि ये वीडियो करीब डेढ़ साल पुराना है। उस वक्त अनिरुद्ध ASP चैतगंज (वाराणसी) थे। इसी दौरान सनबीम स्कूल के संचालक के खिलाफ रेप का एक मुकदमा दर्ज हुआ था। IPS अनिरुद्ध सिंह ने बताया था कि उन्हें इस मामले में क्लीन चिट मिल गई थी। प्रशासन ने इसके बाद उनकी पोस्टिंग ASP फतेहपुर और  फिर SP मेरठ ग्रामीण के पद की थी।

आईपीएस अधिकारी अनिरुद्ध सिंह 12 मार्च 2023 को स्कूल संचालक से 20 लाख रुपये मांगने का वीडियो वायरल हुआ था। आईपीएस सरेआम एक व्यापारी से पूछ रहे हैं 'आज कितना भेज रहे हैं? मिनिमम 20 भेजिए।' आरोप है कि आरोपी को बचाने के लिए रुपयों की मांग की गई थी। इसी साल 12 मार्च को जनपद मेरठ में एसपी ग्रामीण के पद पर नियुक्त आईपीएस अधिकारी श्री अनिरुद्ध सिंह का वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वह किसी व्यक्ति से वीडियो कॉल के माध्यम से वार्तालाप करते हुए दिखाई दे रहे थे। उक्त वीडियो के आधार पर अनिरुद्ध सिंह के ऊपर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए जा रहे थे। ये प्रकरण 02 वर्ष पुराना है, किन्तु प्रकरण की गम्भीरता के दृष्टिगत पुलिस मुख्यालय द्वारा कमिश्नर वाराणसी को जांच का जिम्मा सौंपा गया था।

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...