काले शीशे वाले ऑफिस में बुला प्रिंसिपल हम छात्राओं के बदन को छूते हैं, लड़कियों ने PM को लेटर भेज मांगी मदद

ADVERTISEMENT

jind crime news
jind crime news
social share
google news

जींद से परमजीत पंवार की रिपोर्ट

Haryana News : हरियाणा में जींद के एक सरकारी स्कूल का प्रिंसिपल गजब का रसिया निकला. वो अपने प्रिंसिपल ऑफिस में काले शीशे लगाकर लड़कियों से छेड़छाड़ करता था. इस बारे में स्कूल की छात्राओं ने जिला प्रशासन, प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के नाम 5 पन्ने का शिकायती लेटर लिखा था. जिसके बाद पूरा जींद प्रशासन ही हिल गया. आनन फानन में तुरंत जांच कमेटी बनाई गई. अब उस कमेटी की रिपोर्ट पर उस स्कूल के प्रिंसिपल को सस्पेंड भी कर दिया गया है.  

जो लड़की पसंद आती उसे ही करता था टारगेट  

Jind School Principal Suspend : छात्राओं का आरोप है कि प्रिंसिपल को जो भी छात्रा पसंद आ जाती थी उसे ही बहाने से काले दरवाजे वाले ऑफिस में बुलाता था. इसके बाद उन्हें अच्छे अंकों से पास कराने का लालच देता था. अब काले शीशे होने की वजह से ऑफिस के अंदर क्या हो रहा है. ये बाहर से दिखता नहीं था. इसी का फायदा उठाकर आरोपी प्रिंसिपल लड़कियों को बहाने बनाकर उनके बदन को गलत तरीके से टच करता था.  जींद जिले के उचाना के राजकीय स्कूल की छात्राओं ने महिला आयोग दिल्ली, राष्ट्रपति और राज्यपाल के नाम 5 पेज का पत्र लिखा था. इसमें छात्राओं ने खुलासा किया था कि उनके स्कूल का प्रिंसिपल करतार सिंह उन्हें प्रिंसिपल रूम में बुलाकर उनके साथ गंदी हरकतें करता है. उनके साथ छेड़छाड़ करता है.  

ADVERTISEMENT

Jind School Girl Molested : सांकेतिक फोटो

क्या आरोप लगाया लड़कियों ने अपने प्रिंसिपल पर

jind School Girl Molested : स्कूल की छात्राओं ने आरोप लगाया था कि प्रिंसिपल अपने कार्यालय में काले शीशे का दरवाजा लगाया हुआ है. इसमें अंदर से बाहर की तरफ सब दिखता है लेकिन बाहर से अंदर कुछ नहीं दिखता. यहां छात्राओं को बुलाकर अश्लील बात करता था. यदि कोई आता दिख जाए तो बात को घुमा देता था. छात्राओं का आरोप है कि प्राचार्य को जो छात्रा पसंद आ जाती है वह किसी न किसी बहाने उसे अपने कार्यालय में बुला लेता है और अपनी कुर्सी के पास खड़ा रखता. उनसे गंदी बात करता है. गलत नीयत से स्पर्श करता है और पास करने का लालच देता है.  

आंसू नहीं रोक पाई थी छात्राएं आपबीती सुनाते हुए  

इस शिकायत के बाद प्रशासन हरकत में आया. प्रशासन ने जिला शिक्षा अधिकारी की अध्यक्षता में जांच कमेटी का गठन किया. DEO ने जब छात्राओं से बात की तो वे प्रिंसिपल की हरकतें बताते हुए अपने आंसू भी नहीं रोक पाई. जिला स्तरीय जांच कमेटी की रिपोर्ट के बाद स्कूल के प्रिंसिपल को सस्पेंड कर दिया गया. शिक्षा अधिकारी अब मामले की उच्च स्तरीय जांच के पक्ष में हैं. इस बारे में जीन्द के डीसी का कहना है कि चिट्ठी मिलने के बाद मामले की गंभीरता को देखते हुए आरोपी प्रिंसिपल को सस्पेंड कर दिया गया है. मामले की जांच जारी है.

ADVERTISEMENT

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...