पीलीभीत में बाघ के हमले में किसान की मौत, आक्रोशित ग्रामीणों ने शव सड़क पर रखकर जाम लगाया

ADVERTISEMENT

जांच जारी
जांच जारी
social share
google news

UP Pilibhit News: पीलीभीत जिले के माधोटांडा थाना इलाके में शनिवार को पीलीभीत बाघ अभयारण्य के महोफ जंगल से सटे इलाके में जानवर चराने गये एक किसान की बाघ के हमले में मौत हो गयी। पुलिस ने शनिवार देर शाम यह जानकारी दी। घटना से गुस्साए स्थानीय लोगों ने शव को माधोटांडा-पीलीभीत राजमार्ग पर रखकर जाम लगा दिया और प्रदर्शन करते हुए आरोप लगाया कि वन विभाग की लापरवाही के कारण लोगों की जान जा रही है।

एक किसान की बाघ के हमले में मौत

माधोटांडा थाने के प्रभारी निरीक्षक (एसएचओ) अचल कुमार ने बताया कि जमुनिया गांव के ओमप्रकाश पासवान (60) अपने पालतू जानवरों को वन क्षेत्र के पास चराने गए थे, तभी शाम करीब चार बजे एक बाघ ने उन पर हमला कर दिया जिससे मौके पर ही उनकी मौत हो गयी। उन्होंने बताया कि बाघ किसान के शव को मुंह में दबाकर जंगल की ओर ले जा रहा था, तभी आसपास के खेतों में काम कर रहे किसानों की नजर उस पर पड़ गई।

शव को माधोटांडा-पीलीभीत हाईवे पर रखकर जाम लगाया

कुमार ने बताया कि ग्रामीणों की भीड़ देख बाघ शव छोड़कर भाग गया। गुस्साए ग्रामीणों ने शव को माधोटांडा-पीलीभीत हाईवे पर रखकर जाम लगा दिया। उन्होंने मार्ग से गुजरने वाले कुछ वाहनों में तोड़फोड़ भी की। ग्रामीणों का आरोप है कि देर शाम तक वन विभाग की टीम मौके पर नहीं पहुंची। घटना की सूचना मिलने पर पीलीभीत के पुलिस अधीक्षक और उपनिदेशक, पीलीभीत बाघ अभयारण्य मौके पर पहुंचे और प्रदर्शनकारियों को समझा बुझाकर शांत किया। अधिकारियों ने उन्हें मृतक के परिजनों को मुआवजा दिलाने और जंगल के बाहर घूम रहे बाघों को पकड़ने का आश्वासन दिया।

ADVERTISEMENT

(PTI)

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT