बेटे के मर्डर पर चुप रह गई, आखिर में लिव-इन पार्टनर ने उसे ये सजा दी..

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

Rajasthan News Updates: राजस्थान के उदयपुर में रिश्तों की अजीबोगरीब घटना सामने आई। यहां एक दंपती ने एक महिला का मर्डर कर दिया। इससे पहले उसके बच्चे का भी मर्डर कर दिया गया था, लेकिन एक वक्त तक महिला आरोपी को बचाती रही, अब उसी महिला की भी हत्या कर दी गई। पुलिस ने आरोपियों को अरेस्ट कर लिया है। ये वाकया जिले की फलासिया थाना क्षेत्र में घटित हुआ। यहां उमरिया के जंगल में एक महिला का शव मिला। पुलिस ने तफ्तीश शुरू की। महिला की पहचान सीता के रूप में हुई। पुलिस ने जांच शुरू की तो जांच अहमदाबाद तक पहुंच गई। सीता अहमदाबाद में रहती थीं। सीता की एक 9 साल की बेटी थी और 4 साल का बेटा था। सीता के पति का नाम इंद्रभान था। वो अहमदाबाद में मजदूरी करता था। करीब दो साल पहले सीता के पति इंद्रभान ने उसे छोड़ दिया था। वो अपनी बेटी को लेकर किसी महिला के साथ चला गया था। इस दौरान सीता की मुलाकात देवीलाल से हुई।

दोनों की मुलाकात अहमदाबाद में हुई

आरोपी देवीलाल अहमदाबाद की ऑयल कंपनी में काम करता था। दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ी और दोनों कुछ वक्त तक साथ भी रहे। सीता का बेटा भी उनके साथ रहता था पर देवीलाल को वो पंसद नहीं था। एक दिन गुस्से में आए देवीलाल ने सीता के बेटे को फर्श पर पटक दिया। बच्चे के सिर पर गंभीर चोट आई, जिससे उसकी मौत हो गई। पर चूंकि सीता के पास देवीलाल के अलावा और कोई सहारा नहीं था उसने बेटे की मौत को हादसा बताते हुए देवीलाल को पुलिस से बचा लिया। फिर वह आरोपी के गांव धनकावाड़ा रहने लगी। काफी समय तक दोनों साथ रहे। ये बात देवीलाल की पत्नी भावना को पता चल गई। भावना गुस्से से लाल हो गई। जाहिर है उसे देवीलाल और सीता का रिश्ता मंजूर नहीं था।

..जब पत्नी के साथ मिल गया आरोपी

अपनी पहली पत्नी के डर से देवीलाल ने सीता से दूरी बना ली। ये बात सीता को नागवार गुजरी। उसने अपने बच्चे की हत्या के आरोप में देवीलाल को फंसाने की धमकी दे दी। अब देवीलाल दोनों तरफ से फंस गया। एक ओर उसकी बीवी उसे परेशान कर रही थी, दूसरी तरफ सीता उसे धमका रही थी। देवीलाल ने अपनी बीवी का साथ देने का फैसला किया और दोनों ने सीता के मर्डर का प्लान बना लिया। प्लान के मुताबिक, देवीलाल ने सीता को अपने ससुराल मादला ले जाकर मारने की योजना बनाई। आरोपी ने मादला के जंगलों में सीता को चाकू मार कर हत्या कर दी। पुलिस को उसका शव मिला और आखिरकार ये मामला सुलझ गया। थानाधिकारी सीताराम ने बताया कि 39 दिन पहले सीता की हत्या कर दी गई थी।  3 बच्चों का पिता देवीलाल और 2 बच्चों की मां सीता का प्रेम प्रसंग था। आरोपी और उसकी पत्नी को अरेस्ट कर लिया गया है। 

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT