Donald Trump 34 मामलों में दोषी करार, बात गुप्त रखने के लिए Porn Star को दिया था 'गुप्त दान'

ADVERTISEMENT

CrimeTak
social share
google news

International Court Case: अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प अमेरिका के इतिहास के ऐसे पहले राष्ट्रपति बन गए हैं जिन्हें अमेरिका की फेडरल कोर्ट ने एक दो नहीं बल्कि पूरे 34 मामलों में दोषी करार दिया है। सबसे बड़ा झटका लगा है 77 साल के ट्रंप को जब अदालत ने उन्हें पोर्न स्टार स्टॉर्मी डेनियल्स का मुंह बंद कराने के लिए 'गुप्त दान' दिया। इसके अलावा इस लेन-देन को छुपाने की गरज से ट्रंप के इशारे पर कारोबारी रिकॉर्ड में भी हेराफेरी की बात साफ हो गई जिसमें अदालत ने उन्हें दोषी मान लिया है। 

Donald Trump Convicted in 34 Case Hush Money
डॉनल्ड ट्रम्प का जब फैसला सुनाया जा रहा था अमेरिका में उनके खिलाफ प्रदर्शन हो रहे थे

Trump ने मुकदमें के फैसले को धांधली बताया

पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को हश मनी (Hush Money) मामले में दोषी करार दिया गया है. इस मामले पर दो दिनों तक चली सुनवाई के बाद 12 सदस्यीय ज्यूरी ने उन्हें सभी 34 आरोपों में दोषी ठहराया है। ज्यूरी का फैसला आने के बाद पूर्व राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने मुकदमे और कोर्ट के फैसले की कड़ी निंदा की। ट्रम्प ने इसे अपमानजनक और शर्मनाक करार दिया। लेकिन ट्रंप यहां भी नहीं चूके और अदालत के फैसले को "धांधली" करार देकर एक नया बखेड़ा खड़ा कर दिया। ट्रंप ने कोर्ट से बाहर निकलते वक्त निराशा जाहिर की और कहा, "हमने कोई गलत काम नहीं किया. मैं निर्दोष हूं" दोषी  करार दिये जाने के फैसले के बावजूद ट्रंप ने बेगुनाही का दावा किया और आगामी आम चुनाव में इस मामले पर जनता की राय को सही पैमाना बताया।

11 जुलाई को सुनाई जाएगी सजा

उन्होंने कहा कि असली फैसला जनता 5 नवंबर को कर देगी। ट्रंप ने मामले पर अपने प्रभाव का निराधार दावा करते हुए मैनहैटन जिला अटॉर्नी और बाइडेन प्रशासन की भी आलोचना की। एक अलग बयान में ट्रंप की कानूनी टीम ने फैसले को चुनौती देने की बात कही है। लेकिन न्यायाधीश जुआन मर्चन ने ट्रंप को बरी करने के प्रस्ताव को खारिज कर दिया और 11 जुलाई को सजा की सुनवाई निर्धारित की।

ADVERTISEMENT

Book and Record में हेराफेरी का दोषी पाया

यह मुकदमा पोर्न फिल्म अभिनेत्री स्टॉर्मी डेनियल्स से जुड़ी छुपी रकम के आरोपों पर केंद्रित था। ज्यूरी ने ट्रंप को इस योजना के संबंध में कारोबारी रिकॉर्ड में हेराफेरी का दोषी भी पाया गया जिसमें गुंडागर्दी समेत कुल 34 मामले शामिल थे।

    यह भी पढ़ें...

    follow on google news
    follow on whatsapp

    ADVERTISEMENT