IDF का सनसनीखेज दावा, अल जजीरा के पत्रकार के लेपटॉप से खुला ये राज, मचा हड़कंप

ADVERTISEMENT

अल जजीरा के पत्रकार को हमास का कमांडर बताया इजरायल ने
अल जजीरा के पत्रकार को हमास का कमांडर बताया इजरायल ने
social share
google news

Israel Hamas War: गाजा पट्टी पर बम धमाकों का सिलसिला जारी है। इजरायल और हमास के बीच जंग अभी चल रही है। जमीन के इस टुकड़े पर बारूदी गुबार लगातार उठता दिखाई पड़ रहा है। लेकिन इसी बीच इजरायल ने एक धमाके दार खुलासा किया जिसे सुनकर पूरी दुनिया हैरत में पड़ गई। खुलासा है कि इस जंग को अपने कैमरो और कलम में कैद करने वाले पत्रकारों की उस टोली में एक ऐसा पत्रकार भी था जो असल में हमास का एक कमाडंर निकला। इजरायल की तरफ से दावा किया गया है कि अल जजीरा का एक पत्रकार असल में हमास का एक सीनियर कमांडर है। इजरायली सेना ने उस पत्रकार का बाकायदा एक फोटो भी सोशल मीडिया पर जारी करके दुनिया से उसे रू ब रू करवाया है। 

इजरायली डिफेंस फोर्स का सनसनीखेज दावा

इजरायली डिफेंस फोर्स यानी IDF की तरफ से दावा किया गया है कि कुछ हफ्तों पहले ही मध्य गाजा में एक ऑपरेशन के दौरान उस पत्रकार के हमास से जुड़े होने का सबूत हाथ लगा। उस पत्रकार का नाम मोहम्मद वाशाह बताया जा रहा है। IDF का दावा है कि एक ऑपरेशन में एक पत्रकार का लेपटॉप इजरायली सेना को एक लेपटॉप मिला। उसी लेपटॉप की जब छानबीन की गई तो उसमें कुछ तस्वीरें मिली जिससे ये पता चलता है कि असल में वाशाह हमास की आर्मी विंग में एक सीनियर कमांडर है और कई जंग में हिस्सा भी ले चुका है। 

पत्रकार के लेपटॉप से खुला राज

IDF के एक प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल अविचाई अद्रे के मुताबिक वाशाह के खिलाफ सबूत खुद उसके ही लेपटॉप ने उगल दिए। यही खुलासा है कि वाशाह कुछ अरसा पहले ही अल जजीरा के एक प्रसारण में नज़र आ चुका है। इजरायली सेना के प्रवक्ता के मुताबिक कुछ हफ्ते पहले उत्तरी गाजा में हमास के एक कैंप के भीतर IDF ने ऑपरेशन किया था वहां से वाशाह का लेपटॉप सेना को मिला। लेपटॉप में मिले सबूतों से पता चला है कि वाशाह हमास की टैंक रोधी मिसाइल यूनिट का प्रमुख कमांडर था। इजरायली सेना के सूत्रों से पता चला है कि साल 2022 के आखिर में उसने आतंकवादी संगठन की एयर यूनिट के लिए रिसर्च और डेवलपमेंट का काम करना शुरू किया था। 

ADVERTISEMENT

इजरायल ने साधा अल जजीरा पर निशाना

दावा किया जा रहा है कि वाशाह के कंप्यूटर पर की गई खुफिया जांच से हमास के साथ रिश्ते का खुलासा हुआ। अल जजीरा पर निशाना साधते हुए इजरायल का कहना है कि किसे पता है कि पत्रकारिता की आड़ में आतंकी गतिविधियों की और घटनाएँ सामने आ सकती हैं। 

अल जजीरा पर कटाक्ष

IDF ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर कतर के सरकारी स्वामित्व वाले टेलीविजन समाचार नेटवर्क अल जजीरा पर कटाक्ष भी किया। IDF की तरफ से कहा गया है कि हे अल जजीरा हम यही मान रहे थे कि आपके पत्रकार हालातों पर रिपोर्टिंग कर रहे हैं जबकि ये सच अब खुल गया है कि वो तो इस जंग में इजरायली सेना के खिलाफ हमास की तरफ से मोर्चा संभाल रहे हैं। 

ADVERTISEMENT

ऑपरेशन में मिले थे कुछ सुराग

ये बात भी गौर तलब है कि पिछले महीने ही गाजा के राफा इलाक मं इजरायली हवाई हमले में मारे गए अल जजीरा के दो पत्रकारों पर आईडीएफ ने हमास और फिलिस्तीनी इस्लामिक जिहाद जैसे आतंकी संगठनों के सदस्य होने का आरोप लगाया था। और वाशाह के इस सच के खुलासे ने एक तरह से इजरायली सेना के दावे पर मुहर लगा दी है। 

ADVERTISEMENT

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT