Hardeep Singh Nijjar Murder: अब इस देश ने दिखाई कनाडा को आंख, खुलकर आया भारत के पाले में

ADVERTISEMENT

तल्ख होने लगे हैं भारत और कनाडा के रिश्ते
तल्ख होने लगे हैं भारत और कनाडा के रिश्ते
social share
google news

India Canada Relation: भारत और कनाडा के तीखे और तल्ख होते रिश्तों का असर अब दुनिया भर में दिखना शुरू हो गया है। और इस झंझट की वजह से धीरे धीरे दुनिया दो फाड़ होती नज़र आ रही है। एकतरफ वो देश हैं जो खुलकर भारत का समर्थन करने में नहीं हिचक रहे तो दूसरी तरफ ऐसे देश भी हैं जो अपने नफा नुकसान के हिसाब से बहुत संभल संभलकर कोई बात कहकर अपनी पाले बाजी का तय कर रहे हैं। वो ऐसे देश हैं जो कनाडा से भी रिश्ते खराब नहीं करना चाहते लेकिन भारत से भी किसी भी सूरत में वो रिश्ते खराब नहीं करने की हालत में हैं। ऐसे ही देशों में एक नाम है श्रीलंका। जिसने भारत और कनाडा के विवाद में कुछ इसी अंदाज में एंट्री ली है। 

श्रीलंका के निवर्तमान उच्चायुक्त मिलिंडा मोरागोडा ने भारत का समर्थन किया

श्रीलंका ने खुलकर किया समर्थन

भारत में श्रीलंका के निवर्तमान उच्चायुक्त मिलिंडा मोरागोडा ने बिना लाग लपेट के साफ साफ भारत का समर्थन किया है। उनका कहना है कि भारत के खिलाफ लगाए आरोपों की वजह से कनाडा अब घिरने लगा है। जबकि भारत इस मामले में पूरी तरह से भारत के साथ ही खड़ा है।  श्रीलंका के विदेश मंत्री अली साबरी ने कहा है कि कुछ आतंकवादियों को कनाडा में सुरक्षित पनाहगाह मिली है। लेकिन कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो बिना किसी सबूत के कुछ अपमानजनक आरोप लगा रहे हैं। 

ट्रूडो लगाता है अपमानजनक आरोप

Hardeep Singh Nijjar Murder: कुछ अरसा पहले जस्टिन ट्रूडो ने ही श्रीलंका के बारे में भी कुछ ऐसा ही अपमानजनक कहा था। ट्रूडो ने कहा था कि श्रीलंका में भयानक नरसंहार हुआ, जो कि सरासर झूठ ही था। असल में श्रीलंका में कोई नरसंहार हुआ ही नहीं। साबरी ने कहा कि ट्रूडो ने नाजियों से जुड़े कुछ लोगों का बेहतरीन तरीके से स्वागत किया था। साबरी का कहना है कि इस बात में अब ताज्जुब नहीं होता है कि ट्रूडो ऐसे अपमानजनक आरोप लगाते हैं। 

ADVERTISEMENT

हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के बाद कनाडा में बवाल मचा हुआ है

जीरो टॉलरेंस वाली नीति

मिलिंडा मोरागोडा का कहना है कि कनाडा के आरोपों पर भारत ने जो प्रतिक्रिया दी है वो बिना लागलपेट वाली सख्त और सीधी प्रतिक्रिया है। एक प्रेसकॉन्फ्रेंस में मोरागोडा ने कहा है कि श्रीलंका के लोगों को आतंकवाद के कारण काफी नुकसान हुआ है। इसलिए श्रीलंका आतंकवाद को लेकर जीरो टॉलरेंस वाली नीति पर काम करता है। 

कनाडा की जांच आगे बढ़नी चाहिए 

उधर अमेरिका के रुख को लेकर हर तरफ दुविधा जैसी हालत है। अमेरिका ने कहा है कि सिख अलगाववादी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के सिलसिले में कनाडा की जांच आगे बढ़नी चाहिए और अपराधियों को इंसाफ के कठघरे में लाकर खड़ा किया जाना चाहिए। ये बात नहीं भूलनी चाहिए कि भारत के खिलाफ कनाडा ने आरोप लगाया था कि इस हत्या के पीछे भारतीय एजेंसियों का हाथ है। अमेरिका के विदेश विभाग के प्रवक्ता मैथ्यू मिलर का कहना है कि हम कनाडा के आरोपों के बाद बेहद चिंतित हैं और कनाडा के सहोगियों के साथ लगातार संपर्क में भी हैं। मिलर ने कहा है कि ये एक महत्वपूर्ण घटना है, ऐसे में कनाडा की जांच आगे बढ़े और अपराधियों पर नकेल कसी जाए। हमने खुलकर इस बात का समर्थन किया है कि भारत सरकार कनाडा की जांच में सहयोग भी करे। 

ADVERTISEMENT

 निज्जर की हत्या गोली मारकर

18 जून को कनाडा के सरे में एक गुरुद्वारे के बाहर कनाडा में खालिस्तान टाइगर फोर्स के प्रमुख हरदीप सिंह निज्जर की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। और कनाडा के प्रधानमंत्री ने पार्लियामेंट में इस हत्या के लिए भारतीय एजेंसियों को कसूरवार ठहराया था। इसके बाद से ही दोनों देशों के बीच संबंध तनावपूर्ण हो गए थे। 

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...