हेमंत सोरेन ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर अपनी गिरफ्तारी को अवैध बताया

ADVERTISEMENT

Jharkhand Former CM Hemant Soren
Jharkhand Former CM Hemant Soren
social share
google news

संजय शर्मा के साथ चिराग गोठी की रिपोर्ट

Jharkhand Former CM Hemant Soren: झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने सुप्रीम कोर्ट मे दाखिल याचिका में अपनी गिरफ्तारी को अवैध बताया है। याचिका मे सोरेन ने कहा है कि उन्हें राज्यपाल के घर यानी राजभवन से ईडी ने अवैध रूप से हिरासत में लिया था। याचिका में हेमंत सोरेन का कहना है कि झारखंड में सरकार गिराने के लिए ईडी की कार्रवाई केंद्र के इशारे पर हो रही है। 

सोरेन ने आरोप लगाया है कि केंद्र सरकार के इशारे पर की जा रही ईडी की विवादास्पद कार्रवाई झारखंड में लोकतांत्रिक रूप से चुनी हुई सरकार को गिराने के लिए है। याचिका में सोरेन की गिरफ्तारी को आधारहीन, अनुचित और गैर कानूनी कहा गया है। याचिका के मुताबिक, गिरफ्तारी के आधार का अध्ययन करने से पता चलता है कि याचिकाकर्ता की गिरफ्तारी कतई उचित नहीं ठहराई जा सकती है। हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी के खिलाफ दाखिल याचिका पर सुप्रीम कोर्ट कल शुक्रवार को सुनवाई करेगा। कपिल सिब्बल ने कोर्ट को बताया कि हमने रांची हाईकोर्ट से याचिका वापस ले ली है। 

यह भी पढ़ें...

ADVERTISEMENT


याचिका मे आरोप लगाया गया है कि ईडी ने अपने अधिकारों का दुरुपयोग करते हुए दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से कार्रवाई की है। ईडी को ईमेल के जरिए ये जानकारी दी गई थी कि 31 जनवरी रात 9 बजे सुप्रीम कोर्ट जल्द सुनवाई की मांग पर विचार करेगा। 

ये बात हेमंत सोरेन ने पूछताछ कर रहे ईडी के अधिकारियों को भी बताई थी। सोरेन ने ईडी अधिकारियों से कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले तक आपको इंतजार करना चाहिए। इसके बावजूद गिरफ्तार कर लिया गया। ईडी के असिस्टेंट डायरेक्टर देवब्रत झा ने इस सूचना के बावजूद गैरकानूनी तरीके से राजभवन से गिरफ्तार कर लिया, जहां सोरेन राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंपने गए थे।

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT