अमेरिका में खालिस्तानियों की एक और चाल नाकाम, गुरुद्वारे में भारत के राजदूत के साथ धक्का मुक्की

ADVERTISEMENT

न्यू यॉर्क के लॉन्ग आइलैंड में मौजूद गुरुद्वारे में भारतीय राजदूत तरनजीत सिंह संधू को सम्मानित
न्यू यॉर्क के लॉन्ग आइलैंड में मौजूद गुरुद्वारे में भारतीय राजदूत तरनजीत सिंह संधू को सम्मानित
social share
google news

Heckle Indian Ambassador: मौका कोई भी हो, खालिस्तानी अपनी हरकतों से बाज नहीं आते, ये और बात है कि ज़्यादातर मौकों पर उन्हें मुंह की खानी पड़ती है। मगर फिर भी वो ऐसा कुछ कर ही देते हैं जिससे सुर्खियों में आने का उन्हें मौका मिल ही जाता है। 

भारतीय राजदूत से धक्का मुक्की

अमेरिका के न्यूयॉर्क में खालिस्तानी आतंकियों ने एक बार फिर भारतीय राजदूत तरनजीत सिंह संधू के साथ बदसलूकी करने की कोशिश की। गुरुपर्व पर गुरु की दी गई सीख के खिलाफ जाकर खालिस्तानी आतंकियों ने भारतीय राजदूत तरनजीत सिंह संधू के साथ धक्का मुक्की भी की, लेकिन जिस मकसद से ये सब किया वो फेल हो गया। 

गुरपतवंत सिंह पन्नू की चाल नाकाम

गुरपतवंत सिंह पन्नू के खालिस्तानी आतंकी संगठन सिख फॉर जस्टिस की गुरुपर्व के मौके पर चाल फेल हो गई। अमेरिका के न्यूयॉर्क में लॉन्ग आईलैंड के एक गुरुद्वारे में भारतीय राजदूत के साथ की गई बदतमीजी असल में खुद उन लोगों के मुंह पर तमाचा साबित हुई। क्योंकि गुरुपर्व पर गुरु के आगे मत्था टेकने आए सिखों ने ही उस काली करतूत का बेड़ागर्क कर दिया। इतना ही नहीं गुरुद्वारा के सिखों ने भारतीय राजदूत तरनजीत सिंह संधू को सम्मानित भी किया। 

ADVERTISEMENT

राजदूत पर बेबुनियाद आरोप

गुरुपर्व पर गुरुद्वारे में मौजूद खालिस्तानी समर्थकों ने राजदूत पर बेबुनियाद आरोप भी लगाए कि पन्नू की हत्या की साजिश में संधू का ही हाथ है। इसी दौरान सिख फॉर जस्टिस ने एक प्रोपगैंडा वीडियो भी जारी किया जिसमें यही दिखाया गया है कि अमेरिका में भारत के राजदूत के साथ धक्का मुक्की की जा रही है। इस वीडियो में ये नहीं दिखाया कि लॉन्ग आइसलैंड गुरुद्वारे में किस तरह से भारतीय राजदूत का सिख समुदाय ने जमकर स्वागत किया और उन्हें सम्मानित किया। 

पन्नू समर्थकों में बौखलाहट

इस बीच गुरुद्वारे में हुए एक समारोह के दौरान भारतीय राजदूत ने अफगानिस्तान से सुरक्षित तरीके से सिखों को बाहर निकालने का जिक्र किया। ये भी कहा कि सरकार हमेशा उनके साथ ही खड़ी रहती है। भारतीय राजदूत संधू ने कहा कि भारत का विदेशों में बसे भारतीयों और सिख समुदाय के साथ ये करीबी रिश्ता है जो अटूट है। भारतीय राजदूत ने ये भी कहा है कि गुरुनानक ने भी एकजुटता की शिक्षा दी है। इससे पहले एक रिपोर्ट में दावा किया गया था कि गुरपतवंत सिंह पन्नू को अमेरिका में मारने की साजिश रची जा रही थी और एफबीआई ने इसका खुलासा किया था। ये रिपोर्ट ये भी कहती है कि अमेरिका ने इस मुद्दे को भारत के साथ मिलकर उठाया और माना यही जा रहा है कि इसी बौखलाहट में पन्नू समर्थकों ने भारतीय राजदूत के साथ ये हरकत की। ऐसा अंदाजा है कि ऐसा करने के पीछे भी गुरपतवंत सिंह पन्नू का ही हाथ है। 

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...