एक बॉयफ्रेंड-दो गर्लफ्रेंड, पुरानी गर्लफ्रेंड ने पकड़े पैर और बॉयफ्रेंड ने घोंट दिया नई गर्लफ्रेंड का गला, कार में कत्ल, फ्रेंडशिप, लव और मर्डर

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

न्यूज़ हाइलाइट्स

point

बी-फार्मा स्टूडेंट की हत्या की गुत्थी सुलझी

point

दोस्त ने मारकर जंगल में फेंकी लाश

point

कार में गर्लफ्रेंड के साथ मिलकर किया कत्ल

इंदौर से धर्मेन्द्र कुमार शर्मा की रिपोर्ट

Indore: इन्दौर के शिप्रा इलाके में 26 अप्रैल को एक लड़की की गुमशुदगी की शिकायत दर्ज की गई थी। पिता ने अपनी बेटी सय्यद सहरा के गायब होने की बात बताई थी। सैयद इंदौर के निजी कॉलेज में बी फार्मा फर्स्ट ईयर में पढ़ाई कर रही थी। पुलिस ने जब अपनी जांच शुरू की तो सहरा के दोस्तों से पूछताछ में पता चला कि सहारा बी फार्मा के ही एक और स्टूडेंट गौरव के साथ गाड़ी में जाती हुई देखी गई थी। इसके बाद पुलिस ने गौरव से भी पूछताछ की लेकिन पुलिस की सख्ती करने पर गौरव इंदौर छोड़कर फरार हो गया। 

दोस्ती, प्यार और मर्डर

सहरा की गुमशुदगी के दो महीने बाद पुलिस को मुखबिर से खबर मिली कि गौरव नासिक में एक अंग्रेजी नाम के ढाबे में वेटर का काम कर रहा है, जिसके बाद पुलिस ने गौरव को गिरफ्तार किया और उससे पूछताछ की तो उसने अपना अपराध कबूल कर लिया। पुलिस पूछताछ में गौरव ने बताया कि गौरव और सहरा एक ही कॉलेज में एक ही क्लास में पढ़ते थे और एक दूसरे को पसंद भी करते थे। लेकिन सहरा की अन्य लड़कों से बातचीत होती थी जो गौरव को पसंद नहीं था।

ADVERTISEMENT

बी-फार्मा स्टूडेंट की हत्या की गुत्थी सुलझी

गौरव सहरा के साथ रहते हुए स्निग्धा नाम की एक अन्य स्टूडेंट से भी रिलेशनशिप में था। सहरा के साथ लगातार हो रहे विवाद के बाद गौरव ने अपनी दोस्त स्निग्धा के साथ मिलकर उसे मारने की योजना बनाई। योजना के अनुसार गौरव सहारा को कार में लेकर घूमने निकला और सुनसान इलाके में चोराल के जंगलों ले जाकर अपने दोस्त स्निग्धा के साथ मिलकर सहरा की हत्या कर दी। गौरव ने निराकार सत्संग भवन हरसोला फाटक के पास कार में ही सहरा का गला घोंट दिया। कत्ल के दौरान गौरव की दूसरी गर्लफ्रेंड स्निग्धा ने सहरा के पैरों को जकड़ रखा था।

बॉयफ्रेंड और पुरानी दोस्त ने मारकर जंगल में फेंका

सहरा का गला दबाकर हत्या करने के बाद दोनों आरोपियों ने शव को झाड़ियों में फेंक दिया और वापस शहर में आकर रहने लगे। पुलिस ने आरोपी गौरव को पकड़ने के बाद मनोवैज्ञानिक तरीके से उससे पूछताछ की जिससे कि पूरे मामले का खुलासा हो गया। गिरफ्तारी के बाद पुलिस टीम दोनों आरोपियों को जंगल में मौका ए वारदात पर ले गई। ठीक उसी जगह जहां सहारा के शव को फेंका गया था। यहां पुलिस को हड्डियां, बाल, ब्रेसलेट व अन्य सबूत मिले हैं। पुलिस अफसरों का कहना है कि इन सबूतों की फॉरेंसिक जांच की जाएगी।

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...